चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

चोद साले फाड़ दे मेरी फुद्दी, चोद आज तेरी बहन

indiansexkahani.com हेल्लो दोस्तों में जम्मू से हु और मेरा नाम मनु हे. मेरी उमर २८ साल हे. औरे में रोज सेक्सी कहानी पढता हु. आज में आपके साथ अपना रियल सेक्स अनुभव शेयर करने जा रहा हु.

ये मेरा और मेरी मौसी की बेटी अनु की चुदाई का अनुभव हे. जो की मेरी पहली चुदाई थी. अगर कोई गलती मुझसे हो जाये तो मुझे प्लीज़ माफ़ कर देना. अनु की उमर उस वक्त १९ साल थी और मेरी उमर १८ साल थी. वह एक साल मुझसे बड़ी हे और उसकी जवानी देख के मेरा लंड उसे चोदने के लिए तडपता था, जब भी वह जाडू लगाती तो उसके बूब्स सेख के मेरा लंड खड़ा हो जाता था, यह बात तब की हे जब अनु दी अपने बड़े भाई की शोपिंग करने के किये जम्मू आये थे.

दीदी मौसी और पंकू  भाई तीनो आये थे, डेली रूटीन में में कोलेज गया हुआ था सब घर पर पहुंचे और फिर मेरी माँ, मोसी और पंकू शोपिंग करने के लिए निकल गए अनु घर पर ही रुकी थी.

में दोपहर एक बजे घर पर पंहुचा गेट खुला था तो में अंदर चला गया और मेने माको आवाज लगाईं लेकिन अनु सामने से आई और बोली के आपकी मम्मी और बाकि सब शोपिंग करने गये हे और शाम को देर से आएंगे, मेरे मन में यह सुन कर लड्डू फूटने लगे.

और फिर मेने खाना खाया और अपने कंप्यूटर पर बैठ गया उस टाइम याहू मेसेंजर था, में एक लड़की से चेट कर रहा वीडियो के साथ और उसने सिर्फ ब्रा पहनी हुई थी. वह फिलिपीन से थी. मुझे कुछ पता नहीं था की अनु कब से मेरे पीछे आकर के मुझे देख रही थी, जेसे ही उस लडकी ने ब्रा ओपन की अनु के मुह से अहह्ह्ह ये क्या कर रहा हे तू? निकल गया

में तो एकदम डर गया था और मेरा लंड एकदम कडक था, मेने पटक से कंप्यूटर को बंद किया और दीदी को कहा की प्लीज़ किसी को नहीं बताना, नहीं तो मुझे बहोत मार पड़ेगी, और दी ने मेरे लंड की तरफ देख कर कहा.

अनु : बड़ी आग लगी हे तुजे जवान हो गया हे तू.

में : सोरी प्लीज़ किसी को मत बताना.

वह : तेरी कोई गर्ल फ्रेंड हे क्या?

में : नहीं हे.

वह : फिर तो तेरा चेट करना जायज हे,पर इसमें क्या मजा आता हे, तूने असली में देखा हे किसी को कभी?

में : पूरा तो नहीं सिर्फ बूब्स तक.

वह : देखना चाहेगा?

में : किस को और केसे?

वह : में हु ना. पर यह बात तेरे और मेरे बिच रहनी चाहिए.

मेने ओके कह दिया और सर हिलाया. दी ने सर हिलाके कहा की जा और सब दरवाजे और खिड़की अच्छे से बंद कर दे, में सब बंद कर के आया तो दी मेरे बेड पर बैठी थी उसने मुझे कहा जो में कहूँगी वह करेगा तो में सब दिखाउंगी.

मेने कहा ठीक हे दीदी.

वह बेड पर बैठी थी उसने मुझे शर्ट निकालने के लिए कहा मेने जैसे ही निकला वह बोली वाव तेरी चेस्ट पर तो मस्त बाल हे, उसने कहा की जिस की चेस्ट पर अच्छे बाल होते हे वह सेक्स अच्छा करता हे. मेने कहा की मुझे यह मालून नहीं हे. उसने मेरा लंड पजामे के ऊपर से सहलाया और कहा दिखा मुझे अपना.

मेने अपना लंड बहार निकला और वह थोडा टाईट था. वह बोली की कितना बड़ा हे वाह, अनु ने मेरा लंड अपने मुह में लिया और चुसना चालू कर दिया, मुझे बड़ा मजा आ रहा था. उसने ५ मिनिट चूसने के बाद में उनके मुह में जद गया. अनु अब तक गर्म हो चुकी थी और बोली तू बेड पर बैठ जा, और फिर अनु ने अपनी सलवार खोली और मेरा हाथ पकड़ कर चूत पर रखा और उसकी पेंटी गीली थी.

अजीब सा अहसास हो रहा था, फिर अनु ने अपनी शर्ट और ब्रा खोल दी और उनंके ३४ के बोबे निकल गए और में उस पर टूट पड़ा और उसे चूसने लगा. अनु आह अहह आह आराम से कर कह रही थी में कही नहीं जा रही. मुझे कुछ सुनाई नहीं दिया और में चुसता रहा. अनु ने मुझे रोका और कहा अब तू मेरी फुद्दी को चाटेगा ना, मेने कहा सब करूँगा.

अनु ने अपनी पेंटी खोली और अपने पैर फेला दिए और उसके बालो के बीचे में पिंक चूत थी. मेने अपनी जीभ उनकी चूत पर टच की और वह उछल पड़ी अहह ओह्ह हहह चाट चाट कर खा जा अहः फह मेने चाटना शुरू किया और वह मस्त हो गयी थी.

तो मेने धीरे से एक उंगली चूत में डाली और वह चिल्ला उठी अहह पोह्ह अह्ह्ह होह हां में फिंगर अंदर बहार करने लगा था तो वह बोली यह मत डाल अभी चाट बाद में डालना, फिर १० मिनीट के बाद वह जड़ गयी और में उसका सारा पानी पि गया.

वह अपने पैर खोल कर लेटी थी, में उसके पास गया और बूब्स चूसने लगा वह मस्त हो रही थी और फिर हम ने लिप लोक किया, मेने फिर से अनु की फुद्दी पर किस किया और चाटने लगा और वह बोली की अब मत चाट अब अपना लंड इस में डाल दे.

मेरी साडी फ्रेंड्स की फुद्दी फट गई हे और अब मेरी भी फाड़ दे.

मेने लंड को सेट किया तो बोली जल्दी कर चोद मुझे अब, मेने बड़े आराम से उसकी छुय पर थूक लगाया और अपने लंड पर भी लगाया, टोपा फुद्दी के मुह पर रखा और आराम से धक्का मारा लंड फिसल गया और अनु में मेरा लंड पकड कर सेट किया और बोली की अब जोर से धक्का मार. .आप ये चुदाई स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है.

मेने वैसा ही किया टोपा अन्दर घुसा और वह चिल्ला उठी आह्ह फ हहह होह मम्मी मर गैईई और वह रोने लगी पर बोली की अब बहार मत निकाल आराम से धक्का दे और पूरा अंदर डाल कर रुक जाना. मेने उसकी बात मानी और लंड पूरा अंदर चला गया और थोडा खून निकल आया.

४-५ मिनिट बाद वह चुप हो गयी और बोली मनु अब चोद, मेने लंड अंदर बहार करना चालू किया और अनु को मजा आने लगा अनु अहह ओह्ह अह्हो हह्ह्ह चोद साले फाड़ दे मेरी फुद्दी कह रही थी, चोद आज तेरी बहन  को. मेने अपनी स्पीड बढ़ा दी, और उसी समय वह जड़ गयी. उसने मुझे कहा की अब जोर से चोद तेरा काम होगा.

मेने उसे डॉगी पोजीशन में किया और मेने पीछे से लंड डाला और वह चीलाई और में धक्के मारने लगा तो अहः ओह अह्ह्ह आम्म एस करने लगी.

फिर मेने अपना माल उसकी चूत में ही छोड़ दिया और हम नंगे ही लेट गये, फिर हमने किस की साथ नहाये और नहाते समय अनु ने मेरा लंड फिर से चूसा, उसके बाद हम नार्मल हो कर टीवी देखने लगे. .आप ये चुदाई स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है.

अब जब भी वह पास से निकलती तो मेरे लंड पर हाथ लगाती और में उसकी चूत पर लगा देता.

उसके बाद मेने अनु को कई बार चोदा और उसे बहोत मजे दिए.

कहानी शेयर करें :