चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

बस में पटाया घर में दौड़ा दौड़ा कर चोदा

loading...

Hindi sex हेलो दोस्तों, मेरा नाम अवि(नाम चेंज) हे. और में सूरत (गुजरात) का रहेने वाला हू. Stories  मेरे लंड का साइज़ ८ इंच का हे. और इतना बड़ा लंड किसी भी ओरत और लड़की को अच्छे से खुश कर सकता हे. में अभी मास्टर्स कर रहा हु. और में मास्टर्स की एग्जाम देने के लिए अहमदाबाद गया था. सो स्टोरी स्टार्ट…

में सुबह ५ बजे अहमदाबाद पहोचा. वहा पर मेरे एक फ्रेंड के साथ और उसके रिश्तेदार के घर चले गये. और में वही पर सो गया. हमारा एग्जाम ३ बजे था. सो हम १२:३० बजे घर से निकले. और एग्जाम ४:३० को ख़तम हो गया. हालाकी मेरा फ्रेंड वही पर रुकने वाला था. और में उसी दिन  सूरत वापस लोटने वाला था. तो मेने तय किया की में बस में रेलवे स्टेशन पर पहोचता हु. तो फिर में नजदीक के बस स्टैंड पर पहोचा तो देखा की वहा तो बहोत ही ट्राफिक थी. वहा पर मेने एक बड़ी लड़की को देखा. वो एज में मुझसे थोड़ी बड़ी थी. और में उसी बड़ी लड़की के पीछे खड़ा रह गया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम वो दिखने मे थोड़ी सावली थी. पर उसका फिगर बहोत ही बेहतरीन था. जैसे कोई न्यूली मेरीड भाभी की तरह. लिप्स मीडियम साइज़ के और रसीले. उसने लिपस्टिक बहोत अच्छी की थी खुशबूदार. बड़े बूब्स और पीछे निकली हुई बड़ी सी बेहतरीन गांड. ऐसे फिगर की लडकिया कम ही दिखने को मिलती हे. उसने मुलायम शर्ट और  जीन्स पहनी हुई थी. शर्ट में से उसके बूब्स को में साफ साफ देख सकता था.

फिर बस आई. बहोत भीड़ होने के कारन हम उस बस में नही चढ़ पाए. हम को दूसरी बस का वेट करना था. क्योकि वहा पर भीड़ बहोत ज्यादा थी. तो मेरा हाथ उसके कंधे पर था. और मुझे मजा भी आ रहा था. शायद वो भी मजा ले रही थी. और मेने फोग का डीओ लगाया था. तो सायद वो भीड़ में मेरे डियो की खुश्बू ले रही थी. और मेरी और देखकर उसने एक अजीब सी स्माइल की. फिर थोड़ी देर बाद बस आ गई. सो हम लोग उस बस में चड गये. वहा पर बहोत ज्यादा ही भीड़ थी. तो में उसके एकदम सामने खड़ा हो गया. और वो भी मेरे सामने खड़ी थी.  उसका सिर मेरे कंधे पर था. और वो डियो की बेहतरीन खुस्बु से मजे ले रही थी. और हमारी आंख एक दुसरे से मिली तो शर्मा गई और स्माइल की. मेने भी जवाब में उसके सामने स्माइल की. बट में भीड़ के कारन अपना सिर भी नही हिला पा रहा था. और वो मुझे हग करके खड़ी थी. क्यों की वो भी नही हिल पा रही थी. तो मेरा हाथ उसके बूब्स को जरासा टच कर रहे थे. मेरा तो हाथ टच होते ही मेरा लंड खड़ा हो गया. और उसको शायद टच भी करने लगा था.

loading...

फिर बस जब भी टर्न या ब्रेक लगाती तो में उसके बूब्स को टच करता था. फिर मेने अपना पूरा का पूरा हाथ उसके बूब्स पर रख दिया. और हलके से दबाने लगा. शायद उसने नोटिस भी किया. बट उसने कुछ किया नही. और ना स्माइल की. तो में जरा कंफ्यूज हो गया. बट भीड़ ज्यादा थी तो हम कर भी क्या सकते थे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

loading...

फिर मेने अपना पूरा का पूरा हाथ उसके बड़े बूब्स पर रख दिया और सीधा दबाने लगा. फिर उसने मुझे देखा और देखती ही रह गई. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर बस एक स्टेसन पर रुकी. तो और ज्यादा पैसेंजर चड़े. भीड़ बहोत ज्यादा ही बढ़ गई. लगा की भीड़ की वजसे हमें अलग होना पड़ेगा. तो में पीछे चला गया. बट वो भी मेरे आगे आकर खड़ी हो गई. उसने टाइट से अपनी गांड को मेरे लंड को दबा दिया.

और वो बिना कोई वजह के अपनी गांड को मेरे लंड पर हिलाने लगी. भीड़ की वजह से उसने अपने हाथ उसके आगे खड़ी लड़की के कंधे पर रख दिया. और मेने मेरा हाथ उसके हाथ के निचे से उसके बूब्स पर रख दिए. और अपना मुह उसकी गर्दन पर रख दिया. में फिर से हलके से उसके बूब्स दबाने लगा. और उसकी और देखने लगा. उसने नोटिस किया और साथ में एक हलकी सी स्माइल भी की. उसकी ये हरकत से मुझे परमिशन मिल गई. तो में फिर जोर जोर से उसके बड़े बूब्स को दबाने लगा. वह हलकी सी आह्ह्हेई …..ले रही थी. और अपनी गांड हिलाकर मेरे लंड को मसल रही थी.

मेने अपना एक हाथ नीचे करके उसकी शर्ट के अन्दर से अपना हाथ डाल कर उसे जोर से अपनी और खीच लिया. और वो पूरी की पूरी मेरी बाहो में आ गई. इसकी वजह से उसकी गर्दन पर मेरा एक किस हो गया. और साथ में बूब्स को भी बहोत जोर से दबाया. तो उसके मुह से हल्किसी आवाज निकल गई आहाहाह हाहाहा……..

फिर मेने अपना एक हाथ उसकी जीन्स के ऊपर से ही उसकी चूत के ऊपर घुमाने लगा. उसे और भी मजा आने लगा.

फिर उसने अपने मोबाईल में कोल आने का नाटक किया. और अपना हाथ उसकी जेब में डाला फोन निकला और देखकर वापस रखा. हाथ पीछे करके मेरे लंड को मेरे जीन्स के ऊपर से ही रगड़ ने लगी. मुझे तो जेसे करंट ही लग गया,उसने अपने हाथ से मेरी जीन्स के ऊपर से ही मेरा लंड मेरी निकर से बहार निकाला और दबाने लगी. जब मेरा लंड मेरी निकर से बहार निकला तो फिर उसने हाथ में पकड़ा.( जीन्स के अन्दर ही) फिर वो शोक हो गई. सायद उसे लगा की ये लंड बहोत ही बड़ा हे.

फिर वो लंड को रगड़ रही थी. और में अपने हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था. फिर वो हलके से सिस्कारिया भर रही थी. मेने अपना एक हाथ उसके शर्ट के उंदर से डाल कर उसकी ब्रा हटा के उसके निपल को दबाने लगा. वो बहोत उत्तेजित हो गई थी. और तेजी से मेरा लंड दबाने लगी. १२ मिनिट ऐसे ही चलता रहा. फिर मेने पीछे से जोर से उसकी गर्दन पर किस किया. और उसे पूरी की पूरी तरह से अपनी बहो में ले लिया. वो शर्मा गई. एंड हँसने लगी और मजे लेने लगी. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर हमारान स्टेशन आ गया. हम साथ में ही बस से निचे उतर गये. वो अपनी सहेलियों के साथ आई हुई थी. फिर उसने जल्दी से आपना मोबाईल निकाला. में समज गया. मेने जल्दी से उसे अपने मोबाईल नम्बर  दिया. और उसने कंफर्म किया. और साथ में उसने जल्दी से अपना मोबाईल नम्बर दिया. और वो २-३ बार अपना मोबाईल नम्बर बोली.

फिर वो अपनी फ्रेंड के साथ चली गई. और मुझे एक सेक्सी स्माइल दी. और धीरे से हल्का हाथ उठाके उसने मुझे बाय कहा. और वो अपनी फ्रेंड के पीछे पीछे चली गई. और स्माइल करति करती मुझे ही देख रही थी. में एक जगह पर खड़ा हो गया. मुझे तो समज ही नही आ रहा था की में क्या करू.

फिर मुझे याद आया की मेरा लंड अभी भी मेरी जीन्स में से बहोत ज्यादा दिख रहा हे. मेने अपना हाथ अपनी जेब में डाल कर अपने लंड को सेट किया. और अपनी ट्रेन के लिए निकला. करीब रात को १०:१५ उसका कोल आया. मुझे अभी तक उसका नंबर याद था.

फिर उसने कहा पहचाना मेने कहा की आपको कैसे भूल सकता हु. आप एक सपनो की रानी बनकर मेरी जिन्दगी में जो आये हो. और उसने अपना नाम बताया. उसका नाम सपना (नाम चेंज)था. और हम करीब ११:३० तक बात करते रहे. और मे फिर घर पहोचने वाला था तो मेने कहा अब में फोन रखता हु मेरा घर आ गया हे.

तो उसने बताया की आप बहोत अच्छे हो. आप बहोत ही अच्छे से बात करते हो. एकदम फनी हो आप. मुझे आपसे प्यार हो  गया हे. मेने कहा आप मुझे आप आप क्यों कह रहे हो  में शायद आपसे छोटा हु. आप मुझे तुम बुलाओ. फिर उसने कहा ठीक हे. चलो में बादमे बात करता हु. ऐसा कहके हमने फोन रख दिया.

फिर मेने रात को व्हाट्सआप पर उसके साथ चेटिंग की. और वो मेरी दीवानी हो गई थी. हम रोज रोज बात और चेट करने लगे. और हम सेक्सी बाते भी करने लगे थे. फिर उसने कहा….

सपना : तुम यहाँ मेरे घर पर आओ न.

में  : अरे पगली कैसे आउ. कोई रीजन भी तो मिलना चाहिए ना घर से निकल ने के लिए?

सपना : तुम बाते बनाने में बड़े ही एक्सपर्ट हो आ जाओ कुछ दिन के लिए.

में   : वहाहह वाहह्वाहा…. में वहा आके कहा रुकुंगा? मेरा वहा कोई भी घर नही हे. एक काम करो तुम ही आ जाओ यहाँ पर हमारा एक फार्म हाउस हे. हम २-३ दिन के लिए वहा रह जायेंगे.

सपना : अरे ऐ आईडिया हे…. मेरे मम्मी पापा कुछ दिनों के लिए बहार जा रहे हे. एक वीक के बाद. तुम तब तक कोई रिजन सोच लो. और यहाँ पर आ जाओ. मेरे ही घर पर मेरे पडोसी भी बहार गये हुए हे. हम साथ में रहेंगे.

में  : ठीक हे में कुछ सोचता हु.

सपना : उसमे सोच ने का क्या…..? तुम आ जाओ बस…तुम यहाँ पर कोई भी टेंशन मत लेना. में सब अरेंज कर दूंगी.

में   : ठीक हे. अभी के लिए एक सेक्सी वाली पिक भेज दो मुझे.

सपना ने फिर एक पिक भेजी और में मुठ मार ली. बाद में मेने प्लान बनाया. उसके घर जाने के लिए. और घर पे बोल दिया की मुझे वेरिफिकेशन के लिए जाना हे.

और एक वीक के बाद में फिर से अहमदाबाद पहोच गया. वो बाइक लेके मुझे रिसीव करने आई थी. मेने सीधा ही उसे पूछ लिया की अगर तुमारे पास बाइक हे फिर उस दिन क्यों ट्रावल किया. तो उसने बताया की वो उस दिन उसकी सभी फ्रेंड के लिए बस में आई और उसने कहा “तुमसे मिलना जो था इसी लिए” और वो जोर से हसने लगी…..

फिर हम चल पड़े उसके घर की ओर… में जब उसके घर पहोचा तो में देखता ही रह गया. बहोत ही बडा घर था उसका. उसने बताया की आज उसने सरे नोकर को छुटी दे दी हे. फिर उसने मुझे फ्रेश होने को कहा. में सीधा उसको किस करने लगा. तो उसने बोला की में कहा भागी चली जा रही हु. पहले फ्रेश तो हो जाओ. पर मुझे पता था की उसके अन्दर मुझसे भी ज्यादा आग लगी हे. फिर में नहाने चला गया. थोड़ी देर बाद वो टावर लेकर खुद भी बाथरूम में आ गई.

वो अपने कपडे चेंज करने आई हुई थी. क्या मस्त लग रही थी. उसने टी शर्ट और नीचे लेगिंगस जैसा स्मूथ सेक्सी लेंघा पहना हुआ था. वो भी साथ में नाहने लगी. उसका बदन शोवर में भीगने लगा. जिसकी वजह से वो और भी सेक्सी लगने लगी. और एक बात बता दू दोस्तों अगर कोई लड़की या भाभी या आंटी हलकी सी लिपस्टिक लगाकर पानी के सोवर में भीग जाये तो वो बहोत ही ज्यादा सेक्सी लगती हे. हम साथ में नहाने लगे. और वो मजे से मेरे बदन को हाथ लगा रही थी. में बस उसकी हरकतों को ही देखता रह गया.

और फिर उसने अपने भीगे रसीले लिप्स मेरे होठ पर रख दिए. और न जाने उसे क्या हो गया था…? वो पागलो की तरह मुझे किस करने लगी. और अपनी पूरी ताकत से मुझे अपनी और खीचने लगी. और हम दो जिस्म एक जान बन गये. फिर हम नहाकर बहार आये. और भीगे भीगे ही एकदूसरे को देखने लगे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

वो बहोत ही खुश दिखाई दे रही थी. और मेरे प्यार के लिए तड़प रही थी. फिर हम उसीके रूम में चले गये. मेने उसको किस किया. और साथ में उसका टी शर्ट भी उतार दिया. हम खड़े ही थे. हम जस्ट अभी ही बाथरूम से आये थे.

लेकिन फिर भी वो गरम (हॉट) लग रही थी. उसके गरम जिस्म को छूके मुझे जन्नत का अहेसास होने लगा. फिर में उसके ब्रा के उपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा. और वो मौनिंग करने लगी. और मजे लेने लगी. फिर मेने उसकी ब्रा को निकल दिया. और खड़े खड़े ही उसके बूब्स को चूसने लगा. उसे बहोत ही मजा आ रहा था. उसने पागलो की तरह मेरे मुह को उसके बूब्स पर दबाने लगी. और कहने लगी. और जोर से चुसो. और जोर जोर से चुसो…. चुस्स्सो और जोर से चुस्स्सो……आआआ हाहाहा आआआअ.

फिर उसने मेरे चड्डी के ऊपर से ही मेरे लंड को रगड़ने लगी. मुझे तो जन्नत का अहेसास हो रहा था. फिर उसने मेरे चड्डी निकाल दिए. और मेने उसकी लेगिंस और पेंटी भी निकल दी. हम दोनों पूरी तरह से नंगे हो चुके थे. मेने पहली बार किसी को नंगा देखा था. वो मुझे किस करने लगी. और मुझे अपनी और खीचने लगी. मेरे लंड उसके पैरो की जांघ के बिच मे मसला जा रहा था.

फिर मेने उसके बूब्स को चुसना शुरू कर दिया. और उसके निप्पल को प्यार से चूसने लगा. उसे बहोत ही मजा आ रहा था. मेने करीब ५ मिनिट तक उसके बूब्स को प्यार से चूसा. और अपने हाथो से दबाने लगा.

फिर मेने उसे बेड पर लेटा दिया. और उसकी कमर पर किस करने लगा. उसे कमर पर छुते ही वो बहोत गरम हो गई. और उसके मुह से आआआ हाहाहा आआआ की आवाजे निकल ने लगी. फिर मेने नीचे उसकी चूत को देखा. एकदम क्लीन थी उसकी चूत. में उसे चाटने लगा. और वो बहोत ज्यादा गर्म हो गई. और मेरा मुह उसकी चूत में दबाने लगी.

उसने बताया की वो जन्नत में चली गई हे. वो पुरे मजे से अपनी चूत को चुसवा रही थी. और मेरे हेयर पर हाथ रख कर मेरे माथे को जोर जोर से अपनी चूत में दबा रही थी.

फिर वो जड़ गई. और फिर खड़ी हुई और मुझे लेटा दिया. और मेरे लंड को अपने सॉफ्ट हाथो से मसल ने लगी. जो की वो पहले से ही खड़ा था. उसने बताया की मेरा लंड बहोत ज्यादा ही बड़ा हे. जैसे मूवी ने दीखते हे उतना ही बड़ा हे. फिर उसने मेरे लंड को अपने मुह में लिया. और जोर जोर से चूसने लगी.

जैसे ही मेरा लंड उसके मुह में गया में तो जन्नत में पहोच गया. वो बड़े ही आराम से और प्यार से मेरे लंड को चुसे जा रही थी. और साथ में मजे ले रही थी.

फिर वो बहोत ही गर्म हो गई और उसने कहा की अब डाल दो अपना लंड मेरी प्यासी चूत में. में साथ मे कंडोम लेके ही आया था. मेने कंडोम लगाया. और उसकी चूत पर अपना लंड रगडा. उसे मजा भी आ रहा था. और वो कंट्रोल के बहार चली गई थी. पर उसने कहा की बहोत बड़ा लंड हे जान, नही जायेगा पूरा और मुझे बहोत ही दर्द होगा.

फिर मेने बड़े प्यार से उसकी चूत पर आयल लगाया. और अपना खड़ा लंड उसकी चूत पर रगडा. वो तड़पने लगी और मजे लेने लगी. मेने जान बुचकर अपना लंड अंदर नही डाला. और उसे तडपाने लगा. फिर उसने कहा जान अब कितना तडपाओ गे डाल दोना. और साथ में मोंन भी कर रही थी.

फिर मेने हलके से अपना लंड उसकी चूत में डाला. पर उसकी चूत बहोत टाइट थी. मेरा लंड गया ही नही. और वो आआआ हाहाहा आआआ हाहाहा की आवाजे निकाल रही थी. फिर मेने एक जोर से धका लगाया. और मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया. और उसकी चीख जोर से नीकल गई. आआआ हाहाहा उफफफा आआआ…..शायद उसको बहोत दर्द हुआ था. मुझे लगा की ये क्या हुआ.

फिर में उसको किस करने लगा. और बूब्स को चूसने लगा. फिर थोड़ी देर बाद वो नोर्मल हो गई. फिर मेने धक्के लगाना शुरू कर दिया. वो आआआआ हहाहहहहह्हा कम ओन यार अम्म्ह उफौफौफफफा आआआआअह्ह ह्हह्ह ह्हह्हह हाहाहा ….. की आवाज निकल ने लगी थी. और बाद मे बोल रही थी और जोर से धका लगाओ. में तेजी से उसको चोदे जा रहा था.

वो ५ मिनिट में जड गई. बट मेरा अभी खतम नही हुआ था. में उसे धके लगा रहा था. और वो मजे ले रही थी. फिर हमने पोजीशन चेंज किया. और उसे मेने घोड़ी (डोगी स्टाइल) बना दिया. और में पीछे से लंड डालने लगा.

और उसे बहोत ही मजा आ रहा था. अब तो वो स्माइल भी कर रही थी. और साथ में और अन्दर जोर से आआआअ हहहहहह्हा हाहाहा आआआआ हाहाहा आआआआ उम्म्म  जोर से बहोत ज्यादा ये जान ये बहोत बड़ा….याआअ उफफा मम्मी यीईईए अहहहहः आआआआअ जैसे आवाज निकाल रही थी.

तकरीबन १५ या २० मिनट के बाद वो फिर से जड गई. और साथ में भी जड गया. जब वो जड़ती हे तब उसका बदन एकदम लूज ओ जाता हे. और वो पूरी की पुरी मेरी बाहों में आ जाती हे.

फिर हम उठके फिरसे नहाने चले गये. और वहा पर हमने फिर से सेक्स किया, बाद में हम ने बहार आ कर कपडे पहने और खाना खाया.

उसके बाद में थोडा सो गया. और ज्ब्मे उठा तो वो मेरे सामने बेठी बेठी मुझे देख रही थी. और स्माइल कर रही थी. और वो फिर से एक राउंड के लिए तयार थी. सायद वो मेरे लंड की प्यासी हो गई थी. फिर हम ने एक बेहतरीन सेक्स राउंड किया. और फिर हमने बहार घुमने का देसिड किया.

फिर हम घुमने के बाद एक मूवी देखने गये. और वहा पर बहोत मजा किया. और ओरल सेक्स किया. वो मेरे लंड को छोड़ ही नही रही थी.

बस वो हमेशा कोई न कोई बहाने से मेरे  लंड को टच करती. और बार बार मुझे एक ही बात बोलती की जान तुम्हारा लंड तो बहोत बड़ा हे. मुझे बहोत मजा आता हे. इसे टच करने में.

मेने कहा ये अब तुम्हारा ही हे. जब चाहो बोलना तुम्हारे लिए हाजिर हो जाएगा. फिर हम रात को १ बजे घर आये. और मेने फिर से कंडोम का बॉक्स ले लिया. और पूरी रत सेक्स का मजा लिया.

करीब ४ बार हमने सेक्स किया और बहोत मजा किया.

फिर हम एकदम नंगे ही सो गये और मेरा हाथ उसके बूब्स पर था और वह भी मेरा लड़ पकड़ कर ही सो गयी. रात को अचानक  वह मेरे लंड को चूसने लगी में जाग गया और मेरा लंड फिरसे खड़ा हो गया और ह्म्मने एक बार और सेक्स किया और हम सीधे दोपहर को ही उठे और मेने लंच करने के बाद देखा की मेरी ट्रेन कब की हे.

फिर हम बहार गये और घूम कर के वापस आ गये. क्योंकि मेरी ट्रेन रात को ८ बजे की थी तो हम लोग ६ बजे ही घर पर आ गये बहार डिनर कर के. घर आकार उसके कहा की चलो सेक्स करते हे. और वह सीधा मेरा जींस निकलकर मेरा लंड चूसने लगी. शायद उसे चुसना बहोत ही ज्यादा पसंद था. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर हमने क जोरदार सेक्स किया और वह बहोत ही खुश हो गयी. वह मुझे जाने के लिए मना कर रही थी पर मुझे तो जाना ही था.

फिर में ८ बजे की ट्रेन से निकला और वह भी मेरे साथ आई मुझे ड्रोप करने के लिए और उसने मुझे सब के सामने किस कर लिया. और फिर जाते जाते मारे लंड को कस के पकड़कर दबा दिया. में उसे स्माइल करके उसे बाय कह कर वहा से निकल गया. वह तो अब मेरे लंड की दीवानी हो गयी थी.

loading...