चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

अपनी सेक्सी साली को खड़े खड़े चोदा

Hindi Sex Kahani निशा की आँखों की वो चांदनी और चाल में वो उल्ल्ड उल्ल्ड वाली मस्ती! साली न हो पूरी घरवाली बन के रह गई थी वो मेरी. उम्र मेरी बीवी से 5 साल कम लेकिन मैंने बीवी से ज्यादा सुख उसकी पंखुड़ी जैसी चूत से पाया था. जब भी देती थी खुल के देती थी. और जिस पोज में कहूँ वो मेरा लंड ले लेती थी. निशा अभी कोलेज में है लेकिन उसका बदन एक भाभी सरिका हो चूका है, शायद मेरी हवस और बार बार चुदाई की वजह से उसके बदन ने उसे एक शादीसुदा औरत के गुण दे दिए है. वो कमसिन तो कभी थी ही नहीं जैसे. शादी के दिनों की मस्ती में ही साली जीजा के बिच में वो अनोखा बंधन बन गया था. आप यह चुदाई स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 
और फिर एक दीन जब मैं बीवी को ससुराल में पेल रहा था घोड़ी बना के तो मैंने निशा को विंडो से झांकते हुए देख लिया था. वो हम दोनों को चुदाई करते हुए देख रही थी. उसी दिन शाम जब बीवी मार्केट ब्रा पेंटी लेने के लिए गई थी तो मैंने निशा को कमरे में बुलाया. और पहले उसे थोड़ा डांटा. मैंने उसे बोला की मैंने उसे देख लिया था खिड़की के ऊपर छिपे हुए. वो थोड़ा डर गई. लेकिन फिर मैंने उसे पास बिठा के उसकी जांघ पर हाथ रखा तो उसके बदन में सिहरन दौड़ गई. उस दिन पहली बार मैंने उसकी चूत देखी थी. बाप रे जैसे रस से भरा हुआ कोई गुलाबजामुन था वो!

ससुराल में चोदने का मौका नहीं था इसलिए मैंने उसे कहा की घबराओ मत मैं तुम्हे लड़की से औरत बनाऊंगा. और फिर जब वो छुट्टियों में मेरे कहने पर मेरे घर आई तो एक रात को मैंने बीवी के सोने के बाद अपनी इस जवान साली के साथ सुहागरात मना ली थी. और तब से वो मेरी रंडी बनी हुई है. अक्सर मेरे घर आती है और दो तिन दिन तक वही रहती है. मेरी वाइफ बेंक में जॉब करती है और मेरी दूकान है. वाइफ के जॉब के जाने के बाद मैं बहाने से घर आ के साली की पेलता हूँ घंटो तक.
वो नाइटी पहनती है तो प्रिया राय की बेटी और सनी लियोन की सहेली सी लगती है. कसम से अंग अंग में जान भर देती है. इसलिए तो मैं उसे बीवी से भी ज्यादा चोद चूका हूँ. वो हॉस्टल में पढ़ती है वो शहर भी जाता हूँ मैं और वहां होटल में उसकी ले लेता हूँ. आप यह चुदाई स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 
आज की ये हॉट कहानी साली को खड़े खड़े चोदने की है. और ये मौका मुझे लास्ट इयर मिला था. नोटबंदी की वजह से बेंक में इतना काम था की मेरी वाइफ सिर्फ सोने के लिए ही घर पर आती थी. तो मैंने उसे बोल के अपनी साली को खाना बनाने वगेरह के लिए बुला लिया. उसकी वैसे भी छुट्टी थी. निशा ने घर का सब काम अपने सर ले लिया था, मेरे लंड की खैर खबर का भी. और वो मेरी बीवी की नाइटी में उस से भी मोटी और भरी हुई लगती थी. मैं दिन में जब भी मौका मिलता था घर आ जाता था और निशा के साथ चोदमपट्टी कर लेता था.

ऐसे ही एक दिन मैंने अपनी वाइफ को दूकान से कॉल किया. उसने बोला की आज कुछ रूल्स चेंज हुए है इसलिए मैं शायद 10 बजे के पहले घर नहीं आ पाउंगी. मैंने कहा तुम मेरे को कॉल कर देना मैं पिक कर लूँगा बैंक से. वो बोली ठीक है. मैंने कहा अगर जल्दी भी आना हो तो कॉल करना मैं आ जाऊँगा. और फिर मैंने अपनी दूकान नोकर शंभू के हवाले कर दी. और मैं अपने घर की तरफ चल पड़ा. निशा के लिए सरप्राइज प्लान किया था मैंने. मार्केट से मैं उसके लिए काली ब्रा और पेंटी ले के गया था. उसने डोरबेल बजने पर दरवाजा खोला. बीवी की नाइटी और उसके भरे हुए बदन ने मेरी नस नस में सेक्स का लावा भर दिया था.
निशा ने मुझे देखा तो बोली, अरे जीजू आप इतनी जल्दी?
मैंने कहा: हाँ मूड बना है मेरी जान.
निशा: आप का मूड तो कब बना नहीं होता है!
मैं उसे वही पकड लिया और वो भी मेरे से चिपक गई और अपने बदन को उसने ढीला कर दिया. उसके मम्मे मेरी छाती से टकरा रहे थे और मेरे हाथ में उसकी गांड थी. मैंने उसे किस किया और मेरे लंड ने उसकी चूत को कपड़ों के ऊपर से ही हाय हल्लो कह दी. उसे ऐसे देख के लंड में आग लगी थी जिसकी गर्मी उसने भी सेक ली. उसने मेरे को कहा, अंदर तो चलो पहले जीजू.
हम दोनों अंदर घुसे और मैंने उसको आगे चलने को कहा. पीछे उसकी ठुमक ठुमक होती हुई गांड को देख के मैं उसके पीछे गया. कमरे में वो बैठने ही वाली थी बेड पर लेकिन मैंने उसे रोक लिया. और गिफ्ट व्रेप किया हुआ पेकेट उसे दिया और कहा, इसमें कुछ हैं तुम्हारे लिए वो पहन के आओ निशा.
वो पेकेट को ले के कमरे के बहार गई. मैं अपने कपडे निकाल के कम्बल में नंगा सो गया. वो आई एक मिनिट के बाद और उसके बदन के ऊपर सिर्फ वो ब्लेक ब्रा पेंटी ही थी. वो शर्माती नहीं है मेरे से क्यूंकि इतनी बार मेरा लंड लिया है उसने!
वो मेरे पास आई और बोली, कैसी लग रही हूँ जीजू?
मैंने कहा, एकदम छिनाल लगती है तू मेरी जान इस ब्रा पेंटी में.
मैंने उसे कहा अपने बदन की नुमाइश करो मेरे सामने मेरी जान. आप यह चुदाई स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 
और निशा कभी अपने चूतड़ तो कभी अपने बोबे हिला के मेरे सामने घुमने लगी. मैंने उसे पकड के खिंच लिया रजाई के अंदर. मेरा लंड तप के लोहा हुआ पड़ा था. उसका हाथ मेरे लंड को छू गया और वो हंस पड़ी. उसने कहा आप ने कपडे कब निकाले जीजू?
मैंने कहा जब तुम ब्रा पेंटी पहनने के लिए गई तब.
वो मेरे लंड को पकड के बोली, दीदी काम में है और आप आराम में.
मैंने कहा साली को खुश करना भी तो असली काम है!
वो हंस पड़ी और मैंने कहा, चलो आज पोर्न देखते है मेरे मोबाइल में.
वो कुछ नहीं बोली और मैंने अपने मोबाइल में इंडियन पोर्न की एक क्लिप लगा दी. उस क्लिप के अंदर एक लड़का अपने माल के साथ गाडी में चोदमपट्टी कर रहा था. निशा ने कहा अरे जीजू इंग्लिश लगाओ न उसकी क्वालिटी सही होती है. तो मैंने एक्सहेम्स्टर ओपन किया. उसके होमपेज पर चौथा क्लिप एक ब्लोंड का था जो बड़े लंड से चुद्वाती है. निशा ने वो क्लिप लगाने को कहा. वो क्लिप एक स्कुल की केर टेकर की थी जिसे उसका कलिग टीचर बिंदास्त चोदता है.
वो आदमी का लंड किसी गधे के लंड के जैसा बड़ा था. निशा ने मेरे को कहा, जीजा क्या सच में लंड इतना बड़ा हो सकता है?
मैंने कहा होता तो है लेकिन कभी कभी ट्रिक से भी बड़ा दिखाते है.
वो बोली, आप का लंड ही मेरी फाड़ देता है फिर भला ये लड़कियां कैसे ले लेती होंगी इतने बड़े.
मैंने कहा, अरे वो लोगो को मसल रिलेक्स करने की दवाई दी जाती है इसलिए उनके मसल स्मूथ होते है और वो 8 इंच मोटे लंड भी ले सकती है, चल अब ये सब छोड़ और लंड चूस मेरा.
निशा ने कम्बल हटा दिया और मेरे कडक लंड को मुहं में डाल के चूसने लगी. एक मिनिट में तो लंड एकदम कडक का दिया उसने. और वो पोर्न क्लिप भी देख रही थी लंड को चूसते हुए.
वो लौड़े को हाथ से पकड के उसे घुमा घुमा के चूसने लगी थी. मेरी तो हालत पतली हो गई थी. पांच मिनिट तक वो लंड को ऐसे ही मजे देती रही. फिर मुझे लगा की मैं झड जाऊँगा इसलिए लंड मैंने निकाल लिया. पोर्न मूवी को भी मैंने दो मिनिट पहले पॉज कर दिया था क्यूंकि निशा ने ऐसे चूसा था. मैंने मूवी को फिर से प्ले किया और उसे थोड़ा फोरवर्ड कर दिया.

अब उस आदमी ने इस गोरी को खड़ा कर दिया दिवार के साथ. और उसकी गांड को पकड के थोड़ा पीछे कर दिया. गोरी ने अपने हाथ से गांड को खोला और आदमी ने पीछे से अपने लंड को चूत म दे दिया. ब्लोंड ने दोनों हाथ दिवार पर रख दिए और पीछे से उसकी मस्त चुदाई होने लगी. ये पोज मेरे को बड़ा सही लगा! मैंने निशा को कहा चलो हम भी ऐसे ही चोदते है. आप यह चुदाई स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 
निशा मान गई मेरी बात को. और वो अपनी गांड को पीछे की और कर के खड़ी हो गई. मैंने अपने दांतों से उसकी पेंटी को निचे खिंचा और चूत को थोड़ी ऊँगली कर के गिला कर दिया ताकि लंड घुसाने में दिक्कत न आये. उसकी गीली चूत को ऊँगली से और हिला के अपने लंड की नौक मैंने उसके ऊपर रख दी. और फिर ऊपर उसकी ब्रा के हुक को खोला. उधर पोर्न में ब्लोंड लड़की खड़े खड़े ले रही थी. और यहाँ बहार रियल लाइफ में मैं अपनी साली को धक्का देने लगा था. निशा की आउच से पता चल गया की लंड अंदर जा चूका था. वो हौले हौले से अपनी गांड को हिलाने लगी थी. और मैं उसके बूब्स मसल के उसकी चूत को चोदने लगा था. मेरा लंड एक मिनिट में तो पूरा मेरी इस सेक्सी साली की चूत में घुस गया था. मैंने दोनों हाथ से उसकी गांड को लंड पर दबा के प्रेशर सा बना दिया जिस से मेरे को और भी मजा आने लगा. मैं उसकी ढीली चूत के उपर तो कुछ कह ही नहीं सकता हूँ. क्यूंकि मैंने ही उसे चोद चोद के टाईट सिलपेक से खोला हुआ है.
निशा भी उस ब्लोंड के जैसे ही अपनी गांड को हिला हिला के मेरे लंड पर मार रही थी. और मैं कभी उसकी गांड को तो कभी उसकी कमर को तो कभी उसके बोबो को पकड के पीछे से एक स्थिर पेस से उसे चोदने लगा था.

पांच मिनिट के बाद मैंने निशा की एक टांग को ऊपर कर के अपने हाथ में ले लिया. उसके लिए खड़े रह पाना मुश्किल था. लेकिन मैंने उसे सपोर्ट दिया हुआ था. अब मैं उसे एक टांग के ऊपर खड़ा कर के चोदने लगा था. और तभी वो झड़ भी गई. उसकी चूत के गर्म पानी का अहसास मेरे को हो गया लंड के ऊपर. लेकिन मेरा अभी नहीं हुआ था.
और फिर मैं उसे ले के बेड पर आया गया. मैंने निचे और मेरी सेक्सी साली मेरे ऊपर. उसके बूब्स चूसते हुए मैंने लंड को फिर से उसकी चूत में फिट कर दिया. और वो मेरे जांघो के ऊपर हाथ रख उछलने लगी. उसकी चूत में मेरा लंड मस्त अंदर बहार होने लगा था. और पांच मिनिट की मस्ती के बाद मेरे लंड का पानी भी उसकी चूत में ही झड़ पड़ा. वो भी मजे से राहत की सांस ले के उतर गई मेरे लंड के ऊपर से.
बीवी ने रात को सवा दस बजे कॉल किया तब तक तो मैंने और एक बार निशा की चूत को और इक बार उसकी गांड को चोद लिया था!DMCA.com Protection Status

कहानी शेयर करें :