चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

आंटी के गांड की छेद में जीभ डालकर स्वाद लिया

loading...

हेल्लो दोस्तों में प्रेम हु और में पुणे से हु. मेरी हाईट ६ फुट हे और मेरा लंड ९ इंच का हे. मेरा लंड किसी भी ओरत को संतुष्ट कर सकता हे.

में इस साईट का बहुत ही पुराना रीडर हु, मेरी पहली कहानी को आप सब लोगो ने अच्छा रिस्पोंस दिया. नवरात्री के दिन थे, एक शनिवार के दिन में दांडिया खेलने के लिए गया हुआ था, वह एक बहोत आमिर और पोश एरिया का लोन था. दांडिया खेलते खेलते एक घंटा हुआ था और मुझे एक आंटी नजर आ गयी थी. वह बहोत ही कयामत सी सुंदर दिख रही थी और में उसकी खूबसूरती मेरे शब्दों में बयान भी नहीं कर सकता था. उसकी उमर ३० साल के करीब की थी. उसका फिगर एकदम परफेक्ट था ३४-३०-२६ था. उसकी चमड़ी एकदम गोरी थी की उसको देख के किसी के भी मुह में पानी आ जाये.

में भी दिखने में काफी हेंडसम हु और में रोज जिम वगेरा करता हु. खेलते खेलते हम सामने सामने आ जाते थे, और में उसको बहोत ही वासना की नजर से देखता था, तो वह थोडा शर्माने लगी थी लेकिन मेने अपना काम जारी रखा. वह अब बार बार मुझे देखे जा रही थी और उसको पता चल गया था की में उसके पास ही देखे जा रहा हु, थोड़ी देर के बाद में थोडा साइड में गया और आराम करने लगा था. इंडियन सेक्स कहानी डॉटकॉम १५ मीनट के बाद वह भी वह पर आ गयी और अपना मोबाइल निकाल कर कुछ करने लगी थी और फिर वह मेरे पास आई और उसका फोन मेरे हाथ में दे दिया और बोली की नंबर टाईप करो. मेने भी चुपचाप मेरा नंबर टाईप किया और मोबाइल उसके हाथ में रख दिया, फिर वह दांडिया खेलने चली गयी थी, मुझे लगा की वह मुझे कल कोल करेगी तो में निकलने लगा, तभी मुझे एक कोल आया और एक मीठी आवाज सुनाई दी.

loading...

वह : तुम कहा जा रहे हो?

loading...

में : आप कोण हे?

वह : में नम्रता हु, तुमने मुझे अपना नंबर अभी अभी दिया हे.

में : ओके, आप वह ओरत हे जिसने आज की रात की खूबसूरती बढ़ा दी हे.

वह : शट अप एंड थेंक यु.

में : में अब अपने घर पर जा रहा हु.

वह : मुझे थोड़ी देर के बाद पार्किंग में मिलना और यह कह कर उसने कोल काट दिया.

में पार्किंग में गया और १० मिनिट के बाद वह भी वहा पर आ गयी थी. वह उसकी bmw में थी.

में तो उनको देख कर एकदम हक्का बक्का रह गया, मेरे लिए यह एकदम मस्त अनुभव था. मेने आज तक बहुत आंटी की प्यास बजाई थी और उनको मजे भी दिए थे.

में ओरतो को ऐसे प्यास बुजाता हु के कोई भी बुजा ना सके.

मेने एक स्टोरी में बताया था की

जब तक सामने वाली न बोले की अब तुम्हारा निकाल दो तब तक में मेरा निकालता नही हु. और मुझसे खुश होने के बाद और किसी को वह कभी भी अपनी प्यास को बजाने के लिए बुलाती भी नहीं हे. वह मेरे पास आई और कहा की कार के अंदर आ जाओ.

में अंदर चला गया.

उसने कहा : हाय, में नम्रता हु.

मेंने कहा  : हाय, में प्रेम हु.

उसने कहा  : तुम मुझे घुर घुर के क्यों देख रहे थे?

मेने कहा : मेरे अंदाज से ८०% लडके आपको ही घुर रहे थे. (मेरे इस जवाब से वह इम्प्रेस्ड हो गयी थी.)

उसने कहा  : तुम क्या करते हो?

मेंने कहा : में एक आयटी कम्पनी में काम करता हु, मेरे कुछ ग्राहक हे जिनकी प्यास में बूजता हु और में उनको सर्विस देता हु, वह मेरी बात सुनकर एकदम चकित हो गयी.

ठीक हे आज रात तुम फ्री हो क्या?

में : में आपके जैसी सुंदर लेडी के लिए हमेशा फ्री रहता हु.

उसने कार को स्टार्ट किया और एक घंटे के ड्राइव के बाद एक बहोत ही हाय प्रोफाइल सोसायटी में कार जाकर रुकी और में उसको फोलो करने लगा. उसकी गांड देख के लग रहा था की अभी साली को उठा के उसकी गांड को चूसने लग जाऊ.

हम ८ वे फ्लोर पर गये. में अंदर जाकर सोफे पर बैठ गया और वर मेरे सामने बैठी थी.

वह : और बताओ…

में : कुछ नहीं बस सब अच्छे से चल रहा हे.

वह : में जिंदगी से बोर हो चुकी हु, मेरा पति ज्यादातर टूर में घूमता रहता हे और में हमेशा अकेली रह जाती हु और मेरे बच्चे बोर्डिंग स्कुल में हे.

में : आप चिंता न करे, तुम्हारे पास बहोत पैसे हे और तुम कुछ भी खरीद सकती हो.

वह : लेकिन किसी को पता चल गया तो?

में : मुज पर विश्वास करे, में ओरतो की इज्जत करता हु और कोई प्रॉब्लम नहीं होती हे. इसीलिए मेरे ग्राहक आज तक सिर्फ मेरे हे, वह उठी और मुझे एक हग किया और बोली के थेंक यु सो मच और वह थोड़ी देर बाद बोली के तुम तो बहोत माहिर लगते हो ओरतो के बारे में.

में : आजमा के देख लो. आपको भी पता चल जाएगा.

वह : में सब आजमाने वाली हु लेकिन तुम थोडा सब्र करो. और मुझे बताओ तुम्हारी फिज क्या हे?

मेने कहा : मेरी फिज तुम खुद डिसाइड कर लेना मुझे आजमाने के बाद.

वह : तुम जाओ और नहा लो, में भी नहा लेती हु.

में फिर थोड़ी देर बाद नहा के आया और उसे देखा तो एकदम पागल हो गया था.

उसने एक ब्लेक कलर का सेक्सी नाईटी पहना था और वह खाना लगा रही थी.

मेंने कहा : भगवान भी क्या खुबसुरत चीज बनाता हे..

वह : यु नॉटी, बस करो. तुम क्या पिओगे?

में : एक बियर पेग बस.

वह बियर के दो ग्लास लेकर आई और मेरे पास आकर एकदम चिपक के बैठ गयी थी, और हम भी ड्रिंक करते हुए बाते करने लगे थे.

मेने एक हाथ उसके जांघ पर रखा था और उसने मुझे बहोत ही प्यासी नजर से देखा और हम किस करने लगे थे. मेने उसे अपनी और खिंचा और उसे मेरी गोद में बैठाकर एकदम जोर जोर से वाइल्ड किस करने लगा था. में अपना एक हाथ उसकी बोडी पे घुमाने लगा था और उसने अन्दर कुछ भी नहीं पहना था, वह बहोत ही ज्यादा सॉफ्ट थी और मुझे बहोत मजा आ रहा था. इंडियन सेक्स कहानी डॉटकॉम

उसने कहा : मुझे तुम कभी मत छोड़ना, में तुम्हे कभी कोई कमी महसूस नहीं होने दूंगी, बस तुम मुझे कभी मत छोड़ना और मुझे बहोत प्यार करना.

उसको प्यार की जरूरत थी मैंने उनसे कहा मैं तुमसे दूर जाने की गलती करके जिंदगी की सबसे खूबसूरत चीज को खोना नहीं चाहता हु.

वह यह बात सुन कर एकदम बहुत खुश हो गयी और उठ कर बोली लेट्स हैव डिनर आई कांट कंट्रोल नाउ. फिर हमने थोड़ा लाईट डिनर किया. फिर मैं उसे उठा कर बेडरूम में ले गया और उसे बेड पर लेटा के एक सॉफ्ट किस करने लगा. में उसके बूब्स को बहोत ही प्यार से धीरे धीरे से सहला रहा था. मुझे तडपाना बहुत अच्छा लगता है.

मैंने उसका गाउन निकाला और उसने मेरे सारे कपड़े उतार दिए. मैंने उसके पैर  चाटने शुरू किए, वह बहुत तड़प रही थी. धीरे धीरे उसके जांघ तक में आ गया. उसकी चूत से रस निकल रहा था. मैंने उसे धीरे से उंगली पर लिया और चाटने लगा मुझे बहोत अच्छा लगने लगा वह बहुत टेस्टी था. मैंने उसके पूरे पैरो को चाट के साफ किया. उसके चूत के आस पास चाटने लगा. वह बहुत तड़प रही थी लेकिन मैंने चूत नहीं चाटी. उसका प्रीकम और बाहर आया. मैंने वह उंगली से निकाल के पि लिया. वह मेरा सर पकड़ कर चूत पर ले जाने लगी लेकिन मैं नहीं माना.

उसने कहा : बस करो प्लीज़ मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटो.

लेकिन मेने उसे उल्टा पेट के बल लिटा दिया और उसके ऊपर सो गया और नेक पर किस करना शुरू कर दिया. और मेरा ९ इंच का गरम लंड उसके बेक पर रब करने लगा.

वह हात को पीछे लेकर मेरे लंड को  सहलाने लगी थी.

उसने कहा : इतना बड़ा?… आज तो मैं मर ही जाऊंगी.

मैंने धीरे धीरे पीठ को चाट के साफ किया और उसके गांड के पास आ गया. उसमे से बेहद ही खुबसुरत सुगंध आ रही थी क्योंकि उसने अभी अभी शोवर लिया हुआ था. मेने उसके गांड को अच्छे से चाटा और में तो उसकी खुशबू को अपनी जीभ से अनुभव कर के एकदम पागल हो गया था. फिर में उसके गांड को फैलाकर चाटने लगा था और वह अब धीरे धीरे तदपने लगी थी, उसने मुझे कहा की प्लीज़ ऐसा मत करो, मुझे और अब ना तड़पाओ. में उस पर तरस खा कर उसके गांड के होल को अपनी जीभ से चाटने लगा था और अब वह भी अपनी आँखे बंद कर के और अपनी गांड धीरे धीरे हिलाकर मजे लेने लगी थी. में अब धीरे धीरे उसकी गांड के होल में अपनी जीभ को अन्दर डाल कर उसके गांड के होल का सेक्सी स्वाद लेने लगा था और मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था और मुझे लग रहा था की में स्वर्ग की सैर कर रहा हु.

अब उसने मुझे उठने को कहा और में अब उसकी पीठ पर से उठ गया था, फिर वह उठी और उसने मेरा सर पकड के मुझे किस किया और मेरे होठ को जोर जोर से अपने दांतों के बिच पकड कर खूब चूसा. अब मुझे उसके थूक का मीठा स्वाद पागल बना रहा था और में तो बस अपनी आँखे बंद कर के उस काम देवी के इशारे नाच रहा था.

अब वह डौगी पोजीशन में आ गयी थी और उसने अपने गांड के होल को और भी ज्यादा फैला दिया था. अब उसने मुझे इशारा किया की अब मेरी गांड को अच्छे से चाट कर अपनी जीभ को पवित्र कर दो. में तो एकदम तयार होकर उसके नजदीक गया और अपनी जीभ को उसकी सेक्सी गांड के होल के अन्दर डाल कर के उसके गांड के रस को चाटने लगा था. अब वह आ फ अहह हो अहह ह होओं हाहाह औऔउ एस अहह ओह अहह ह ओः ह्ह्क्म ओं अहः हो अह्ह्ह कम ओन आह ओह अह हहा औऔउ कर रही थी. में उसकी गांड में बेहद अच्छे से अपनी जीभ को डालकर उसकी गांड को  चाट रहा था, और साथ में उसकी चूत से निकला हुआ रस अपनी उंगली से उसके गांड के होल पर डाल कर उसे चाट रहा था और अब वह उत्तेजना से एकदम पागल हो रही थी और आहा हहो अहह ओह अह्ह्ह ओह्ह हां हघ कर रही थी, उसे बहोत मजा आने लगा था. अब तक में उसके चूत के आस पास ही चाट रहा था लेकिन में अब तक उसकी चूत को चाटा नहीं था.

अब वह गुसा हुई और उसने कहा की में तुम्हे पैसे देने वाली हु तो में जैसा कहती हु वैसा करो. मेने उसे सीधा लिटाया और उसे प्यार से किस करने लगा था. फिर में उसके बूब्स को चूसने लगा था. में एक को अपने हाथ से दबाता और दुसरे को चुसता था.  वह एकदम मचल उठती थी. धीरे धीरे उसे चाटते चाटते में उसके नवल तक आया और उसके साइड में चाटने लगा था. उसके पेट पर उंगलिया घुमाने लगा और अब वह बहोत ही ज्यादा तडप रही थी.

फिर में निचे गया और अपनी जीभ उसके चूत में घुसा दी. अब वह मेरा सर जोर जोर से दबाने लगी थी.

वह कहने लगी ओह गॉड दुनिया में ऐसा सुख शायद ही कोई दे पाता होगा और वह आवाजे निकालने लगी थी. मेने उसके पैर ऊपर कर दिए थे. और उसकी चूत और गांड दोनों को चाटने लगा था. उसने कहा जल्दी करो मेरा निकलने वाला हे. इंडियन सेक्स कहानी डॉटकॉम

में जट से उसके निचे गया और उसकी चूत मेरे मुह में ले ली और चूसने लगा. अब उसका पूरा वजन मुज पर था और उसका दबाव बढने लगा था.

मेने उसकी पूरी चूत मेरे मुह में ले ली और वह जोर से आवाज कर के बहोत सारा रस मेरे मुह में डाल दिया. मेने एक बूंद भी वेस्ट न करते हुए सारा रस पि लिया और चाटना शुरू रखा.

अब वह बरदाश्त नहीं कर पायी और मेरे उपर से उठकर बेड पर आकर के लेट गयी और हांफते हाँफते हुए बोली के इसके लिए तो में २०००० दे दू तो भी कम हे. लेकिन में अभी उतने ही पे कर सकती हु. में हसने लगा और कहा की तुम जैसी अनमोल चीज मिली हे और मुझे क्या चाहिए हे.

कहानी शेयर करें :
loading...