चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

कुत्ते के जैसे मैंने भाभी की चूत की खुशबू दूर से सूंघ लिया

loading...

मेरा नाम अमर हे. भाई की शादी होते ही उन्हें बिजनेस टूर के लिए अब्रोड जाना पड़ा. भाभी की देखभाल की जिम्मेदारी मेरी थी. वो अलग बात हे की मेरे मन में कुछ अलग ही चल रहा था. भाभी का फिगर एकदम सेक्सी था एकदम किसी मोडल की तरह था. और जब वह जींस पहनती थी तब कमाल की लगाती थी. मेरी गर्ल फ्रेंड किसी काम से आउट ऑफ़ स्टेशन गई थी और में काफी बोर हो चूका था भाभी की तरफ मेरा एट्रेक्शन बहुत बढ़ गया था. एक रात में अपने रूम में था और भाभी अपने रूम में थी. तभी फ्यूज उड़ गया, भाभी ने मुझे आवाज लगाईं, मेने जवाब दिया, में आ रहा हु. मे उनके कमरे की तरफ बढ़ ही रहा था के तभी भाभी अँधेरे में मुझ से टकरा गई और उनके बड़े बड़े बूब्स मेरे चेस्ट पर दब गए और उन्होंने एकदम धीमी आवाज में सोरी बोला. घर की टाईट चली गयी थी.

भाभी बोली की मुझे डर लग रहा हे, मेने उनका हाथ पकड लिया और उन्हें सोफे पर बिठाकर फ्यूज चेक करने लगा. में वापस आकर भाभी को बताया की फ्यूज उड़ गया हे और अब उसे कल ही बदल सकते हे. फिर भाभी ने कहा की प्लीज़ आज तुम मेरे रूम में ही सो जाओ. हम साथ में उनके रूम में गए, वह लेट गयी में उनकी तरफ मुह कर के लेट गया उनकी पीठ मेरी तरफ थी थोड़ी देर बाद वो सो गयी.

मेने धीरे से अपना हाथ उनकी कमर पर रखा और अपना एक दम सख्त लंड उनके पिछे लगाने लगा. में भाभी की नाईटी धीरे धीरे ऊपर करने लगा मुझे पता था की भाभी सो गयी हे. मेने भाभी की नाईटी उनकी कमर तक उठा दी, में उनकी गांड पर हाथ फेर रहा था. फिर में उठा और मेने उनकी पेंटी सूंघी, वो दिल मदहोश कर देनी वाली खुशबु ने मुझे पागल कर दिया. मेरा हाथ उनकी चूत पर चला गया और में पेंटी के ऊपर से ही उनकी चुत रब करने लगा, थोड़ी ही देर में ऐसा लगा की जैसे भाभी की चूत में कुछ हलचल हो रही हे.

loading...

मेने तुरंत हाथ पीछे कर लिया. भाभी मेरी तरफ घूम गयी और बोली प्लीज़ डोंट स्टॉप अमर.. उनकी आवाज ने मुझे उनका दीवाना बना दिया था. मेने कहा भाभी मुझे परमिशन हे? उन्होंने कहा हां मेरी जान बिलकुल, वो धीरे से आगे बढ़ी और मेरे होंठ से होठ मिलाकर चूसने लगी उनके सॉफ्ट से लिप्स चूसकर में उनसे बिलकुल चिपक गया उन्होंने अपना एक हाथ मेरे लंड पर फेरना चालू कर दिया जो अब बिलकुल खड़ा था. वह उठी और पुरे कमरे में केंडलस जला दी, कमरा बहुत ही सुंदर लग रहा था, में खड़ा हो कर उनके पास गया और उनकी नाईटी उतार दी, अब वह रेड कलर की ब्रा और पेंटी में थी, उन्होंने मेरी वेस्ट उतार दी, में उनके बूब्स मसलने लगा, वो अहह औ उऔउ हहह जान आह औउ करने लगी.

loading...

में भी कदम जोश में था और रुका, मेने उन्हें घुमाया और उनके शोल्डर से लिक करता हुआ निचे की तरफ जाने लगा. में मुह से ही उनके ब्रा हुक खोली और में उनकी पीठ से चिपक गया, मेरा लंड बिलकुल उनकी गांड पे लग रहा था और मेरे हाथ उनके बूब्स में बीजी थे. में उनके शोल्डर चूम रहा था. उसकी सिसकिय बढती जा रही थी आऊ हां हू औउअ मेरी आह्ह अहह वो ज़टके मार रही थी अपनी गांड से. वो घूमी और मुझे बेड वर धक्का देके लेटा दिया मेरी अंडरवियर खिची और एक जंगली बिली की तरह मेरे ऊपर आ गयी. मेरे होठो से चुमते हुए वह मेरे लंड तक गयी और अपने बूब्स के बिच में दबाकर मसलने लगी, अहः भाभी अह्ह्ह बहुत मजा आ रहा हे, भाभी नहीं, अब में तुम्हारी रंडी हु, मुझे सिर्फ मीरा बुलाओ, हां मीरा मेरी जान.. तू तो कमाल की हे. वो मुझे ब्लोजोब देने लगी थी.

वो मेरे लंड को एकदम मसल मसल के चूसने लगी और फिर बाल्स सक करने लगी, में बोला भाभी मेरा होने वाला हे, वो बोली मेरे मुह में ही छोड़ दो ना जान, मेरा सारा माल उनके मुह में गया और वह किती भूखी बिल्ल्ली की तरह उसे चाट गयी और पूरा साफ कर दिया, में बिलकुल मदहोश था. फिर वो उठी और बोली की चल अब तेरी बारी, में उठा और उनकी पेंटी उतार दी, उनकी क्लीन शेव पुस्सी इतनी सेक्सी थी की क्या बताऊँ. जिस कर रहा था की बस वाही खा जाऊ मेने धीरे मीरा की पुस्सी रब करनी चालू की और साथ उसकी हलके हलके सिसकिया चालू हो गई थी. अहह औउ अय्य्य औउ उई यस यस्य्स्य यस्य्स्य उसकी चुत बिलकुल गीली थी.

मेने दो ऊँगली लगा कर उसकी  चूत का छेड़ खोला और अपनी जीभ लगा कर अन्दर बहार करने लगा. उसकी सिसकिया बढती गयी, वो अपने दोनों हाथो के मेरा सर चूत में दबाते हुए अह्ह्ह औउ अहह इई ओओं चिल्ला रही थी, उसकी तेज सिसकिया मुज में जोश भर रही थी. ओह हहह ओह हां उऔ माह्ह चिल्लाते हुए उसने माल छोड़ दिया. उसने मुझे ऊपर खीच कर किस करने लगी. वह अपनी जीभ मेरे मुह में घुसा के घुमाने लगी और मेरी जीभ को चूसने लगी.

फिर हम 69 पोजीशन में आ गए और उसने मेरा लंड, मेने उसकी चूत खूब बुरी तरह से चाटी. इसके बाद वो बोली तुम्हारा लंड अब दुसरे राउंड के लिए तयार हे. वो मेरे लंड पर बैठ गयी और धीरे धीरे उछलने लगी, आहा हहह उऔ अमर तुम्हारा लंड बहुत गरम हे, तुम्हारा लंड मेरी फुद्दी के अन्दर रक् चुदाई कर रहा हे. अहः औ उःह उसके चिल्लाने के साथ पुरे कमरे में ठप ठप ठप की आवाजे आ रही थी, में उसके उछलते हुए बूब्स को पकड़ कर मसल रहा था अहह अहह अमर और जोर जोर से करो और जोर से मसलो ऐसे कह रहा था.

हम दोनों चुदाई की मदहोशी में खोये हुए थे, उसकी फुद्दी और मेरा लंड बिलकुल भीग गया था. वो फिर उठके कपबर्ड से एक ओइल की बोतल उठा के लायी, पहले ओइल अपने बूब्स पर लगा कर मसलने लगी, में समज गया वो क्या चाहती थी. मेने उससे ओइल लिया वो डौगी स्टाइल में आ गयी और में उसकी गांड पर ओइल मलने लगा, और फिर चालू हुई उसकी गांड चुदाई, वो जोर जोर से चिल्लाने लगी, हरामजादे मेरी गांड फाड़ दी अहह हहह औऊ औउ माआआ. में बोला आह मेरी रंडी मीरा में छोड़ने वाला हु, अहह हा ऊऔ में भी, और तभी हम दोनों साथ साथ में छुट गए. उस रात के बाद हमने बहुत चुदाई की और वो मेरी चुदाई की दीवानी हो गयी.

loading...