चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

पड़ोसन भाभी मेरा लंड देखकर बोली तुम्हारा तुम्हारे भैया से बहुत बड़ा और मोटा है

loading...

मैं अजय हूं छत्तीसगढ़ से. मैं सबसे पहले अपने बारे में बताता हूं. मेरी उम्र २१ साल है, और हाइट ६ फुट है. मैं वर्क आउट नहीं करता हूं तो थोड़ा सा फेट हूं, लेकिन उससे कोई फर्क नहीं पड़ता है, मेरा हथियार ७.५ इंच का है जो किसी भी लड़की, आंटी या भाभी को सेटिसफाइ करने के लिए काफी है. हॉप आपने मेरी पहले की कहानी पढ़ी होगी, चाची के साथ चार सुहानी रातें. यह कहानी मेरी और मेर पड़ोस की भाभी जिनका नाम सवी शर्मा है उनकी हे. उनके पति का नाम अभय शर्मा है उनका फर्नीचर का फैमिली बिजनेस है. अब सीधे स्टोरी पर आता हूं. यह कहानी तब की है जब मैं 19 साल का था और १२वीं क्लास में पढ़ता था.

भाभी के बारे में बता दूं, उनकी हाइट ५ फुट ११ इंच मतलब एक बहुत सेक्सी मॉडल की हाइट है, और हाइट के साथ ३८ की उम्र में एक सेक्सी सा फिगर ३६-३०-३४ हे. वह हमारे एरिया की सबसे हॉट भाभी हे, हर एक लड़का और मर्द उनका दीवाना था, उनका पति हाइट ५ फुट १० इंच और वजन १२० किलो तक एक बड़ी तोंद वाला आदमी जो कभी उनको सेटिसफाय नहीं कर पाता था. सवी भाभी और मैं पहले तो बिल्कुल भी बात नहीं करते थे,  हमने प्लान बनाया कि हम पूरी स्ट्रीट वाले मिलकर न्यू इयर सेलिब्रेट करेंगे. उस न्यू ईयर में हम थोड़ी बात करने लगे. फिर जब भी वह अपने छत पर कपड़े सुखाने के लिए आती, तो मैं उन्हें छुपकर देखने लगता, और मैं धीरे धीरे उनके लिए पागल हो रहा था.

ऐसा करीब अगले साल के न्यू इयर तक चला. जब हम ३ परिवार वाले मॉल में जाकर नए साल का सेलिब्रेट करने का प्लान किया, तब हम और नजदीक आ गए.

loading...

फिर अगले महीने वह और उनकी पति बाहर जाने वाले थे और मैंने सोचा यही सही मौका है, जब वह ट्रेन में थी तब मैंने उनको मैसेज किया.

loading...

मैं – हाय.

उन्होंने कहा – हेलो.

मैं – क्या कर रहे हो?

वह – ट्रेन में क्या कर सकते हैं?

मैं – करने को तो बहुत कुछ कर सकते हैं.

वह – तुम्हारा मतलब क्या है?

मैं – कुछ नहीं रहने दो, आप बुरा मान जाओगे.

वह – अरे बोलो ना, नहीं मानूंगी.

मैं – प्रॉमिस करो.

वह – प्रॉमिस.

मैं – एक्चुअली मैं आपको पसंद करने लगा हु.

वह – तुम क्या बोल रहे हो?

मैं – आप मुझे अच्छी लगती हो.

वह – क्या मतलब है तुम्हारा?

फिर मैंने उनको सब बताया कि कैसे मैं उनको देखता था और मैं उनको पसंद करता हूं और मुझे आपको हग करना है.

वह – अच्छा.. तो यह चल रहा है इस मासूम चेहरे के पीछे.

मैं – हां.

वह – लेकिन मैं तो तुम से २० साल बड़ी हूं, हमारे बीच कुछ भी पॉसिबल नहीं हे.

मैं – इसका मतलब आप भी मुझे पसंद करती हो, नहीं तो अभी तक आपने मुझे ब्लॉक कर दिया होता.

वह – मैं तुम्हें एक दोस्त की तरह से पसंद करती हूं, और कुछ भी नहीं.

मै – लेकिन मैं सच में आपको पसंद करता हूं.

वह – ओके.

फिर हम एक घंटे तक बातें करते रहे, और हमने कुछ फोटो एक्सचेंज कीए.

अब हमारी बातें थोड़ी सेक्सुअल टॉपिक पर चली गई थी, तब मैंने उनसे उनकी एक फोटो मांगी जिसमें उन्होंने जो सूट पहना है उसके ऊपर के ३ हुक खोल कर पिक क्लिक करके सेंड करें, तो उन्होंने पहले तो थोड़ा नाटक किया. लेकिन आख़िर में वह मान गई. और मुझे भेज दिया. फिर मैंने उनके क्लीवेज की तारीफ की और थोड़ा फ्लर्ट किया. और फिर मुझे क्लास जाना था तो फिर बाय बोला और चला गया.

पूरे ५ दिन तक ऐसा चलता रहा और फिर जब वह वापस आए, तब हम उनके घर के बाहर मिलने लगे, शाम को उनके घर के बाहर खड़े हो कर बातें करने लगे.

ऐसा ही थोड़ी दिन चलने लगा और फिर मैंने उनसे कहा कि मुझे किस करना है आपको.. तो वह बोली के यह मुमकिन नहीं है, घर पर सब है, मैं वह नहीं कर सकती. फिर कुछ दिन है ऐसा ही चलता रहा. और फिर एक दिन स्ट्रीट की तीन फैमिली का मूवी जाने का प्लान बना. तो हम लोग सब मूवी के लिए पहुंचे, और करीब ३० लोग थे. मैं और भाभी साथ में बैठे थे. तो मैंने मौके का फायदा उठा कर अपने पैर उनके पैर पर रगड़ने लगा. और चुपके से एक हाथ उनकी जांघ पर रगड़ने लगा और वहां ज्यादा कुछ नहीं किया.

फिर रात को जब हम थिएटर से बाहर आए, तो भैया को उनके मम्मी का कॉल आया जो उनके साथ ही रहते थे की गांव में उनकी किसी रिश्तेदार की तबीयत खराब हो गई है, तो उनको तुरंत निकलना पड़ेगा. तो हम सब जल्दी से घर आए और भैया उनके मम्मी और पापा तुरंत निकल गए. भाभी और दोनों बच्चे नहीं गए, क्योंकि उनके एग्जाम आने वाले थे.

भैया जाते जाते मुझे कह कर गए के भाभी का ख्याल रखना, और मैं तो सातवें आसमान पर था. मुझे तो यही चाहिए था. मैं घर में बोला कि आज मैं भैया के यहां रुक रहा हूं, तो घर वालों ने भी कुछ नहीं बोला. और फिर मैं चेंज करके उनके घर पहुंच गया. फिर जैसे ही भाभी ने दरवाजा खोला, मैंने उनको एक टाइट हग दिया, तो वह मुझे छोड़ने को कह रही थी और बोल रही थी कि बच्चे अभी जाग रहे हैं. अभी कुछ नहीं होगा. फिर हम अंदर बैठे और मैं इंतजार कर रहा था की कब बच्चे सोने जाएंगे, फिर थोड़ी देर में दोनों बच्चे सोने चले गए. फिर मैंने भाभी को हग किया और हम वैसे ही थोड़ी देर खड़े होकर बात करने लगे पहले कुछ फालतू बात की.

फिर थोड़ी रोमांटिक बात की, और मैंने कहा आई लव यू बेबी. तब उन्होंने बोला आई लव यू टू. लेकिन मैं शादीशुदा हूं, तो मैंने कहा मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता. और दोनों हंसने लगे. फिर धीरे धीरे खड़े खड़े हम नजदीक आने लगे और फिर हमने बहुत जोर से किस किया. करीब २० मिनट तक हम किस करते रहे.

फिर हम अलग हुए तो वह बोली कि ऐसी किस तो कभी तुम्हारे भाई ने भी नहीं की इतने साल में. तो मैं बोला कि और भी बहुत कुछ है जो भैया ने नहीं किया है, और ना नॉटीसी स्माइल देकर उन को फिर से हग कर दीया. फिर हम दोनों उनके बेडरूम में गए और बेड पर बैठ कर कुछ देर बात की और हम फिर किस करने लगे. इस बार मैं उनके बूब्स भी दबा रहा था, क्या मोमेंट था.. वह मैं कभी उस फिल को नहीं भुला सकता, जब मैंने उनके बूब्स को पहली बार दबाया था और फिर उनके बड़े बड़े बूब को उनके सूट के ऊपर से ही सक करने लगा और फिर किस करने लगा.

अब हम दोनों बहुत गर्म थे और फिर मैंने उनका सूट निकाला, पूरा वह सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी. फिर उन्होंने मेरे कपड़े निकालें और मैं सिर्फ अंडरवियर में था, और हम फिर से किस करने लगे.

मैंने उनकी ब्रा और पेंटी भी निकाल दी. और मेरी अंडर वियर उन्होंने निकाल दी. हम 69 की पोजिशन में आए, वह एक शादीशुदा थी और लंड बहुत अच्छे से चूस रही थी. उसने मेरा पूरा लंड अपने मुंह में ले लिया और हम उस पोजीशन में १५ मिनट तक रहे, इतनी देर में उसने दो बार अपना पानी निकाल दिया था.

फिर मैं उनके ऊपर मिशनरी पोजीशन में आया, तो वह बोली कि तुम्हारा तुम्हारे भैया से बहुत बड़ा है और मोटा भी. मैंने टाइम वेस्ट ना करते हुए अपना लंड  उनकी चूत में डाला उनकी चूत बहुत टाइट है, मेरा लंड जैसे ही अंदर गया था तो वह जोर से चिल्ला उठी आह्ह औऊ ईई मा ओओओ हह्ह्ह. तो मैंने उनको शांत करने के लिए उनको किस करने लगा. फिर मैंने थोड़ी देर वैसे ही इंतजार किया, फिर जैसे ही उनका दर्द कम हुआ. तो मैंने एक झटका और मारा और अपना पूरा लंड उनकी चूत में डाल दिया और उनको किस करने लगा.

फिर मैं अपना लंड अंदर बाहर करने लगा और वह आह्ह उऔउ ईई अहह ओऊ ओह्ह्ह ओहूह आवाज निकलने लगी. और मेरा जोश और बढ़ता रहा और मेरी स्पीड बढ़ गयी. करीब १५ या २० मिनट इस पोजीशन में चोदने के बाद मैंने उनको घोड़ी बनने को कहा और पीछे से उनकी चूत में लंड डाला. क्या बताऊं यारों क्या फील था वह???

फिर मैं उनको पीछे से थोड़ी देर चोदा और चोदते टाइम उनकी गांड में थप्पड़ मार रहा था जिससे वह आवाज निकाल रही थी और मेरा जोश और बढ़ता जा रहा था. फिर थोड़ी देर ऐसे ही मैं उनको चोदता रहा और फिर मैंने उनको मेरे लंड के ऊपर बैठने को कहा. उन्होंने ऐसा ही किया और फिर फाइनली २ घंटे की चुदाई के बाद हम दोनों साथ में जड़ गए, मैं उनके अंदर ही झड़ गया, फिर उन्होंने बाद में बताया कि उन्होंने वैक्सीन लगाया हुआ है तो कोई टेंशन नहीं है. फिर ऐसा ही कुछ दिन तक चलता रहा और जब बच्चों का स्कूल का सेशन खत्म हुआ तो वह लोग राजस्थान शिफ्ट हो गए और फिर अब हम कोंटेक्ट में नहीं है.

कहानी शेयर करें :
loading...