चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

चचेरी बहन को उसके ही घर में जी भर के चोदा

loading...

sex story हैलो दोस्तो मेरा नाम आदित्य है और मेरी बहन का नाम दिव्या है । मै एमपी रीवा का रहने वाला हूं । मेरी उम्र 19 साल और मेरी बहन की उम्र 18 साल है । चलिए दोस्तों अब मै सीधा कहानी पे आता हूं ये कहानी 2 महीने पहले की है मेरी बहन की उम्र तो छोटी है लेकिन वो बहुत ही हॉट और सेक्सी अंदाज बाली लड़की है मैं उसको बहुत प्यार भी करता हूं बात उस दिन की है जब दिव्या की मां यानी की मेरी चाची अपने मायके गई हुई थी और चाचा हमेशा काम के सिलसिले से बाहर ही रहते हैं । उस दिन दिव्या के घर में दिव्या के अलावा कोई नहीं था । रात के लगभग 8 बज रहे थे तब मैं उसके घर गया और हम दोनों टीवी देखने लगे तब तक 9 बज चुके थे तभी मम्मी का फोन आया बोली कहा हो मैंने कहा दोस्त के घर पर ही हूं आज रात मै यही रहूंगा मम्मी बोली ठीक है और फोन काट दिया तभी दिव्या बोली कि तुम ने झूठ क्यों बोला मैंने कहा कि में आज यही रुकुगा वो बोली ठीक है फिर हम दोनों खाना खाकर लेट गए और सो गए तभी रात 1 बजे मेरी नींद खुली और तो मेरे साथ में दिव्या मुझसे चिपककर सो रही थी अब तो मेरा लंड भी खड़ा हो गया था

अब मुझसे रहा नहीं गया और मैं अपने हाथ को उसके बूब्स पर रख कर उसे धीरे धीरे मसलने लगा वो नींद में थी अब मैं दोनों हाथो से उसके दोनों बूब्स को मसलने लगा फिर भी वह सो रही थी फिर मेरी हिम्मत बढ़ी और मैने उसकी नाईटी के अंदर हाथ डालकर उसके बूब्स को मसलने लगा तभी उसके मुंह से आह की आवाज निकली तभी मैं समझ गया कि दिव्या जाग रही हैं . दोस्तों आप मेरे चोदने की स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

अब मैंने उसके बूब्स को नाईटी से बाहर निकाल कर चूसने लगा फ़िर भी वो कुछ नहीं बोली शायद उसे भी मजा आ रहा था मेरी हिम्मत बढ़ती गई और मैंने उसकी नाईटी उतार दी और अब वो मेरे सामने केबल पैंटी में थी अब मैं उसकी चूत की पैंटी के ऊपर से सहलाने लगा और कुछ देर के बाद मैंने उसकी पैंटी को भी उतार दिया अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था और अब मैं भी पूरा नंगा हो गया था और मेरा लगभग 6 इंच का लौड़ा पूरा खड़ा था अब मैं उसकी चूत को पागलों की तरह चाटने लगा लगभग 5 मिनट चूत चाटने के बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और धीरे से उसकी चूत में डालने लगा

loading...

चूत काफी टाईट थी तो लंड अंदर जा नहीं रहा था फिर मैंने लंड में थूक लगाया और एक जोर का झटका.. वो चीख पड़ी और रोने लगी उसके आंखों से आंसू निकालने लगे मुझसे देखा नहीं गया और मैंने अपना लौड़ा बाहर निकाल लिया और उसे kiss करने लगा 2 मिनट kiss करने के बाद मैंने फिर से अपना लौड़ा उसकी चूत में डालने लगा वो बोली नहीं भैया बहुत दर्द होता है लेकिन मैं कहां रुकने वाला था मैंने कहा कि दिव्या तुम डरो मत कुछ नहीं होगा फिर मैंने जोर से झटका मारा और इस बार लंड पूरा अन्दर जा चुका था लेकिन दिव्या रोने लगी थी और उसकी चूत से खून भी निकल आया था लेकिन मैं उसे kiss करता रहा और लंड अंदर बाहर करता रहा अब धीरे धीरे वो भी मेरा साथ देने लगी थी और मैंने उसको जी भर के चोदा और लगभर 10 – 15 मिनट के बाद मै उसकी चूत में ही झड़ गया और दोस्तो अब जब उसके घर में कोई नहीं रहता तब मैं उसको जी भर के चोदता हूं । दोस्तों आप मेरे चोदने की स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

loading...

तो दोस्तो कैसी लगी मेरी कहानी।
धन्यवाद

कहानी शेयर करें :
loading...