चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

चिकनी गुलाबी चूत चाट कर उसका मूत पिया

New Sex Stories हेल्लो दोस्तों मेरा नाम आर्यन है और मैं दिल्ली से हूँ. मेरी उम्र 25 साल है और मैं अभी सिंगल हूँ. मुझे एक रिश्ते में बंधे रहना पसंद नहीं है. मेरे को अलग अलग सवाद लेने में मजा आता है. अलग अलग चूतों का मजा लेने का अलग ही मज़ा है. मुझे चोदना बहुत ही पसंद है और मैं बहुत बड़ा ही चाटू लड़का हूँ. आप में से कुछ को जानकार अजीब सा लग सकता है पर मुझे सेक्स के अन्दर सब से ज्यादा पसंद चाटने में ही आती है. अलग अलग गर्ल्स की चूत को चाटना और चुसना और जो भी उनकी चूत से निकलता है उसको चाट लेना मुझे अच्छा लगता है.
वैसे अलग अलग चूत का सवाद अलग अलग होता है. और इस वैरायटी को चाटने मे अलग ही सनक होती है. मैं घंटो तक चूत को चाटता हूँ और चूत को चाट चाट के बिलकुल साफ़ और गुलाबी कर देता हूँ. आजतक मैंने बहोत साड़ी लड़कियों की चूत चाटी है. और सभी लड़कियों को इसमें मजा भी आया है. और आज मैं आप लोगो को अपना एक ऐसा ही चूत चाटने का अनुभव बताने के लिए हाजिर हुआ हूँ! इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम 
1 साल पहले मुझे व्हाटसएप्प में किसी अननोन नम्बर से मेसेज आया तो मैंने पूछा की कौन है? फिर कुछ बात होने पर पता चला की कोई लड़की थी. और इस लड़की ने गलती से मुझे अपना फ्रेंड समझ के मेसेज कर दिया था. तो मैंने कहा की कोई बात नहीं है. फिर कुछ दिन के बाद मैं जब रात को अकेले अकेले करवटें फेर रहा था और मेरे को नींद नहीं आ रही थी तो मैं पोर्न साईट खोल के भी देखने लगा. कुछ बी ऍफ़ डाउनलोड भी की. फिर भी निंद नहीं आई तो सोचा और कुछ बदमाशी सूझी तो मैंने एक ब्ल्यू फिल्म को उस लड़की के नम्बर पर सेंड कर दिया. सुबह जब उस लड़की ने देखा तो जाहिर है की गालियाँ दी, और बकवास की और मुझे ब्लाक भी कर दिया उसने व्हाटसएप्प पर.
फिर कुछ दिनों के बाद अचानक मुझे उसका मेसेज आया. थोड़ी बात हुई तो पता चला की उस दिन वो बहुत होर्नी फिल कर रही थी. और उसने मुझसे बी ऍफ़ मांगने के लिए ही बात की थी. मैंने उसे दो मस्त बी ऍफ़ की शोर्ट क्लिप भेज दी.

इर हम दोनों की बातें शरु हो गई. कभी कभी वो मेरे को बी ऍफ़ भेजती थी तो कभी मैं उसको. उसने मेरे को अपनी कुछ न्यूड पिक्स भी भेजी थी. कुछ दिन बात करने के बाद मेरे को पता चला की वो भी मेरे जैसी ही थी. उसको भी ओरल सेक्स ही ज्यादा पसंद था, रेग्युलर सेक्स के मुकाबले. वो मुझ से अपनी चूत चटवाना चाहती थी. उसने बोला की मेरे को चूत चटवाना बहुत पसंद है. तो हमने मिलने का प्लान बनाया और एक होटल में मैंने कमरा बुक कर लिया.
2 दिन के बाद मैं उसका मॉल में वेट कर रहा था. और सोच रहा था की शायद वो मजाक कर रही होगी और अब नहीं आएगी. लेकिन कुछ 20 मिनिट के बाद उसका कॉल आया मेरे मोबाइल पर और वो बोली मैं आ रही हूँ रिक्शा में ही हु. औ पांच मिनिट के बाद वो आ भी गई. मुझे तो सच में बिलीव ही नहीं हो रहा था की वो आएगी.
जितनी सुंदर वो अपनी पिक्स में लगती थी उस से भी ज्याफा क्यूट वो लाइव लग रही थी. फिर हम थोडा इधर उधर घुमे और होटल के लिए निकल गए. थोड़ी देर में होटल पहुंचे. थोड़ी बात की और फिर मैं सोच रहा था की कैसे स्टार्ट करूँ. मैं कुछ कहूँ उसके पहले ही वो बोली की चलो स्टार्ट करते है क्यूंकि मेरे को वापस घर भी जाना है. मैं तो कन्फ्यूज हो गया की खुश हो जाऊं या शोक करूँ! मैं खुद ही नर्वस सा हो गया था. फिर वो बाथरूम हो के आई और उसने अब अपनी बेग से नाईट ड्रेस निकाल के पहन ली. वो अब और भी सेक्सी लग रही थी. और उसकी आँखों में उतन सेक्स भरा हुआ था की मेरी सारी कन्फ्यूजन और नर्वसनेस गायब हो चुकी थी. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम 
मैंने थोडा पानी पी लिया और मैं उसके पास चला गया. वो थोडा सा मुस्कुराई और उसकी खुसबू से मैं फुल मूड में आ गया. फिर मैंने उसे जोर से गर्दन के ऊपर एक किस कर ली. और वो मेरे को धीरे से बोली प्लीज लाइट्स तो बंद कर दो. उसे लाईट में ये सब करने में शर्म आ रही थी. और उसने कहा की लाईट चालु रही तो मेरे अंदर वो फिलिंग नहीं आयेग. मैंने सब लाईट बंद कर दी सिर्फ बाथरूम की साइड एक नाईट लेम्प था उसको चालू रखा. और कमरे में अब एकदम हलकी हलकी सी ही रौशनी थी.
फिर मैंने उसको बेड के ऊपर लिटा दिया और उसे किस किया. और फिर मैंने उसका टॉप उतार दिया. मैंने उसके सिने और कमर के ऊपर हाथ लगाया. बाप रे वो इतनी सॉफ्ट थी जैसे की रुई की गुडिया! फिर मैंने उसकी ब्रा को उतार दिया और उसके बूब्स प्रेस किया. वो भी रुई के जैसे ही सॉफ्ट सॉफ्ट थे. मुझे तो अब उसे छूने में भी डर लग रहा था इतनी सॉफ्ट थी वो! फिर मैंने उसके बूब्स को अपने मुहं में ले लिया और धीरे धीरे से सक करने लगा. वो तडपने लगी थी और अपने बूब्स को मेरे मुहं में धक्का देने लगी. मुझे पता चल गया की उसको ज्यादा चाहिए और इतने हलके से काम नहीं चलेगा. फिर मैं जोर जोर से उसके बूब्स को चूसने लगा और दबाने भी लगा. उसे अब बड़ा मज़ा आ रहा था और वो मुझे बोली की बूब को पूरा के पूरा अपने मुहं में ले लो ना. लेकिन उसके बूब्स इतने छोटे नहीं थे की पूरा के पूरा मुहं में ले लिया जा सके!

फिर मैंने उसके पेट पर किस किया. और फिर थोडा निचे और मैंने उसकी पेंटी के ऊपर से उसकी चूत के ऊपर किस कर दिया. वो तो जैसे उछल ही पड़ी. मैंने कहा जानू अभी से ये हाल है तो आगे क्या होगा! फिर मैंने उसकी चूत को पेंटी के ऊपर से ही थोड़ी देर चाटा और उसे तड़पाया. फिर अपने दांतों से उसकी पेंटी को निचे कर दिया और उसने अपने पैरों से पेंटी को उतार दिया.
मैंने उसके दोनों पैरों को ऊपर उठाया और उसकी फेस की तरफ मोड़ दिया. अब मुझे उसकी चूत और गांड दोनों के छेद दिख रहे थे. उसकी चूत इतनी प्यारी थी, छोटी सी और अंदर से पिंक. फिर मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पे घुमाई और टेस्ट किया. ओह माय गॉड, उसकी चूत का सवाद कितना मीठा सा था. मैंने दुबारा किया और फिर चाटा. इतना अलग और स्वीट टेस्ट वाली चूत मैंने पहले कभी नहीं चाटी थी. फिर क्या था मुझे तो नशा होने लगा था. और मैं शरु से ही अपने फेवरेट काम में लग गया!
अब मैंने उसके पैरो को पूरा फैला दिया और उसकी कमर के निचे एक तकिया रख दिया. और उसकी चूत के लिप को पुरे खोल दिए और चाटने लगा. वो तड़पने लगी थी जैसी किसी मछली को पानी के बहार निकाल दिया गया हो. मेरा पूरा ध्यान उसकी चूत के ऊपर ही था. मैं कभी उसके अंदर की चमड़ी को चुस्ता था तो कभी बहार अपनी जबान को उसके ऊपर घिसता था. निचे से ऊपर तक मैं उसकी चूत को मस्त चाटता गया. अब उसकी चूत से थोडा थोडा पानी निकलने लगा और उसकी चूत और भी टेस्टी हो गई. मैं और मजे से चाटने लगा. फिर अचानक वो मुझे हटाने लगी मैंने कहा किया हुआ? तो वो बोली मेरे को सु सु आई है कर के आती हूँ. मैंने कहा क्यों जा रही हो, तुम यही कर लो ना सु सु.
वो बोली अरे पागल बिस्तर गिला हो जाएगा. मैंने कहा मेरे मुहं में ही कर देना मुझे चूत चाटने के वक्त जो पानी निकलता है वो पिने और चाटने में मजा आता है. उसने अजीब नजरो से मेरे को देखा और मैं फिर उसकी चूत को चाटने लगा.  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम 
अब वो उछलने लगी थी. फिर भी मैंने उसे नही छोड़ा और चाटता रहा. मैंने उसको कहा की खुद को थोडा ढीला छोड़ दो और जो भी तुम्हारी चूत से निकलता हे उसे निकलने दो कोई बात नहीं है. फिर उसने खुद को जैसे मैंने कहा था वैसे लूज छोड़ दिया. और मैं कुत्ते की तरह उसकी चूत को चाटने लगा. और उसकी कट से थोडा थोडा पानी निकलने लगा उसकी मूत भी बड़ी टेस्टी थी यार. बूंद बूंद कर के उसकी चूत से मूत निकल रही थी. और मैं उसे चाटता जा रहा था.

मैने उसे कहा अब मैं और जोर जोर से चाटूंगा और जब तुम्हें लगे की तुम्हारा पानी निकलने वाला है तो तुम मुझे बता देना फिर मैं चाटना छोड़ दूंगा कुछ सेकंड के लिए क्यूंकि मैं नहीं चाहता की तुम जल्दी से जाओ. मैंने उसे कहा की मैं आज रात भर तुम्हारी चूत को चाटना चाहता हूँ!
वो समझ गई फिर मैं जोर जोर से उसकी चूत को चाटने लगा एकदम कुत्तो की तरह. अपनी जीभ से चूत पे गोल गोल घुमाने लगा उसकी चूत से थोडा थोडा पानी जो उसका सु सु था वो निकल रहा था. और मैं उसे पी जाता. उसको बहोत मजा आ रहा था और मुझे भी.
फिर वो बोली बस क्या तुम अकेले चाट रहे हो! मैं समझ गया और हम दोंनो ने अब 69 पोजीशन बना ली. वो मेरा और मैं उसकी चाट रहे थे. बड़ा मज़ा आरहा था. थोड़ी देर बाद मैंने उसे अपने सर के दोनों तरफ पैर कर के अपनी चूत मेरे मुहं में रखने को बोला और उसने वैसा ही किया और मैं चूसने लगा अब और भी जोर जोर से.
फिर वो बोली की अब मेरे से कंट्रोल नहीं होगा और अब तुम्म थोड़ी देर बिना रुके हुए चाटो. फीर मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसके दोनों पैरो को ऊपर कर के फैला दिया. अपने हाथ से उसकी जांघो को दबाया. क्यूंकि मुझे पता था वो तडपेगी मुझे छूटने पर हटा देगी.
फिर मैंने उसकी पूरी चूत अपने मुहं में ले ली और जोर से चूसा. वो चिल्लाई की दर्द हुआ. फिर मैंने अपनी जीभ से जोर जोर से कुत्तों की तरह उसकी चूत पर ऊपर निचे किया. वो तडपने लगी मैं और जोर से करने लगा. वो उछलने लगी थी अब तो.  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम 
2 मिनिट में तो वो मेरे को खुद को छुडाने की कोशिश में लगी हुई थी. पर मैं लगा रहा और छोड़ा नहीं. चाटता ही रहा मैं उसे. और फिर उसने अपना पानी छोड़ दिया.

उसकी चूत से सफ़ेद गाढ़ा पानी जैसा रस निकने लगा और वो झटके देने लगी थी. मैं सब कुछ चाट गया और उसे थोड़ी देर हग कर के रखा. थोड़ी देर में वो शांत हो गई. फिर हम बातें करने लगे. उसने मेरे को बोला आज तो तुम ने मेरी जान ही निकाल दी..
वो बोली ऐसा मैं पहले से ही फेंटसी रखती थी किसी को चूत चटवाने की. फिर अचानक वो उठी और कपडे पहनने लगी. मैंने पूछा क्या हुआ तो वो बोली देख नहीं रहे हो क्या की हम कितने लेट हो गए हा. घर भी पहुंचना है वरना प्रॉब्लम हो जायेगी मेरे को. मैंने कहा ठीक है, चलो मैं छोड़ देता हु. और उसने फिर मेरे से वादा किया की अगली बार वो और टाइम ले के आएगी मेरे लिए! DMCA.com Protection Status

कहानी शेयर करें :