चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

Chote Bhai ko pata kar uske mote Lund se chudi

antarvasna stories मेरा नाम दिव्या है, मैं अभी 22 साल की हूँ। मेरा एक छोटा भाई है जो अभी 18 साल का है, आज मै आप को एक चुदाई की कहानी सुनाने जा रही हु, जिसमे मैंने अपने छोटे भाई को पटा कर उसके मस्त मोटे लंड से चुदाई करवाई।
मेरे घर में मम्मी पापा मेरा छोटा भाई और मैं तीन लोग है, ये तब की बात है जब मैं जवान हुई और मुझे सेक्स और चुदाई के बारे में पता चला वो भी मेरी सहेली के मोबाइल पर चुदाई वाली वीडियो देख कर। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 
मेरी सहेली रिया मुझे सेक्स के बारे में बताती थी और चुदाई में कितना मजा आता है ये भी बताती थी। उसका हमारे कॉलेज में एक लड़के से चक्कर था और वो दोनों खूब चुदाई करते थे। उसके चुदाई की बातें सुन कर मुझे भी चुदने का मन होता लेकिन मेरा कोई बॉय फ्रैंड नहीं था। मैं दिखने में सुन्दर हु लेकिन फिर भी मैंने कभी किसी लड़के को भाव नहीं दिया।

लेकिन अब मुझे ऐसा लग रहा था कोई बॉय फ्रेंड बना लेना अच्छा होगा चूत की खुजली बढ़ती जा रही थी। एक दिन मैं टॉयलेट के लिए बाथरूम गयी जैसे ही मैंने दरवाजा खोला अंदर मेरा छोटा भाई पेशाब कर रहा था मेरी नजर उसके लंड पर गयी जो लम्बा और मोटा था। भाई मुझे देख कर हड़बड़ा गया और जल्दी से लंड अंदर कर के मुझ पर चिल्लाने लगा। दीदी तुम ऐसे अंदर क्यों आ गयी ? मैं बोली सॉरी तुमने दरवाजा लॉक क्यों नहीं किया था।

उस दिन मैं पहली बार किसी का लंड रियल में देखि थी और मेरी चुत में और ज्यादा खुजली होने लगी उस रात को मैं भाई के लंड को याद कर के बाथरूम जा कर चूत में ऊँगली की मुझे बहोत मजा आया।
भाई और मेरा एक ही बेडरूम था, इस लिए मुझे भाई को देख कर बार बार सेक्स की फीलिंग आ रही थी उस रात मैं जैसे भी कर के सो गयी।
भाई कॉलेज जाने के लिए नहाने गया वैसे ही मैंने उसका मोबाइल चेक किया उसमे मुझे पोर्न विडियो मिला वो भी देसी, मैं वो देखने लगी देखते ही मेरी चुत में फिर से आग सी लग उठी मेरी चुत गीली हो गयी, इतने में भाई आ गया और मैं उसको डाट कर बोली ये क्या रखा है मोबाइल में ?
पापा मम्मी को बता दूंगी तू यही सब देखता है, भाई डर गया और बोला प्लीज दीदी किसी को मत बोलना आगे से मैं ये सब नहीं देखूंगा, मैं बोली ठीक है।

उसी दिन कॉलेज से वापस आने के बाद मैं शाम को कुछ टाइम के लिए सो गयी और मुझे सपना आया जिसमे मैं और भाई बहोत मजे से चुदाई कर रहे है तभी भाई ने आवाज दिया दीदी उठो खाना खा लो मम्मी बुला रही है और मैं खाना खाने चली गयी।
रात को सोते हुई मुझे ऐसा लगा क्यों न भाई से ही चुदवा लिया जाये भाई भी तो सेक्स वीडियो देखता है उसे भी चुदाई का मन करता होगा।
सुबह उठ कर मैं बाथरूम चली गयी और दरवाजा लॉक किये बिना नंगी खड़ी हो गयी भाई के आने का इन्तजार करने लगी, जैसे ही भाई अंदर आया मुझे नंगी देख कर चौक गया और मेरी नंगी बॉडी को घूर ने लगा और जल्दी से वहां से भाग निकला मैं टॉवल लपेट कर बहार आयी और बोली देख के क्यों नहीं आता तू ? मैं नहाने जा रही थी।

भाई बोला दीदी आप दरवाजा बंद करना भूल गयी थी और आप ने भी तो मुझे नंगा देखा था। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 
मैं बोली किसी को मत बताना और नहाने चली गयी जब मैं नाहा रही थी तब मेरा भाई बाहर ही खड़ा था मैं आज अपनी पेंटी वही छोड़ कर बाहर आ गयी मैं देखना चाहती थी भाई जब बाथरूम जायेगा तो मेरी पेंटी देख कर क्या करता है।
मेरे आने के बाद भाई गया तब तक मैं तैयार हो कर कॉलेज चली गयी और जब वापस आ कर देखी तो मेरी पेंटी पर कुछ लगा हुआ था मैं समझ गयी भाई मेरी पेंटी को लंड लगा कर जरूर मुट्ठ मारा है।

और मैंने पूरा सोच लिया आज रात हम दोनों भाई बहन की चुदाई जरूर होगी, रार को खाना खाने के बाद हम दोनों टीवी देखने लगे टीवी में डरावनी फिल्म आ रही थी मेरा भाई अभी भी डरता था लकिन फिर भी उसने फिल्म देखि और हम दोनों सोने के लिए अपने कमरे में आ गए भाई और मेरा बेड अलग अलग था। भाई बोला दीदी डर लग रहा है आप के साथ सो जाऊ क्या? मैंने उसे हां कहा और हम दोनों साथ सोने लगे बेड छोटा है इसलिए हम दोनों बिलकुल पास पास थे।
मैं भाई से बोली तेरी कोई गर्ल फ्रेंड है क्या ? उसने कहा नहीं, आप का कोई बॉय फ्रेंड है क्या ? मैं बोली नहीं यार कोई भी नहीं है और हम दोनों सो गए। लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी आज रात मुझे चुदवाने जो था।

मैं भाई को लिपट कर सो गयी और उसके कपडे के ऊपर से ही उसके लंड के ऊपर हाथ रख दी और उसे सहलाने लगी उसका लंड खड़ा होने लगा मैं समझ गया वो जाग रहा है और सोने का नाटक कर रहा है। मैं उसका ज़िप खोल कर लंड बाहर निकाल कर चूसने लगी तभी भाई से कण्ट्रोल नहीं हुआ और वो उठ कर बैठ गया और मुझ से लिपट कर दीदी आई लव यू बोलने लगा मैं भी उसे आई लव यू बोल कर उसे चूमने लगी। भाई बोला दीदी मैं आप को कब से चोदना चाहता था लेकिन आज आप ने ही मेरा सपना पूरा कर दिया। मैं बोली अब चोदेगा या फिर सिर्फ बात करता रहेगा। मैं भाई के कपडे निकाल दी और उसने मेरे कपडे निकल दिए अब हम दोनों बिलकुल नंगे थे।
मैं भाई के ऊपर आ गयी और हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए भाई मेरी चूत चाट रहा था और मैं उसका लुंड चूसने लगी हम दोनों को बहोत मजा आ रहा था।

मैं भाई लो लेटने को बोली और उसके ऊपर आ गयी और चुत को लंड के ऊपर रख कर जोर से जम्प की और मेरी चुत में उसका लंड थोड़ा सा ही गया होगा मेरा दर्द से बुरा हाल हो गया और मैं लेट गयी भाई डर गया और बोला दीदी क्या हुआ ? मेरी चुत से खून निकल रहा था और भाई के लंड से भी थोड़ा खून निकल रहा था क्यों की हम दोनों का ये पहला सेक्स था।

थोड़ी देर बाद दर्द काम हुआ और भाई मेरे ऊपर आ गया और मेरी चूत में लंड डाल कर जोर से धक्का दिया उसका लंड इस बार पूरा मेरी चूत में चला गया थोड़ा दर्द हुआ लेकिन इस बार मजा आ रहा था भाई जोर जोर से मुझे चोद रहा था मेरी चूत में उसका मोटा लंड पूरा अंडर बाहर हो रहा था मेरे मुँह से सिसकारियां निकल रही थी भाई भी सिसकारियां ले रहा था और मुझे चोदे जा रहा था, उसने लंड चूत से निकाल कर मेरे बूब्स में रख दिया और बूब्स को चोदने लगा मेरे बूब्स बड़े है दोनों बूब्स के बीच उसका लंड था और मुझे जन्नत का मजा आ रहा था।

अब मैं बोली भाई तू निचे आ जा मैं तुझे चुदती हु वो लेट गया और मैं उसके लंड पर बैठ कर उसे चोदने लगी। चोदते चोदते उसके लंड से पानी निकला और मेरी चूत में भर गया मैं अभी भी उसको चोदे जा रही थी उसका वीर्य मेरी चूत से बहार आ रहा था इतने में मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया और हम दोनों ऐसे ही कुछ समय तक नंगे एक दूसरे के ऊपर सोये रहे।

फिर भाई बोला दीदी मुझे आप का दूध पीना है और मैंने अपने बूब्स उसके मुँह में डाल दिया और वो दोनों बूब्स को चूसने लगा फिर वो मेरी गांड को चाटने लगा और मेरी गांड की छेद में अपनी जीभ डाल कर चूसने लगा उसको मेरे गांड की खुशबु अच्छी लग रही थी , तभी मुझे पेशाब लग गयी और मैं बोली भाई मुझे पेशाब जाना है वो बोला दीदी मुझे भी जाना है और हम दोनों बाथरूम चले गए।

बाथरूम जा कर मैं बोली भाई तू मेरी चूत में और मैं तेरे लंड के ऊपर पेशाब करते है। भाई मेरी चूत के ऊपर पेशाब करने लगा उसका गरम पेशाब से मेरी चूत में गुदगुदी होने लगी। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 
जब मैं पेशाब करने उठी तो भाई बोला दीदी आप मेरे मुँह में पेशाब करो और वो मेरी चूत में अपना मुँह लगा दिया और मैं पेशाब करने लगी वो मेरा पूरा पेशाब पी गया।
हम दोनों ने खुद को पानी से साफ़ किया और बेड पर आ गए , मैं बोली भाई चल अब कुछ नया करते है और वो रेडी हो गया। हम दोनों भाई बहन ने रात भर 4 बार और चुदाई की वो भी अलग अलग तरीके से, ऐसे ही भाई और मेरी चुदाई का खेल चलता रहा और एक दिन माँ ने हम दोनों को चुदाई करते पकड़ लिया और इसके बाद जो हुआ…

कहानी अगले पार्ट में तब तक के लिए बाय बाय.
DMCA.com Protection Status

कहानी शेयर करें :