चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

छोटी दिवाली में छोटी मामी की चुदाई

loading...

New Sex Stories मेरा नाम सुमित है। जगदीशपुर, बिहार का रहने वाला हूँ। मैं 26 साल का जवान लड़का हूँ। indiansexkahani.com अभी कुवारा हूँ पर चूत का जुगाड़ कर लेता हूँ। मूझे सेक्स करना बहुत पसंद है। नई नई फुलझड़ी सी लड़कियों के दूध मुंह में लेकर चूसने में बड़ा मजा आता है। मैं जिस लौडिया को लेता हूँ उसकी चूत जरुर पीता हूँ। मुझे चूत चाटने में विशेष मजा आता है। चूत के दाने को मैं दांत से काट काटकर पीता हूँ। दोस्तों, मैं शुरू से अपने छोटे मामा के यहाँ रह रहा था। मेरे 3 मामा है पर मैं अपने सबसे छोटे मेहुल मामा के पास रह रहा था। उनकी बीबी यानी मेरी मामी भी बहुत सुंदर और सेक्सी माल है। अगर आप लोग देख लोगे तो मुंह में पानी आ जाएगा और आप लोगो के लौड़े खड़े हो जाएंगे। छोटी मामी का नाम टीना है। मैं हमेशा से उनको दिल ही दिल में पसंद करता था पर कभी सोचा नही था की उनकी रसीली चूत चोदने को मिल जाएगी।
छोटी दीपावली का दिन था। मेरे मेहुल मामा तो सुबह की अपने ऑफिस चले गये। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
“बेटा सुमित!! देखो अपनी मामी का हाथ बटाना। आज घर को अच्छे से साफ करवा देना” मामा जी बोले
“जी मामा जी” मैंने कहा

फिर वो चले गये। मैं टीना मामी के साथ घर की सफाई करने लगा। घर भी बहुत बड़ा और दोमंजिला था। एक इंसान के बस की बात नही थी सफाई करना। एक झाड़ू मैंने और एक मामी ने उठा ली। फिर दोनों झाड़ू मारने लगे। मामी ने साड़ी ब्लाउस पहन रखा था। वो बहुत गोरी और सुंदर औरत थी। अभी तो लड़की लगती थी। टीना मामी की उम्र 24 साल थी। बस समझ लीजिये की गुलाब का फूल थी। चेहरे की मूरत और छवि तो बहुत सेक्सी थी। ओंठो का तो आप पूछिए ही मत। जो भी उनको देखता था तो कहता था की उपर वाले ने फुर्सत में बैठकर उनको बनाया है। कुछ लड़कियों को देखते ही चोदने का दिल करने लग जाता है टीना मामी बिलकुल उसी तरह से थी। मेनका और रम्भा का नया अवतार थी। उसके दूध 34” के थे। 34 28 30 का फिगर था। भरा हुआ जिस्म था। वो झुककर झाड़ू मारने लगी तो उनके ब्लाउस से बेहद सॉफ्ट और रसीली चूचियों के दर्शन होने लगे। मामी ने मुझे ताड़ते हुए पकड़ लिया।
“सुमित!! इधर मेरे ब्लाउस की तरह क्या देख रहा है???” वो पूछने लगी
“नही नही कुछ नही….” मैंने हकलाते हुए कहा
“देख ताड़ा ताड़ी बंद कर और सफाई कर। आज छोटी दीपावली है। तेरे मामा के आने से पहले घर शीशे की तरह साफ़ दिखना चाहिए” मामी बोली
“जी मामी” मैंने कहा
फिर हम दोनों ने झाड़ू वाला काम खत्म कर दिया। अब सभी कमरों का जाला साफ़ करना था। मामी मेज पर खड़ी होकर डंडे से जाला साफ़ करने लगी। मैं मेज को हाथ से पकड़े था की कही ये खिसक न जाए। वो जाला साफ़ कर ही रही थी की इतने में मेज हिलने लगी और मामी गिरने लगी। “सुमित!! अअअअअ उ उ उ उ उ…… बचाओ!!” मामी जोर से बोली पर मैंने फुर्ती से उनको अपनी बाहों में लपक लिया। गिरने नही दिया। वो बहुत डर गयी थी। उनका कलेजा जोर जोर से धड़क रहा था। फिर उन्होंने आंखे खोली वो मेरी बाहों में थी। मुझे ही ताड़ने लगी। ख़ामोशी छा गयी। मैं भी उनको ताड़ने लगा। फिर अचानक मैंने ही उनके होठो पर अपने होठ रख दिए और जल्दी जल्दी चूसने लगा।
वो भी सरेंडर हो गयी। कुछ देर बाद मैंने उनको जमीन पर उतारा और सीने से लगा लिया। दोस्तों ऐसा करना जरूरी था। अगर मैं कुछ नही करता तो जिन्दगी भर मामी भी अपनी कोई कोशिश नही करती है। हिन्दुस्तानी लड़की को खुद ही लाइन देनी पड़ती है। वो अपनी तरफ से कुछ नही करती। ये बात मैंने जानता था।

मैंने टीना मामी को बाहों में भर लिया और जल्दी जल्दी किस करने लगा। उसके गाल, गले, और चेहरे पर कई बार चुम्मा जड़ दिया। वो भी अंत में पट गयी क्यूंकि अभी अभी मैंने उनको गिरने से बचाया था। वो भी मुझे प्यार करने लगे। 10 मिनट तक हमारी किस वाला सीन चलता रहा।
“मामी !! आज छोटी दीपावली है। पार्टी तो बनती है” मैंने कहा
वो हँसने लगी।
“बोल क्या लेगा पार्टी में” वो बोली
“प्लीस!! चूत दो ना” मैंने भी कह दिया
“नही!!” उन्होंने तुरंत इनकार कर दिया।
मैंने उनको फिर से पकड़ लिया और उनके ब्लाउस पर हाथ रख दिया। सहला सहला कर दबाने लगा। फिर से उनको किस करने लगा। टीना मामी की हाईट सिर्फ 5’2” थी। मुझसे काफी छोटी थी। मेरे कंधे तक आ रही थी। इसलिए मैं आराम से उनके बुस्ब को मसल सकता था। मैंने जल्दी जल्दी किसी चुदासे लड़के उनके दूध को उपर से खूब मसला और गर्म कर दिया। वो “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ—ऊँ…ऊँ….”करने लगी। उनके चेहरे को मैंने पकड़कर अपनी तरफ कर दिया और फिर से उसके संतरे जैसे होठ चूसने लगा। अब वो इनकार नही कर सकी।  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
टीना मामी को उनके ही बेडरूम में ले गया और लिटा दिया। उनके ब्लाउस की बटने खोलकर ब्लाउस उतार दिया। ब्रा भी उतर गयी। उफ्फ्फ!! कितने सेक्सी मम्मे थे। मुलायम, मासूम, नर्म। मैं हाथ से 34” की दूध को दबाने लगा। मामी सी सी सी सी करने लगी। मैं हाथ से मसल मसल कर, दबा दबाकर मजा लूट रहा था। वो भी साथ दे रही थी। उनकी तरफ से कोई मनाही नही थी। फिर मुंह में लेकर मैंने दूध को चूसना शुरू कर दिया। नर्म नर्म चुचे पिने को मिले तो जिन्दगी का असली मजा मिल गया। जल्दी जल्दी चूसने लगा और रस पीने लगा। टीना मामी “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..”की सेक्सी आवाजे निकालने लगी। साफ था की मौज तो उनको भी आ रही थी। मैं बेकाबू होकर चूस रहा था।
आज जिन्दगी में ऐसा मौका पहली बार लगा था। पता नही फिर कब चोदने को मिले। इसलिए जल्दी जल्दी चूची को मुंह में लेकर चूस रहा था। फिर दूसरी भी मुंह में भर ली और चूस गया। अब मामी चुदने को तैयार थी।

loading...

“भांजे!! तू तो मस्त चुसाई करता है। कहाँ सीखा तूने ये सब??” टीना मामी बोली
“मामी!! अपनी गर्लफ्रेंड्स को मैं इसी तरह चूस चूसकर उनकी चूत का बाजा बजाता हूँ” मैंने कहा
और फिर से काम में लग गया। धीरे धीरे हम दोनों बेड पर ही करवट लेकर लोट पोट होने लगे। उनकी साड़ी खुल गयी। मामी ने लेटे लेटे ही जुगाड़ करके साड़ी उतार दी। अब वो सिर्फ पेटीकोट में थी। आज तो ऐसे रानी वाले रूप के दर्शन पाकर जिन्दगी सफल हो गयी थी। दोस्तों अभी तक मेरे मेहुल मामा ही मामी को बिना ब्लाउस के और सिर्फ पेटीकोट में देखते रहे थे क्यूंकि वो उनके पति थे। और चोदने का हक रखते थे। पर आज तो ऐसे दर्शन पाकर मैं धन्य हो गया था। मैं अब जल्दी जल्दी उनके सेक्सी पेट को सहलाने लगा। कितना सुंदर और गोरा पेट था टीना मामी का। मैं बार बार किस कर रहा था।
मैंने हाथ से पेट को खूब सहलाया और होठो से खूब चुम्मा लिया। फिर नाभि को जल्दी जल्दी जीभ से चाटने लगा। मामी “आऊ…..आऊ….हमममम अहह्ह्ह्हह…सी सी सी सी..हा हा हा..”की कामुक आवाजे निकालने लगी। उनको भी परम सुख प्राप्त हो रहा था। धीरे धीरे मैंने पेटीकोट का नारा खोल दिया और धक्का मुक्की करते करते उतार भी दिया। सीधा मामी की लाल रंग की छोटी से पेंटी पर मेरा हाथ चला गया। वो रोकने लगी।   इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
“नही भांजे!! ऐसा मत करो” वो बडबड़ाने लगी पर अंदर से उनका भी आज चुदने का मन था
मैं कुछ देर तक टीना मामी की सेक्सी सफ़ेद चिकनी जांघो पर हाथ घुमाता रहा और किस करता रहा। फिर लाल पेंटी के उपर ही जीभ लगाकर चाटने लगा। कसी कसी पेंटी से चूत का उभार साफ़ साफ़ दिख रहा था। मन मचल गया। मामी “अई…..अई….अई… अहह्ह्ह्हह…..सी सी सी सी….हा हा हा…” बोलने लगी। मैं जल्दी जल्दी उपर से चूत चाटने लगा। मामी मुझे रोंक रही थी। इधर उधर बिस्तर पर कुलांचे भर रही थी। बेताब हो गयी थी। अपने पैर उन्होंने खुद ही खोल दिए थे। मैं जल्दी जल्दी जीभ निकालकर चाटने लगा। 15 मिनट तक रुका ही नही। ऐसा करने से चूत का रस छनकर पेंटी के उपर आ पंहुचा। मैं उसे भी पी लिया। फिर पेंटी उतारी और भोसड़े का दीदार करने लगा। कितना सुंदर गुलाबी भोसड़ा था टीना मामी का। कभी सपने में सोचा नही था की ऐसा दिन आएगा की इस सुंदर भोसड़े चाटने को मिलेगा। पर आज सपना हकीकत बन गया था।
मैं जल्दी जल्दी दीदार करके चाट रहा था। रुका ही नही। बहुत दिनों से प्यासा था। जब मैंने अपना चेहरे उपर उठाया तो पुरे मुंह में चूत का सफ़ेद मक्खन चुपड़ गया था। जैसे अभी अभी बिल्ली ने पतीले में मुंह डालकर दूध मलाई सहित पी लिया हो। ऐसा ही लग रहा था। जब टीना मामी से मेरा चेहरा देखा तो उनकी हंसी छूट गयी। मैंने उठा और अपने सब कपड़े उतार दिए। अंडरवियर उतारा। लंड हाथ से पकड़कर चूत में दे दिया और चुदाई शुरू कर दी।

loading...

……अई…अई….अई……अई….इसस्स्स्स्स्…….उहह्ह्ह्ह…..ओह्ह्ह्हह्ह….”करने लगी। मैंने उनकी दोनों सेक्सी जांघ को पकड़कर उपर उठा दिया और चूत में बैंड बाजा बारात खेलने लगा। जल्दी जल्दी लेने लगा। टीना मामी ने अपनी आँखे बंद कर ली और जल्दी जल्दी लंड खाने लगी। वो इस तरह से बेहद मासूम लग रही थी। मुझे और जादा प्यार आने लगा। मैं और जादा धक्के मारने लगा। तेज और गहरे धक्के। कुछ ही देर में उनकी चूत की शादी मेरे 6” के लौड़े से हो गयी। मैं मेहनत से सेक्स करने लगा। करता रहा। रुका नही। फिर लंड चूत से बाहर निकाल लिया।
“आओ मामी!! चूसो आकर” मैंने कहा
टीना मामी को बैठना पड़ गया। जल्दी जल्दी मेरे लंड को पकड़कर फेटने लगी। फिर मुंह में लेकर चूसने लगी। मेरी गोलियों को हाथ से दबाने लगी तो अलग तरह का सुख मिलने लगा। मेरा 6” का लंड उसके गले तक पहुच जाता था। 5 मिनट तक चुसी चुसव्वल होता रहा।
“चलो अब कुतिया बनो!!” मैंने कहा
वो दोनों हाथो और घुटनों पर कुतिया बन गयी। उसके पुट्ठो को मैंने कई बार हाथ से सहलाया और चुम्मा लिया। फिर पीछे से चूत में लंड हाथ से पकड़कर छेद में डाल दिया और कमर पकड़कर अब डौगी स्टाइल में पेल रहा था। फिर से टीना मामी “..अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ….अअअअअ….आहा …हा हा हा” की सेक्सी आवाजे निकालने लगी। 10 मिनट बाद जल्दी जल्दी चूत मारते मैं अंदर ही शहीद हो गया। मुझे छोटी दीपावली की पार्टी मिल गयी थी।  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

DMCA.com Protection Status

loading...