चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

देवर का लंड खड़ा किया

loading...

Hindi Sex में रूचा, उम्र 22 साल और में शादीशुदा गर्ल हूँ। Stories मेरी शादीशुदा लाईफ बहुत अच्छी चल रही है। मेरे पति मुंबई में आर्किटेक है और वो 27 साल के है। मेरी शादी को 3 महीने हो चुके है। यह जो घटना में आपको बताने जा रही हूँ वो मेरी शादीशुदा सेक्स लाइफ का एक्सपीरियन्स है। में मेरे पति के साथ मुंबई में ही रहती हूँ और फेमिली में हम दो ही लोग है और शादी से पहले मेरा एक बॉयफ्रेंड था.. लेकिन हमारे बीच में बस ओरल सेक्स हुआ था। जब मेरे पति ने मेरे साथ पहली बार सेक्स किया तब तक में वर्जिन थी। में बहुत सेक्सी और सुन्दर गर्ल हूँ और अब में आपको बोर ना करते हुए सीधे स्टोरी पर आती हूँ। मेरी हमेशा से एक इच्छा थी कि मेरे पति मुझे खूब जमकर चोदे और में खूब चुदाई करवाऊँ और गांड मरवाऊँ.. लेकिन मेरी यह इच्छा पूरी नहीं हो पाई।

एक दिन जब रात को मेरे पति घर आये तो उनके साथ मेरे देवर जी भी आये। मेरे पति और उनके भाई दोनों ही बहुत सुन्दर है और अच्छे दिखते है। मैंने जब दोनों को साथ में देखा तो मेरी पुरानी इच्छा जाग उठी और मैंने सोचा कि ये मौका अच्छा है अपनी इच्छा पूरा करने का। फिर मैंने प्लान बनाया कि में देवर से चुदवाऊंगी.. लेकिन कैसे? रात में डिनर के समय मैंने ब्रा और पेंटी उतार दी और सिर्फ़ अपने नाईट गाउन में थी जो कि काफ़ी ढीला और बड़े गले का है। अगर में घर में ऐसे ही रहूँ तो मेरे पति को कोई प्रोब्लम नहीं थी। लेकिन मेरे देवर जी का ध्यान बार बार मेरे बूब्स की तरफ आ जाता था। मेरे 34-B साइज़ के आम उन्हें मेरी तरफ बड़ी भूख की आँखो से देखने पर मजबूर कर रहे थे।

मैंने उन्हे ये करते हुये बहुत बार पकड़ लिया और सोचा कि आज रात में ही कुछ प्लान बनाया जाये। रात होने पर मेरे पति जाकर सो गये और मैंने अपने देवर जी के साथ बातें शुरू की और बातों बातों मे उनका हाथ मेरे बूब्स पर लगाया.. ब्रा नहीं होने से मेरे बूब्स झट से उछल गये और देवर जी थोड़े शरमा गये। मैंने मुस्कुरा कर कहा कि कुछ नहीं होता.. मैंने ब्रा नहीं पहनी है इसीलिये ऐसा हुआ.. यह सुनकर देवर जी मुझे घूरने लगे और उनके पजामे में उनका लंड खड़ा होने लगा। मैंने फिर कहा कि क्या हुआ देवर जी? क्या सोच रहे है आप.. तो वो बोले कुछ नहीं भाभी। मैंने कहा कि आप मुझे रूचा ही कहिये और आप क्या सोच रहे है वो तो सब दिख रहा है। यह सुनकर उसने मुझसे पूछा कि क्या आप घर में बिना ब्रा के रहती है अब में समझ गई कि आज देवर जी तो फंस ही गये। मैंने आराम से सोफे पर लेटकर कहा हाँ और अब घर में कैसे भी रहो क्या फ़र्क पड़ता है में तो पेंटी भी नहीं पहनती। यह बोलते ही उनका लंड तन गया और वो मेरे करीब आ गये।

loading...

मैंने कहा क्या हुआ? उसने कहा कि में आपके बूब्स बहुत देर से देख रहा हूँ और करीब से देखना चाहता हूँ। में कुछ जवाब देती उससे पहले उन्होंने अपना हाथ मेरे गाउन मे डाल दिया। गाउन में हाथ डालते ही उन्होने मेरे बूब्स दबाने शुरू किये और निप्पल पर चिकोटी लेने लगे। मैंने कहा ये क्या कर रहे है.. तो उनसे कहा अब रहने दीजिये मुझे भी पता है आप क्या सोच रही है और उसने अपना पजामा उतार दिया और मेरे हाथ मे अपना लंड दे दिया और कहा कि मैंने भी अंदर कुछ नहीं पहना है। उनका लंड काफ़ी मोटा था और 8 इंच लंबा था। उनके तने हुये लंड को देखकर मुझसे नहीं रहा गया। मैंने अपने देवर जी के लंड को सहलाना शुरू किया और कहा कि आपको करीब से देखना है तो देख लीजिये पर मुझे बदले में कुछ चाहिये। में उठकर खड़ी हो गई और देवर जी के बेडरूम में आ गई.. वो मेरे पीछे आ गये और रूम मे आकर मैंने अपना गाउन उतार दिया। मेरे देवर ने दोनों हाथ से मेरे बूब्स को दबाया और पागलों जैसे चूसने लगे

loading...

फिर एक हाथ मेरी चूत पर ले जाकर उसमे दो उंगली डाल दी और बोला ओह भाभी आप तो बहुत गर्म हो गई है। मैंने कहा आपका लंड देखकर रहा ही नहीं गया.. लेकिन कहीं भैया आ गये तो? मैंने कहा कि वो अब सीधा सुबह उठेंगे। ये सुनते ही उसने मुझे बेड पर धकेल दिया और अपने कपड़े उतार दिये और मुझे अपने उपर आने का इशारा किया.. हम दोनों 69 पोज़िशन में थे। उसने मेरी चूत चाटना शुरू किया और एक उंगली को मेरी गांड मे डाल दिया.. लगता है भैया को गांड काफ़ी अच्छी लगती है। मैंने उसका 8 इंच लंबा लंड चूसते हुये ह्ह्हम्म्म हम कर रही थी। इतने में उसने मुझे उठाया और कहा कि ऐसे ही रहो.. हम डॉगी स्टाइल में थे। उसने एक ही झटके में मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया और दोनों हाथ से मेरे बूब्स पकड़ लिये और झटके देने शुरू कर दिये। 2-3 धीरे धीरे झटको के बाद उसने ज़ोर ज़ोर से चोदना शुरू किया।

फिर उसने मुझे 25 मिनट तक वैसे ही चोदा। में तो अब झड़ने वाली थी। उसने फ़िर अपना लंड निकाला और कहा कि झुक जाओ.. तो में समझ गई कि वो क्या करना चाहता है उसने मेरी कमर कसकर पकड़ी और अपना मोटा लंड मेरी गांड पर रख कर धक्का मारा। उस एक धक्के में उसका 8 इंच लंबा लंड मेरी गांड में था और मेरी चीख निकल गई। उसने एक हाथ में मेरा मुँह पकड़ लिया और दूसरे से मेरे बूब्स और कहा कि आज आपको ऐसी जन्नत मिलेगी जो भैया ने आपको कभी नहीं दी होगी। मैंने कहा हाँ चोदो मुझे जम कर चोदो ह्ह्ह्हम्म और उसने अगले 15 मिनट तक मेरी गांड मारी फिर लंड निकालकर मुझे पलट दिया। फिर मेरा सर पकड़कर अपने लंड के पास लाया.. तो मैंने उसका लंड अपने हाथ में लेकर मुँह में डाल लिया। उसका लंड बहुत गर्म हो गया था। 2 मिनिट मे उसने अपना वीर्य मेरे मुँह पर छोड़ दिया। फिर में उठकर बाथरूम गई और फिर में अपने रूम में चली गई ।।

 

कहानी शेयर करें :
loading...