चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

गर्लफ्रेंड को बूढ़े ट्रक ड्राइवर से चुदवाया और पैसे भी लिए

loading...

मेरी दबी हुई इच्छा तो ये थी की कोई कालिया मेरे सामने मेरे माल को चोदे. और मैं उन दोनों को सेक्स करते हुए देख के अपना लंड हिलाऊ. वैसे मेरी गर्लफ्रेंड भी ऐसा ही कुछ सोचती थी. मेरी और मेरी माल यानि की गर्लफ्रेंड की बड़ी बनती हे. और हम दोनों हरेक चीज में एकदम ओपन से हे. मुझे और उसे दोनों को ब्लेक पेनिस यानी की काले लौड़े बड़े पसंद हे. और ऐसा नहीं की सिर्फ हब्शी लोगों के, इंडियन ब्लेक लंड भी चलते हे हम दोनों को. बस लोडा एकदम लम्बा और रंग में ब्लेक हो!

और एक दिन ऐसा कुछ हुआ जिसकी सेक्सी स्टोरी मैं आप के लिए ले के आया हूँ. हम दोनों एक पार्टी से वापस आ रहे थे रात को. साली गाडी ने रस्ते में धोखा दे दिया. जगह भी सिटी के बहार के सुनसान एरिया में थी. अँधेरा ही अँधेरा था बस कुछ फासले पर एक ट्रक पड़ा हुआ था. मैंने अपनी माल से कहा की चलो ट्रक वाले को पूछ लेता हूँ मदद के लिए शायद उसे कोई गेरेज वाले का पता हो. या फिर उसके पास में नम्बर शम्बर भी हो. मैं ट्रक के पास जा पहुंचा.

अन्दर एक मरियल सा बूढा ड्राइवर वाली सिट के ऊपर लेटा पड़ा था. उम्र 50 के ऊपर थी उसकी. और रंग पूरा क्रिस गेल के जैसा काला था उसका. मैंने दरवाजे पर हलके से दस्तक दी तो उसने अन्दर से हाथ से पूछा की क्या हुआ?

loading...

मैंने इशारा किया तो उसने उठ के डोर खोला.

loading...

मैंने कहा, माफ़ करना अंकल मैं आप को डिस्टर्ब किया, मेरी कार यहाँ बिगड़ गई हे. आप कुछ मदद कर सकते हो मेरी? आप देख सकते हे शायद आप को फोल्ट मिल जाए,

वो बूढा हंस के बोला, चलो जी देखते हे, किधर बिगड़ी हे आप की गाडी.

मै उसे ले के अपनी कार एक पास आ गया. उसने गाडी के बोनट को ओपन किया. वो गाडी देख ही रहा था की उसकी नजर अन्दर पड़ी. मेरी गर्लफ्रेंड स्कर्ट पहन के बैठी हुई थी. और अभी उसका स्कर्ट घुटनों के ऊपर तक था. इस ट्रक ड्राइवर ने 10-12 सेकंड तक मेरी माल को देखा और फिर बड़ी मुश्किल से उसकी आँखे हटी वहाँ से. कुछ ही देर में वो आगे का दरवाजा खोल के स्टीयरिंग के निचे कुछ चेक करने लगा. मेरी गर्लफ्रेंड उस वक्त मोबाइल के ऊपर बात कर रही थी इसलिए उसका ध्यान नहीं था इस ड्राइवर के ऊपर. पर वो बूढा उसकी सेक्सी जांघो को बार बार देख रहा था.

फिर वो बहार आया और बोला, भाभी जी तो बड़ी चंगी सी हे सब उन्हें ही देखते रहते होंगे. आप बड़ी ही नसीबवाले हो साहब जी.

मैंने कहा, मुझे पता हे और मैं जानता हु की सब उसे ही देखते रहते हे.

वो बोला, वैसे मेडम की जांघे बड़ी सेक्सी हे और मिनी स्कर्ट के अन्दर तो वो एकदम क़यामत ही लग रही हे. फिर वो अपनी जबान को होंठो पर फेरते हुए बोला, साहब गरीब आदमी हूँ एक बार देखने को मिल जाता तो?

मैंने कहा क्या देखना हे तेरे को?

वो ठरकी स्वर में बोला, सब कुछ.

मैंने मन ही मन सोचा की ये कालिया भी हे और साला ठरकी भी लगता हे. शायद मेरी गाडी यहाँ इस वजह से ही ख़राब हुई हे. मैंने उसे कहा, 50 रूपये लगेंगे देखने के.

वो बोला दे दूंगा न.

मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को बहार बुलाया और उसे कहा जान कुछ मदद तुम्हे भी करनी हे गाडी ठीक करने के लिए. इतने में तो उस ड्राइवर ने मुझे 50 का नोट थमा दिया.

उस बूढ़े दड्राइवर ने मेरी माल को कहा मेडम इसे पकड़ो. उसने बोनट के अन्दर किसी चीज को उसके हाथ में पकड़ा दिया. और वो थोड़ी झुकी तो उसकी लम्बी टाँगे और चिकनी जांघे साफ़ दिखने लगी थी. चांदनी रात में वो मस्त चमक रही थी. ड्राइवर पीछे खड़ा हो के मेरी गर्लफ्रेंड की चौड़ी बम्स और उसकी जांघ को देख रहा था. मैंने देखा की उसकी पेंट में तम्बू का आकार बनने लगा था और उसका लौड़ा खड़ा होने लगा था,

फिर वो मेरी माल के पास गया और बोला ऐसे नहीं ऐसे पकड़ो.

और ये कहते हुए इस बूढ़े ने अपना लंड धीरे से मेरी गर्लफ्रेंड की गांड पर टच करवा दिया. साला मजे लेते हुए मेरी गर्लफ्रेंड को अन्दर जूठ मुठ की चीजें पकड़ा रहा था. फिर वो वापस मेरे पास आया और बोला, साहब आप तो बड़ा सही माल ले के आये हो. कुछ और हो सकता हे क्या?

मैंने कहा एक हजार लगेंगे.

मैंने अपनी गर्लफ्रेंड के पास जा के उसे कहा, जान अभी इस जगह पर ये बुढा ही हमारी मदद कर सकता हे. और बदले में वो जो कुछ करें कर लेने देना प्लीज़.

मेरी गर्लफ्रेंड ने स्माइल के साथ कहा, ओके जान.

बूढ़े ने मुझे 100 के 10 नोट दे दिए और वो मेरी गर्लफ्रेंड की तरफ बढ़ गया. उसने पीछे से उसे पकड़ लिया. और वो बोला, एक घंटे तक मैं जो करन चाहूँ कर लेने देना जानेमन मुझे. और घबराओ नहीं मैं लंड की छतरी ले के ही घूमता हूँ.

मेरी गर्लफ्रेंड, छतरी?

अरे कंडोम को हम लोग देसी जबान में छतरी कहते हे!

मेरी गर्लफफ्रेंड ने उसे कहा लेकिन आराम आराम से करना.

और इतने में तो इस कालिए ड्राइवर ने अपने हाथ मेरी सेक्सी गर्लफ्रेंड के बदन पर फेरना चालू कर दिया. वो कभी उसके बूब्स पकड के सहलता था. तो कभी उसकी चिकनी जांघो के ऊपर अपने गंदे हाथ घुमाता था. फिर यकायक उसने अपना एक हाथ स्कर्ट में घुसा दिया. और मेरी माल की चुत को वो अपने हाथ से सहलाने लगा. मेरी गर्लफ्रेंड को भी बड़ा मजा आ रहा था इस बूढ़े के चूत पर हाथ घुमाने से. वो भी सिहर उठी और अपने होंठो के ऊपर जीभ घुमाने लगी. अब बूढ़े ने पेंटी को साइड में कर दी. और उसने दो ऊँगली को मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में डाल के हिलाना चालू कर दिया. और साला वो अपने होंठो को मेरी गर्लफ्रेंड के मुहं के ऊपर लगा के सब जगह पर किस कर रहा था.

फिर वो बोला, छिनाल चल मेरी पेंट से लंड निकाल, बहुत गर्म कर दिया हे तूने उसे!

मेरी गर्लफ्रेंड ने उसकी पेंट के अन्दर से काला लंड बहार निकाला, वो लंड लगता छोटा सा था करीब 5 इंच का. पर उसका रंग एकदम काले डामर के जैसा था. उसने मेरी गर्लफ्रेंड को बोला, चल हिला दे इसे रंडी. मेरी गर्लफ्रेंड ने लंड को अपनी उँगलियों के बिच में ले लिया और वो उसकी मुठ मारने लगी. वो एकदम फास्ट लंड को हिलाने लगी थी. और एक मिनिट के अन्दर ही बूढ़े के लंड से पिचकारी भी निकल पड़ी. मेरी गर्लफ्रेंड के हाथ एकदम गंदे हो गए उस बूढ़े के वीर्य से.

अब उसने मेरी गर्लफ्रेंड को नंगी कर के घुटनों पर बिठा दिया और खुद भी अपने कपडे खोल के नंगा हो गया. उसने मेरी गर्लफ्रेंड के दोनों गालों पर हाथ रख के दबाया तो उसका मुहं खुला. बिना कुछ बोले हुए उसने अपने लंड को मेरी माल के मुहं में ठूंस दिया.

उसके लंड से एकदम गन्दी स्मेल आ रही थी. पर भी भी मेरी गर्लफ्रेंड उसके लंड को चुस्ती रही. उसने 2-3 मिनिटतक लंड चुसाया. और फिर लंड बहार निकाल के उसने मेरी गर्लफ्रेंड को गाडी पकडवा के खड़ा कर दिया. पीछे मेरी गर्लफ्रेंड की बिग एस पर उसने चमाट मारी और बोला, साली रंडी इतनी बड़ी गांड कर ली हे तूने तो, मरवाती हे क्या इस से.

ये कह के उसने मेरी तरफ इशारा कर दिया. मैंने भी पेंट से अपना लंड बहार निकाल दिया था और उसे हिला रहा था. मुझे ऐसा देख के मेरी गर्लफ्रेंड ने इशारा किया और मुझे करीब बुला लिया. मैं उसके पास खड़ा हुआ और उसने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया. वो अब मेरे लंड को हिला रही थी. उतने में उस बूढ़े ने मेरी गर्लफ्रेंड की चूत को पीछे से खोला और अन्दर एक ऊँगली डाली. मेरी माल की चूत एकदम गीली ही थी. उसने अपनी पेंट की जेब से एक सरकारी कंडोम निकाला और उसे अपने लंड पर पहन लिया. फिर वो लंड को पकड़ के मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में परोने लगा. लंड आधा घुसा तो मेरी गर्लफ्रेंड के मुहं से आह निकल गया. वो सिहर उठी और मेरे लौड़े को जोर जोर से हिलाने लगी. बूढ़े ने उसकी गांड दोनों साइड से पकड़ ली और वो लंड को जोर जोर से चूत में मारने लगा.

बूढ़े ने कस कस के धक्के लगाये तो मेरी गर्लफ्रेंड भ कहाँ कम थी. वो भी पीछे अपनी गांड को उसके लंड पर मार केउसे फुल मजा दे रही थी. और इधर मेरे लंड को वो बड़ी मस्ती से हिला रही थी. बूढ़े ने अब हाथ आगे कर के मेरी माल के बड़े बूब्स को पकड़ लिया और उन्हें दबाने लगा. मेरी गर्लफ्रेंड मोअन करने लगी. लेकिन वो अभी भी अपनी बॉडी को आगे पीछे कर के ड्राइवर के काले लंड से मस्त चुद्वाती गई. करीब 10 मिनीट की मस्त चुदाई के बाद ड्राइवर के बदन में झटके से लगे. उसने फटाक से लंड निकाला चूत से और एकदम कंडोम भी निकाल दिया. अपने हाथ से उसने स्ट्रोक किया और वीर्य की एक बड़ी पिचकारी निकल के मेरी गर्लफ्रेंड की गांड पर आ गई. मुझे ये देख के बड़ा सुकून मिला!

वो अपनी पेंट पहन रहा था तब मैं अपनी गर्लफ्रेंड के पीछे आ गया. और उसे थोडा झुका के अपना लंड चूत में दे दिया. मैंने भी लगे हाथों उसे चोद के ही अपना पानी छुड़ा दिया. चुदाई के बाद पानी की बोतल से मेरी गर्लफ्रेंड ने अपनी चूत मुहं और हाथ धो लिए.

कुछ देर में हम तीनो ने कपडे पहन लिए थे. ड्राइवर ने गाडी के अन्दर कुछ काम किया और बोला की अब स्टार्ट करो. गाडी स्टार्ट हो गई.

वो बोला, छोटा सा ही प्रॉब्लम था.

मैंने समझ गया की साले ने जानबूझ के उस वक्त गाडी ठीक नहीं की थी. पर जो भी हुआ अच्छा हुआ. मैं भी तो अपनी गर्लफ्रेंड को काले लंड से चुदते हुए देखना चाहता था. मैंने गाडी स्टार्ट की तो वो टा टा करते हुए मेरी गर्लफ्रेंड को चुदासी नजरों से ही देख रहा था.

कहानी शेयर करें :
loading...