चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

हॉरर फिल्म दिखाकर सौतेली माँ की चुदाई

loading...

sexy stories हॉरर फिल्म दिखाकर सौतेली माँ की चुदाई.. मेरा नाम चीकू है। सोनभद्र का रहने वाला हूँ। मेरी माँ के मरने के बाद पापा ने दूसरी शादी कर ली थी। मेरी नई माँ या कहू सौतेली माँ बहुत सुंदर और सेक्सी माल थी। पापा एक स्कुल में टीचर और वही पर उनकी मेरी सौतेली माँ से दोस्तों हो गयी और फिर शादी हो गयी। मुझे आज भी याद है की मैंने कितनी बार पापा को शादी करने से मना किया था। पर वो अभी पूरी तरह से जवान थे। पापा चूत के पुजारी थे और उनको रात में चुदाई करनी थी। इस तरह से दोस्तों मेरी नई माँ अब मेरे घर में आ गयी थी।
मैं अभी 20 साल का था और कॉलेज में पढ़ रहा था। मैंने B.Com कर रहा और अभी फर्स्ट ईयर में था। धीरे धीरे मेरी सौतेली माँ मुझे अपना प्यार दिखाने लगी। मेरा तो उनको माँ बोलने का जरा भी मन नही करता था पर क्या करता।  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
“देखो बेटे चीकू!! तुम अपनी नई माँ से अच्छे से पेश आया करो। अब वो ही तुम्हारी देखभाल करेगी” मेरे पापा मुझसे बार बार कहते थे
पर दिल से मैं कैसे उनको अपनी माँ मान लेता। सुबह सुबह वो मेरे लिए जब नास्ता लगाती थी तो मैं उसे हाथ भी नही लगाता था और भूखे ही कॉलेज चला जाता था। कुछ लोग कहते थे की मेरे पापा उसे बहुत पहले से प्यार करते थे और अक्सर उसके घर जाकर उसे चोद लेते थे। खैर सच्चाई मुझे नही मालूम थी और ना ही मैंने जानना चाहता था। नई माँ का नाम जसलीन था। वो सोनभद्र जिले की ही रहने वाली थी। समझ में नही आता की उसने पापा को कैसे अपने जाल में फंसा लिया। धीरे धीरे मेरी उससे दोस्ती हो गयी।
जसलीन (मेरी नई और सौतेली माँ) अभी 26 साल की उम्र की थी। बिलकुल जवान और टंच माल थी। दोस्तों जब वो सुबह सुबह तैयार होकर स्कूल में पढ़ाने जाती थी तो क्या मस्त माल लगती थी।

किसी मॉडल की तरह दिखती थी। उसका कद 5’ 3” था। चेहरा पान के आकार का था। रंग खूब गोरा था और फिगर भी दोस्तों किसी तरह से कम नही था। मेरी नई माँ को देखकर किसी भी लौंडे का लंड खड़ा हो जाता। वो इतनी सुंदर और हसीन थी। सुबह सुबह बाथरूम से वो सीने पर सिर्फ टॉवल बांधकर निकलती थी। उसे देखकर चोदने का दिल करने लग जाता था। उफ्फ्फ!! क्या हॉट सामान थी। शायद उसके गदराये जिस्म को देखकर पापा पागल हो गये और उससे शादी कर ली। धीरे धीरे मेरी न चाहते हुए भी नई माँ से दोस्तों हो गयी। वो मुझे रोज खाना देने लगी।  मेरे कपड़े भी धोने लगी। तो मुझे भी झुकना पड़ गया। जसलीन माँ मुझसे सिर्फ 6 साल बड़ी थी। धीरे धीरे मेरी उससे दोस्तों हो गयी। अब मैं उसकी माँ कहकर बुलाता था।  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
एक रात पापा शहर से बाहर गये थे कुछ काम से। घर पर सिर्फ मैं और जसलीन माँ थे। घर में बहुत सन्नाटा लग रहा था। उनका फिल्म देखने का मन था। हम दोनों में एक चीज कॉमन थी की दोनों को फिल्म देखना बहुत पसंद था। मुझे रोमाटिक, ऐकशन, हॉरर हर तरह की फिल्म देखना पसंद था। जब भी मेरे पास खाली वक़्त होता था मैं फिल्म देखता था। मेरे पास 54” का बड़ा led टीवी भी था जिसकी पिक्चर क्वालिटी बिलकुल सिनेमाहाल की तरह थी। जसलीन माँ को भी फिल्म देखना बहुत पसंद था।
“चीकू बेटे!! चलो कोई फिल्म देखते है” जसलीन माँ बोली
“ठीक है। ये अच्छा आइडिया है” मैंने कहा
फिर हम दोनों पापा के बेडरूम में चले गये और फिल्म देखने लगे। मैं रिमोट से टीवी चेनल बदल रहा था की इतने में होलीवुड की बड़ी डरावनी हाँरर फिल्म आ रही थी। दोनों देखने लगे। धीरे धीरे मौसम बन गया। फिल्म बहुत अच्छी थी। साथ में इतनी डरावनी थी की जसलीन माँ मूतने भी नही जा रही थी। 1 घंटा बीत गया। वो मुतासी हो गयी थी।
“चीकू बेटा!! ये फिल्म कुछ जादा ही डरावनी है। चलो मुझे बाथरूम करवा लाओ” वो बोली

मैं भी चला गया। वो बाथरूम में गयी तो दरवाजा डर के मारे हल्का सा खुला ही रखा। जसलीन सोच रही थी की कही फिल्म वाला भूत हकीकत में आकर उसका कत्ल न कर दे। इसलिए उसने दरवाजा बंद नही किया। उसने जल्दी से अपनी साड़ी पेटीकोट के साथ ही उठा दी और छुल्ल छुल्ल की आवाज के साथ मूतने लगी। उसके सफ़ेद चिकने चूतड़ मुझे साफ साफ दिख गये। लंड उसी वक्त खड़ा हो गया। उसकी धार की आवाज मेरे कान में जा रही थी। मन ही मन मैं सोचने लगा की मेरा बाप भी कितना किस्मत वाला है। एक चूत गयी तो दूसरी चूत का जुगाड़ कर लिया। धीरे धीरे मैं मन ही मन अपनी सौतेली माँ जसलीन की चूत की तस्वीर बनाने लगा। कुछ देर बाद उसकी मूत की धार की आवाज बंद हो गयी।
“चलो बेटा” जसलीन माँ आकर बोली
मैं उसकी चूत अब देखने चाहता था। फिर से हम दोनों बेड में चादर पैरों पर डालकर लेट गये और टीवी में होरर फिल्म देखने लगे। दोस्तों 1 घंटे बाद फिल्म खत्म हो गयी। ऐसा भयानक भूत तो मैंने भी आजतक नही देखा था। मेरी भी गांड फट गयी।  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
“बेटा! मुझे बहुत डर लग रहा है। ऐसा करो तुम मेरे पास ही सो जाओ” जसलीन बोली
“ठीक है माँ जी। जैसा आप कहो” मैंने कहा और हम दोनों एक ही बिस्तर पर सो गये। मुझे भी नींद आ गयी। रात के 2 बजे मेरी आँख खुली तो देखा की मेरी 26 साल की सेक्सी सौतेली माँ मुझसे बिलकुल चिपकी थी। शायद भूत वाला कोई डरावना सपना देखा होगा तभी डर गयी थी और मुझसे चिपक गयी थी। जसलीन के ब्लाउस के शुरू के 2 बटन खुले थे और मस्त मस्त 34” के सफ़ेद खरगोश मुझे दिख गये। मैंने हाथ से दबाना शुरू कर दिया। सहला भी रहा था। फिर उसके उपर ही लेट गया। वो सो रही थी। मैंने उसके होठो पर दोनों होठ रख दिए और जल्दी जल्दी चूसने लगा। हाथ से उसके आम जल्दी जल्दी मसल रहा था। 2 मिनट बाद ही वो जग गयी। मैं डर गया और जल्दी से दूसरी तरह मुंह करके लेट गया।
“आओ बेटा!! आज मुझसे तुम प्यार कर ही लो। वैसे भी तुम्हारे पापा अब बुद्धे हो गये है। ठीक से मुझे चोद भी नही पाते है। आओ मुझसे प्यार करो। डरो मत” जसलीन प्यार से बोली

loading...
loading...

मैंने उसकी तरह घूम गया। वो मुझे ही ताड़ रही थी। घर में हर तरफ सन्नाटा था।
“क्या सच में आप मुझसे चुदना चाहती है???” मैंने पूछा
“हाँ” वो प्यासी नजरो से बोली
“और पापा को इसके बारे में पता चल गया तो??” मैंने पूछा
“नही पता चलेगा। इतना डरोगे तो कभी जिन्दगी में मजे नही लूट पाओगे??” वो बोली
फिर उसने ही मुझे पकड़ लिया और मेरे उपर आ गयी। झुक गयी और मेरे ओंठ पर किस करने लगी। मैंने भी उसे पकड़ लिया। दोस्तों आज मैं अपनी सौतेली माँ को चोदने जा रहा था। ये तो अल्टर और चुदक्कड माल निकली। मैं तो सोच रहा था की जसलीन माँ सिर्फ पैसो की भूखी है। पर आज पता चला की वो लंड की भी भूखी थी। 10 मिनट तक हम दोनों किस करते रहे। फिर उसने चादर हटा दी और मेरे लोअर को नीचे खींच दिया। अपनी साड़ी, ब्लाउस, ब्रा पेंटी सब उसने खुद ही उतार दिया। मैंने तो कुछ कहा ही नही। उसके दूध के दर्शन मुझे हो गये। दोस्तों बड़े प्यारे प्यारे दूध थे उसके। ऐसा लग रहा था की पापा ने खूब चूसा था उसके आमो को। दांतों के निशान भी कई जगह दिख रहे थे।
मेरे लंड को उसने बाहर निकाला और फेटने लगी। अपने बूब्स में उसके कई बार लंड को छुआ दिया। फिर उसने इशारे से टी शर्ट उतारने को कहा। मैंने उतार दी। अब हम माँ बेटे दोनों नंगे हो गये थे। जसलीन तो कोई पेशेवर रंडी लग रही थी। जल्दी जल्दी मेरे खीरे को हाथ से फेट रही थी। मेरा लंड 7” लम्बा और 2.5” मोटा था। जसलींन माँ उसे देख देखकर मजे ले रही थी। फिर वो झुक गयी और लौड़े को मुंह में ले लिया और जल्दी जल्दी चूसने लगी। मैं तो “..अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ….अअअअअ….आहा …हा हा हा”करने लगा। वो बहुत जल्दी जल्दी फेट रही थी। मेरी गोलियों को दबा रही थी। खूब चूसा उसने जल्दी जल्दी। मुझे तो मजा आ गया। अपने चेहरे को कई बार जसलीन ने अपने लौड़े से पीटा। फिर बिस्तर पर लेट गयी।  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
“आ जाओ मेरे जवान बेटे!! आज मम्मी तुमको चाँद पर लेकर जाने वाली है” वो हसंकर बोली
मैं क्या करता। तुरंत ही उस पर लेट गया और उसके दूध मुंह में लेकर चूसने लगा। अच्छे, सुंदर, सेक्सी, और रसीले दूध थे उसके। चिकने, कसे और आम की तरह जूसी। मैं लालच करके जल्दी जल्दी चूसने लगा। बायीं चूची चूसता, फिर दाई चूसता। दाई छोड़ता फिर बायीं चूची मुंह में लेकर चूसता। मैंने भी अपनी जवानी की आग बुझा ली। जसलीन माँ ने खुद ही अपने पैर खोल दिए। उसकी चूत बहुत सुंदर थी। बिलकुल छोटी सी थी। कितनी मासूम दुग्गी दिख रही थी। मैं लेट गया और जल्दी जल्दी चूत को जीभ लगाकर चाटने लगा। जसलीन “……अई…अई….अई……अई….इसस्स्स्स्स्…….उहह्ह्ह्ह…..ओह्ह्ह्हह्ह….”करने लगी। उसे भी अत्यधिक आनंद आ रहा था। उसके चूत की कली कली को मैं चूस रहा था। पूरा रस पी रहा था। फिर ऊँगली भी करने लगा। माँ पागल होने लगी थी। मैंने खूब ऊँगली की। खूब रस पीया। फिर अपना 7” लंड हाथ से पकड़कर चूत पर सेट किया और हल्का धक्का दिया। लंड अंदर चला गया।

मैं उसे जल्दी जल्दी चोदने लगा। वो “अई…..अई….अई… अहह्ह्ह्हह…..सी सी सी सी….हा हा हा…”करने लगी। अंदर से मेरी सौतेली माँ कितनी गोरी और जवान माल थी, ये तो मैंने आज जाना था। अपनी 26 साल की माँ को जल्दी जल्दी पेल रहा था। वो सिर्फ मेरी आँखों में देख रही थी। मैं जोश में आ गया और किसी नीग्रो आदमी की तरह मैंने उसके गले के नीचे सीधा हाथ डाल दिया और उसे अपनी तरफ झुकाकर जल्दी जल्दी चोदने लगा। जसलीन की माँ चुद गयी। मैंने भी उसे दिखा दिया की 20 साल का लौंडा मस्त चुदाई कर सकता है। फिर मैंने अपने दोनों हाथ उसके गले के नीचे डाल दिये और उसे हल्का सा हवा में उपर उठा दिया और हूँ.. हूँ.. हूँ .. बोलकर मैंने जल्दी जल्दी ठुकाई शुरू कर दी। सौतेली माँ जी अब “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..”की आवाजे मुंह खोलकर निकाल रही थी।  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
“ओह्ह गॉड!… ओह्ह गॉड!….फक मी हार्डर!….कमाँन फक मी हार्डर!…फक माई पुसी!!” चिल्ला रही थी। मैंने भी सोचा की जब मेरी माँ एक अल्टर औरत है और चोदने को प्रार्थना कर रही है तो आज इसे पेल पेलकर इसकी भोसड़ी फाड़ दो। आज इसकी प्रार्थना को पूरा कर दो। मैंने ध्यान लगाकर मेहनत से 30 मिनट अपनी सौतेली माँ जसलीन को चोदा। फिर हांफते हाँफते माल उसकी चूत के छेद में छोड़ दिया। मैं उसके ऊपर ही लेट गया। हम दोनों को पसीना आ गया था। मेहनत खर्च हुई पर मजा भी खूब आया। कहानी आपको कैसे लगी

DMCA.com Protection Status

कहानी शेयर करें :
loading...