चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

कमीने जीजा ने बॉस से मुझे चुदवाया, उसका लंड बदबूदार था

loading...

मैं आप की सेक्सी निशि आज आप के लिए एक मस्त इंडियन सेक्स स्टोरी ले के आई हूँ. मैं 23 की हो चली हूँ और मेरा फिगर 34 26 34 का हे.. मैं अपनी दीदी की प्रेग्नन्सी में जीजा के घर गई थी. तब वहां पर जीजा से अफेयर कर बैठी थी. और वो मुझे खूब चोदते थे. फिर वो मुझे एक दिन अपनी ऑफिस में ले गए. वहां पर उन्होंने बॉस को मेरा इंट्रो एस अ वाइफ ही करवाया.

जस्सी: सर आप मेरे प्रोमोशन का कुछ करो ना देखो मैं अपनी वाइफ को भी ले के आ गया. और फिर जीजा जस्सी ने मेरे कान में कहा एक रंडी के जैसे मेरे बॉस का लंड ले लो. वो मुझे प्रोमोशन दे देंगा खुश हुआ तो. मैं एकदम से दंग रह गई मैंने अपनी लाइफ में ऐसा कभी नहीं सोचा था की मेरे जीजू जस्सी इतने गिर सकते हे. साले कुत्ते कमीने ने ममुझे अपने गन्दी शकल वाले बॉस के हवाले कर दिया था. और वो उम्र में भी एक बूढा ही था.

बॉस ने मेरे कंधे के ऊपर हाथ रख के कहा, शरमाओ नहीं ये यहाँ इस ऑफिस का रुल हे जिसको प्रोमोशन चाहिए होता हे वो मुझे भोग देता हे अपने घर की औरतों का. तुम काफी सेक्सी हो वैसे! उसने मुझे चेयर के ऊपर बिठा दिया अपनी और वो मेरे बदन को देखने लगा. फिर वो निचे झुका और अपने होंठो से मुझे टच करने लगा. मैंने भी उसे किस दी क्यूंकि जीजा ने ऐसा कहा जो था की इस बॉस को खुश करना हे वरना वो मुझे आगे से चोदेगा नहीं. बूढ़े बॉस ने अब धीरे से मेरे बूब्स को अपने हाथ में ले के दबाये.

loading...

वो बोला, डार्लिंग अपनी टी=शर्ट तप उतार दो.

loading...

मैंने सोचा की मना किया तो जीजा गुस्सा करेगा और उसका प्रोमोशन भी अटक जाएगा. तो मैंने अपनी टी-शर्ट उतार दी और मैं इस बूढ़े की गोदी में बैठ गई. वो जैसे एकदम से पागल हो गया और मुझे बदन के ऊपर बाइट्स करने लगा. मैंने उसे अच्छा फिल करवाने के लिए पेंट्स मैं हाथ डाल के उसके लंड को सहलाया. वो मुझे फिर से किस करने लगा.

मैं बोली: सर यहाँ पर थोडा कम्फर्टेबल नहीं हूँ मैं, फिर कभी कोई अच्छी जगह चले?

बॉस: क्यूँ नहीं जानेमन पहले इसे तो अपना मजा दे दे और उसने ये कह के अपने लंड की तरफ इशारा किया.

मैंने सोचा की इस खड़े लंड को अब कैसे शांत करूँ. मैंने कहा, सर मैं लंड बहुत मस्त चुस्ती हूँ, क्या आप ममुझे मुहं में देना चाहते हो?

बॉस: वाऊ स्योर बेबी कम ओन सक माय डिक.

मैंने बॉस का काला और गन्दा लंड अपने मुहं में ले लिया और चूसने लगी. मैंने ऐसा लंड चूसा की इस बूढ़े को ऐसा मजा तो अपनी लाइफ में कभी नहीं मिला होगा. और जब मैंने उसे एकदम चरम सीमा पर ला खड़ा किया तो वो बोला, मुहं खोलो मैं चहरे के ऊपर कमशॉट दूंगा. साले ने मेरा मुहं एकदम से बिगाड़ दिया. और वो बड़ा खुश हुआ मेरे लंड चूसने के ढंग से और बोला, साली क्या गजब की छिनाल मिली हे जस्सी को. मेरे पास ऐसी बीवी होती तो मैं दिनभर चोदता रहता बस. मैंने टिश्यू से अपने चहरे को साफ़ किया और खड़ी हो के कपडे पहनने लगी. मैं बहार तो आ गई लेकिन ऑफिस के सब लोग मुझे ऐसे देख रहे थे की पूछे नहीं. वो लोग भी जानते थे की बॉस की केबिन में अकेली लड़की सिर्फ सेक्स के लिए अन्दर जाती हे!

मैं: जस्सी घर चले?

जस्सी: चल रंडी, अगले हफ्ते ऑफिस के कुछ दोस्तों को भी घर बुलाया हे उनकी भी सेवा करनी हे तुझे.

जैसे तैसे मैं बहार निकली जीजा के साथ और फिर मैं उसके ऊपर गुस्से हो गई. मैंने कहा अरे ये भी कोई तरीका हे प्रोमोशन लेने का, साले हरामीपना हे ये तो पूरा के पूरा. मैं नहीं चुदवाउंगी उस गंदे कुत्ते से और न ही तुमसे!

जस्सी: साली छिनाल, पूरा खानदान रंडीवाला हे तुम लोगों का, तेरी बीवी के पास लाइसेंस हे मेरा लंड लेने का. लेकिन तुझे और तेरी माँ को बी मैं चोद चूका हूँ साली छिनालो की बस्ती की कुतियाओ.

मैं मन की मन में रख गई. दुसरे दिन बॉस के फार्म हाउस के ऊपर ले के गया जस्सी मुझे. वो एक बड़ा फ़ार्म हाउस था. वहां पर ऊँची औलाद के घोड़े और कुत्ते भी थे. साथ में बहुत सब फल और फूलों के पेड़ थे. बॉस बहार बरमूडा पहन के कुर्सी में बैठा था. उसके हाथ में बियर का टिन था. साथ में एक कामवाली थी जो पकोड़े तल के बाइटिंग बना रही थी. जस्सी मुझे जानबुझ के मुझे मिनी स्कर्ट और एकदम टाईट टी-शर्ट में ले के आया था. बॉस ने मुझे देखा तो बोला, वाऊ यु आर लुकिंग सो डाम हॉट बेबी, कम सिट हियर. बॉस ने अपनी गोदी में इशारा किया था. जस्सी ने मुझे एकदम से धकेल दिया और मैं स्कर्ट को एडजस्ट कर के बॉस की गोदी में आ बैठी. काम्वाल्ली ने ये देखा तो वो नीची मुंडी कर के हंस पड़ी. बॉस बोला, बिमला तूम घर जाओ और ये सब सामान भी हटा दो यहाँ से.

जस्सी बोला: सर मैं भी कुछ देर में आता हूँ.

बॉस: मैं कॉल करूँ फिर इसे ले जाना, चाहो तो तुम गेस्ट रूम में ड्रिंक कर सकते हो.

जस्सी: नहीं सर मैं यहाँ रहा तो ये मानेगी नहीं.

एक मिनिट में जस्सी जीजू और कामवाली चले गए. बॉस ने अपने बरमुडे के बटन को खोल के कहा  डार्लिंग उस दिन वाला ओरल सेक्स दे दो आज भी. कसम से वो बड़ा ही होर्नी था मैं रात भर उस लंड चूसने के ढंग को सोच के सो नहीं सका था उस दिन तो. मैं घुटनों के ऊपर बैठ गई और उसके काले लंड को अपने मुहं में भर के चूसने लगी. उसका लंड एकदम कडक और गरम था आज. कस कस के चुस्से लगाए मैंने और लंड को हाथ से भी खूब हिलाया. मैंने सोचा की आज इस लंड का पानी जल्दी से निकाल दिया तो शायद उस दिन जैसे भागने का मौका मिलेगा. लेकिन साला उस दिन तो जगह अनकम्फर्टेबल होने का बहाना था. आज तो पूरा खेत ही था चारों तरफ और माहोल किसी फाइव स्टार रिसोर्ट के जैसे ही था.

मैंने 10 मिनिट तक लंड को चूसा लेकिन लंड में से आ वीर्य नहीं निकल रहा था. बॉस ने मेरे बाल पकड लिए और जोर जोर से मुहं की चुदाई की. फिर वो बोला, आई हेड फकिंग वियाग्रा जस्ट फॉर यु माय लव!

मैंने मन ही मन बोला, बाप रे मर गई बूढा तो लंड को कडक रखेगा पूरा एक घंटा शायद!

मैं डरते हुए लंड को फिर भी चुस्ती रही बूढ़े के लंड में अजब की गर्मी थी. मेरी चूत भी गीली होने लगी थी. फिर बॉस ने मेरे मुह से लंड निकाला और उसने मुझे खड़ा कर दिया. फिर मेरी टी-शर्ट अपने हाथ से खोली और स्कर्ट की ज़िप खोल दी मेर ब्लेक ब्रा और पेंटी उसके सामने थी. वो बोली, यु आर सच अ लवली गर्ल माय लव. फिर उसने मुझे वही खुले में टेबल के ऊपर का सामान हटा के लिटा दिया. मेरी चूत में हाथ डाल के वो टटोल सा रहा था. फिर बोला, उस दिन बहुत मन था मेरा चोदने का लेकिन मैं जबरदस्ती नहीं करता हूँ. मुझे प्यार से चूत लेने की आदत हे!

और ये कह के उसने मेरी चूत में जबान डाल के चाटना चालू कर दिया. मैंने अपने हाथ से टेबल को कस के पकड लिया. बॉस की लम्बी जबान मेरी चूत की गहराई में थी और मैं आह आह ओह ओह करने लगी थी. वो मेरी गांड को पकड़ के मस्त चूत चूसने लगा था. मेरी अन्तर्वासना जाग सी गई थी. और वो और भी हॉट ढंग से चूसता गया.

कुछ देर के बाद वो चूत से मुहं निकाल के बोला, तेरा पानी तो मस्त नमकीन हे डार्लिंग!

उसे पता चल गया था की मैं झड़ गई थी!

फिर वो खड़ा हुआ और बोला, चल अब मेरे लंड को ले ले अपनी बुर में. इतना कह के बॉस ने अपने गंदे तगड़े लंड को मेरी चूत पर लगा दिया. एक झटके में उसने लंड को अंदर डालना चाहा जिसकी वजह से मुहे बड़ा दर्द हुआ. मैं आःह्ह्ह ऐईईई अह्ह्ह्ह कर उठी. इस अनुभवी बूढ़े ने जल्दी से मेरे होंठो के ऊपर किस कर ली और बूब्स दबाने लगा जिस से मेरा दर्द थोडा कम हुआ. लेकिन अभी भी उसका बड़ा लंड मुझे चिभ रहा था और मेरी चूत को जला रहा था!

उसके धक्के एक मिनिट के बाद चालु हो गए. वो मेरे बूब्स को मसलते हुए मेरी चूत की चुदाई करने लगा. साथ में वो बिच बिच में मेरी तारीफ़ भी करता था की तुम्हारी चूत बड़ी मखमली हे और चोदने का बड़ामजा आ रहा हे. बॉस का बूढा लंड मरी चूत को चीरते हुए मेरी बच्चेदानी को हिला रहा था. जब उसका सुपाडा वहां पर टच होता था तो मेरे बदन में करंट दौड़ जाता था. मैंने आह आह आह कर के चुद्वाती रही उसके लम्बे लौड़े से.

फिर बॉस ने मुझे घोड़ी बना दिया. मैं टेबल को साइड से पकड़ के खडी हो गई और मेरे पैर जमीन पर थे. बॉस ने इस पोस में भी मुझे और 10 मिनिट तक चोदा.

और फिर वो बोला, चलो अब मैं निचे लेट जाता हूँ तुम मेरे लंड की सवारी करो.

मैंने इस पोस में भी 12-13 मिनट चुदवा लिया. उसने फिर से मुझे निचे लिटा के चोदा तब जा के उसकी चूत हुई. इस बिच में मैं तो 5 बार झड़ गई थी और थक भी गई थी. बॉस का गाढ़ा वीर्य बदन पर ले के मैं कुछ देर तो बस लेटी रही.

कपडे पहनने के बाद जीजा जस्सी को कॉल किया तो वो अपनी कार में मुहे लेने के लिए आ गए.

कार में उसने पूछा, कैसे लगा बॉस से चुदवा के. मैंने एक जोर का मुक्का जस्सी की छाती में मारा और बोली, कुत्ते कहीं के! जस्सी बोले, साली छिनाल अब तो वो रेग्युलर तेरे से सेक्स के लिए कहेगा मेरी रानी!

loading...