चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

माँ को मेरे सबसे अच्छे दोस्त ने चोद दिया

loading...

हाई दोस्तों मैं सोनू हूँ महाराष्ट्र से. ये कहानी मेरी माँ और मेरे बेस्ट फ्रेंड की हे मेरी माँ का नाम शालू हे जो एक हॉट इंडियन लेडी हे. उसके बड़े बूब्स, गांड हे और उसका रंग साफ़ हे. माँ की गांड इतनी बड़ी हे की कोई भी उनका दीवाना हो सकता हे. उनकी उम्र 46 साल हे पर वो 36 की भी नहीं लगती हे. मेरी फेमली में डैड जिनका मिठाई का शॉप हे, माँ, मेरिड बहन बिंदिया और एक भाई विशाल हे जो पूने में रहता हे. ये बात तक की है जब मैं 12 वी कक्षा में पढाई करता था. अभी मैं इंजीनियरिंग की पढाई कर रहा हूँ. कोल्हापुर वैसे पतंग के लिए फेमस हे. तो मेरा फ्रेंड जुनेद मेरे घर के टेरेस पर मेरे साथ मिल के पतंग उड़ाता था. जुनेद मेरे घर से कुछ ही दूर रहता हे और वो मेरा बहुत लम्बे समय से बेस्ट फ्रेंड हे. वो हर रोज आता था मेरे घर पतंग उड़ाने के लिए. जब हम पतंग उड़ाते थे तब मेरी माँ वही प्लांट्स को पानी डाला करती थी. और जुनेद मेरी माँ को घूरता था और माँ को ये पता था की वो उन्हें घुर रहा हे. मैं जनता था पर ये सब को नजरअंदाज कर लेता था. क्यूंकि मुझे अच्छा लगता हे जब कोई मेरी मम्मी को ऐसे गन्दी नजर से देखे! मैं मेरी मोम को किसी और से चुदते हुए देखना चाहता था. मोम रोज हमें चाय बना के देती थी और जुनेद चाय लेंने के बहाने से अक्सर माँ के हाथ को टच कर लेता था. मम्मी जुनेद के साथ बड़ी फ्रेंडली सी थी.

वो हमेशा उनसे मजाक करता था. मजाक मजाक में कंधे पे हाथ रखता था. मोम भी उसे मन नहीं करती थी.  कभी कभी पक्के इरादे से जुनेद माँ की गांड पर भी अपना हाथ लगा देता था फिर भी मोम गलती से लग गया होगा कर के कुछ ध्यान नहीं देती थी. एक दिन पापा को काम  से पूना भैया के पास जाना पड़ा तो मूझे उन्होंने शॉप पर बिठा दिया और वो चले गए. हर रोज की तरह जुनेद मेरे घर आया और टेरेस पर गया. उसने देखा की माँ प्लांट्स को पानी पिला रही थी. वो पीछे से दबे पाँव गया और बोला, आंटी सोनू किधर हे. तो मम्मी ने कहा की वो दूकान पर हे क्यूंकि आज उसके पापा पूना गए हुए हे. माँ ने आगे कहा की सोनू अब तो रात को दस बजे दूकान बंध कर के ही आएगा. जुनेद बोला ठीक हे.

और फिर जुनेद वही टेरेस पर मेरी मोम से बातें करने लगा. उस दिन माँ ने ओरेंज कलर का ड्रेस पहन रखा था. मम्मी घर में दुपट्टा नहीं पहनती हे तो उनका क्लिविज यानी की बूब्स के बिच की गली साफ़ दिखा दे रही थी. फिर जुनेद ने मोम से कहा क्या बात हे आंटी आज बहुत सुन्दर लग रही हो आप तो! माँ ने हँसते हुए कहा की थेंक यु और ये कह के माँ ने जुनेद के कंधे के ऊपर अपना हाथ रख दिया. फिर माँ ने कहा क्या मैं रोज सुन्दर नहीं लगती हु? तो जुनेद ने कहा आंटी ऐसे नहीं, आप रोज अच्छी ही लगती हो लेकिन आज इस संतरे रंग के ड्रेस में आप का बदन चहकता सा लगता हे. और फिर जुनेद ने माँ के कंधे के ऊपर हाथ रख के कहा, वैसे आप की उम्र जितनी हे उतनी लगती नहीं हे. माँ ने कहा बड़ा बदमाश हो गया हे तू बेटा, ये कह के माँ ने उसे स्माइल भी दी. जुनेद ने कंधे से हाथ वापस लेते हुए इंटेंशन के साथ उसकी चुन्ची तरफ मोड़ा और हाथ निचे करते वक्त उसने हाथ से बूब्स को टच कर लये. माँ ने अपना ड्रेस ठीक किया. ओरेंज टॉप के अन्दर ब्लैक ब्रा थी उसकी पट्टी को भी माँ ने सही किया एक हाथ से. और फिर मम्मी अपने काम में लग गई. फिर मोम ने जुनेद से पूछा चाय बनाऊं न? तो जुनेद ने कहा आंटी भला आप के हाथ की चाय को कोई कैसे ना बोल सकता हे! आप के हाथ में तो जादू हे. माँ को भी ये फ्लर्टिंग अच्छा तो लग रहा था लेकीन वो बोली, चल हट बदमाश.

loading...

फिर मेरी मम्मी चाय बनाने के लिए चली गई. जुनेद माँ के जाते ही उसकी पीछे खिली हुई बड़ी गांड को देखने लगा. मटकती हुई गांड ने जुनेद के लंड में अजब सी गर्मी भर दी. फिर वो खड़े लौड़े के साथ प्लांटस को पानी देने लगा. माँ जब चाय ले के आई तो देखा की जुनेद प्लांट्स को पानी दे रहा था उन्होंने चाय रखी और कहा अरे बेटा ये क्यूँ कर रहे हो? जुनेद ने कहा आंटी आप बैठी मैं कर लूँगा, आप रेस्ट करो. जब माँ उसके और जाने लगी तो उसने पाइप से कुछ पानी माँ के ऊपर डाल दिया. माँ चिल्लाने लगी अरे ये क्या कर रहे हो जुनेद. लेकिन जुनेद नहीं रुका और उसने मेरी मम्मी को पूरा भिगो दिया.

loading...

तो माँ बोली, ये क्या था जुनेद! तो बोला आंटी आप के साथ मस्ती कर रहा था. फिर वो माँ के पास आया और मम्मी के भीगे हुए बदन को देखने लगा.

उनकी ब्लेक ब्रा अब ड्रेस के ट्रांसपेरेंट होने की वजह से एकदम क्लीन दिख रही थी.जुनेद ने कहा सोरी आंटी मैं तौलिया ले के आता हु. और वो निचे कमरे से एक तोवेल ले के ऊपर आया. माँ ने अपने बालों को खोल दिया था और खुलें बालों में तो मेरी सेक्सी माँ सेक्स की देवी सी लग रही थी.

जुनेद ने मोम के बाल तोवेल से सुखाने का चालू कर दिया. माँ बोली तुम मत करो मैं कर लुंगी. तो जुनेद ने कहा आंटी भिगोया मैंने था तो सुखाऊँगा भी मैं ही ना!

फिर बाल सुखाते हुए वो मेरी माँ की गांड को देखने लगा और उसका 7 इंच लम्बा और ३ इंच मोटा लंड एकदम खड़ा हो गया. फिर वो थोडा पास गया मम्मी के तो उसका लंड माँ की गांड के क्रेक पर लग गया. माँ को वो फील हुआ पर उन्होंने कुछ भी नहीं कहा!

ये देख कर जुनेद के अन्दर का सेक्स और हिम्मत और भी बढ़ गए. उसने थोडा धक्का लगा के माँ के कूल्हों के ऊपर अपना लंड प्रेस किया. इस बार मम्मी ने पीछे मुड़ के जुनेद को देखा. जुनेद डर सा गया पर माँ के दिमाग में कुछ और ही चल रहा था. उसने जुनेद का माथे को पकड़ के अपनी तरफ खिंचा और उसके होंठो को अपने होंठो से किस दे दी.

किस से तो जुनेद बेकाबू सा हो गया और मोम को किस करने लगा जोर जोर से. और उसके हाथ मेरी मम्मी के देसी बूब्स पर चले गए. जुनेद का जनून इसलिए बढ़ता जा रहा था क्यूंकि मेरी माँ भी उसका पूरा सपोर्ट कर रही थी..

फिर माँ ने कहा, रुको चलो नीचे चलते हे यहाँ कोई देख लेगा. जुनेद ने माँ को अपने मजबूत बाहों में उठा लिया. और अब भी उसका लोडा माँ के गांड पर ही था. माँ उसकी आँखों में एक प्रेमिका के जैसे देख रही थी और बोली, तुम बहुत दिन से ट्राय कर रहे थे वो मुझे पता था. जुनेद ने कहा, मैं पतंग उड़ाने नहीं आप को देखने ही आता था. फिर रोज रात को चादर में आप के नाम की मुठ मारता था. माँ हंस पड़ी और बोली पहले कह दिया होता. जुनेद ने कहा डर लगता था.

ये बातें ख़त्म हुई तो बेडरूम भी आ गया. जुनेद ने माँ को निचे रखा. माँ ने अपने ड्रेस के बटन खोले और जुनेद ने भी अपने कपडे खोले. जुनेद का सात इंच का लंड देख के मम्मी तडप सी गई. जुनेद ने मम्मी के सब कपडे खोले और अपना सात इंच का लोडा उसने मम्मी की क्लीन शेव्ड चूत के ऊपर लगा दिया. एक ही झटके में उसने पुरे लंड को चूत में परो डाला. मम्मी को लंड अन्दर घुसने से बड़ा दर्द हुआ और वो चीख पड़ी, अह्ह्ह्हह्ह मर गई!

और जुनेद अब अपने लौड़े को जोर जोर से धक्के लगा के मम्मी की चूत में मारने लगा. माँ को बड़ा दर्द हो रहा था इस बड़े लौड़े से और वो कराह रही थी और बोल रही थी, अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह ऊउईईइ माँ मररररररररररर गई, बाप रे कितना मोटा हे तेरा जुनेद बेटा. जुनेद ने निचे झुक के माँ की चुन्चिया चुसी और फिर वो होंठो पर भी चूमने लगा. और साथ में वो बुर चोदी तो चालू ही रखे हुआ था. कुछ 10 मिनिट तक उसने मेरी माँ की चूत को बजाया. पहले मम्मी को बहुतदर्द हुआ लेकिन फिर वो भी जुनेद के लौड़े को मजे से भोगने लगी थी. उसने भी खूब गांड हिलाई लंड को डीप तक लेने के लिए. जुनेद बोला आंटी मेरा पानी निकलेगा, मम्मी ने कहा प्लीज़ अन्दर नहीं.

जुनेद ने एक अह्ह्ह्ह कर दी और फटाक से लंड को चूत से बहार निकाल दिया. उसके लंड से गाढ़ा पानी बह निकला और वो सब वीर्य माँ के भोसड़े पर ही छोड़ने लगा.

वो खाली हो के मम्मी की बगल में ही लेट गया. माँ ने उसको एक किस दिया और कहा तुम मेरी सालों की प्यास बुझाने के लिए ही आये थे आज बेटा. और फिर उसने जुनेद के लंड को पकड़ के कहा, बड़ा मस्त हथियार हे तुम्हारा, किसी को कुछ बोलना मत हम दोनों ऐसे ही मिलते रहेंगे और एक दुसरे को खुश करेंगे! जुनेद ने कहा ठीक हे आंटी. माँ ने मेरे दोस्त जुनेद के होंठो पर हाथ रख दिया, अब कोई आंटी शांटी नहीं, मैं आज से तुम्हारे लिए सिर्फ और सिर्फ शालू हूँ!

जुनेद ने माँ की चुंचियां मसलते हुए कहा, ठीक हे शालू मेरी जान.

माँ ने कहा, अगली बार जब तुम आओ तो साथ में कंडोम का पैकेट भी ले आना, और फिर मैं तुम्हे पानी अन्दर छोड़ने दूंगी.

loading...