चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

मां बनने के लिए अपने बूढ़े ससुर से पूरी रात चुदवाती रही

loading...

New Sex Stories मैं रानी आप सभी का इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम में बहुत बहुत स्वागत करती हूँ। मैं कई सालो से सेक्स कहानी पढ़ रही हूँ। मेरी उम्र 23 साल है और दो साल पहले मेरी शादी हो चुकी है।मेरे ससुराल में मेरे मेरी सास, ससुर और मेरे पति और मैं रहती हूँ। शादी से पहले जब मैं बिलकुल जवान हुई थी तब मैं बहुत ही हॉट और सेक्सी लगती थी। मेरा फिगर 32 -24- 36 है और जिससे मेरा पूरा बदन बहुत ही फिट है। मैं देखने में तो गोरी और सुंदर तो ही हूँ लेकिन मेरा बदन तो और भी कोमल और काफी चमकीला। अगर मेरी चूची की बात करे तो वो तो लाजवाब है। मेरी चूची देखने में बहुत ही गोरी और सुडोल और काफी मुलायम बिलकुल रुई की तरह और बहुत ही सॉफ्ट है। मुझे अपनी चूची बहुत अच्छी लगती है। शादी से पहले जब मेरा मूड बनता था तो मैं अपनी चूची के निप्पल को सहलाते हुए अपने स्तन को खूब दबाती थी और अपनी चूत से भी खूब खेलती थी। शादी से पहले मेरा एक बॉयफ्रेंड था जो की मेरे घर के बगल में ही रहता था। एक बार मेरे घर पर कोई नही था, मैंने उसको बुला लिया उसने उस दिन मेरी पहली चुदाई की। मेरी पहली चुदाई तो बहुत ही गजब की थी। और फिर धीरे धीरे समय बिता और मेरे घर वालो ने मेरी शादी करवा दी।

मेरी शादी के बाद मुझे अपने ससुरल में रहन पडता था और मेरे पति बहुत ही जोशीले और चुदाई के प्यासे थे, उन्होंने मुझे पहले ही दिन से चोदना शुरू कर दिया था और रोज रात को सबके सोने के बाद मेरी चुदाई करते थे। लेकिन उनकी चुदाई से बहुत मज़ा आता था। उनके मोटे लंड से मेरी चूत तो फैलने लगी थी और रोज मुझे चोदते रहे। शादी के एक साल तक तो वो मुझे केवल चोदने के लिए पेलते थे।
जब एक साल से ऊपर हो गया तो मैं चाहती थी मैं माँ बन जाऊ और घर में एक छोटा बच्चा आ जाये। इस लिए मैंने अपने पति से कहा – मुझे एक बच्चा चाहिए और मैं चाहती हूँ तुम मुझे जल्दी से जल्दी प्रेग्नेंट कर दो। तो मेरे पति ने कहा – ठीक है मैं जल्दी ही कर देता हूँ।
उसी दिन रात को उन्होंने मेरी खूब चुदाई की और अपने वार्य को मेरी चूत के अंदर ही गिरा दिया। मैं बहुत खुस थी क्योकि मैं माँ बनने वाली थी। मेरे पति रोज मुझे चोदते और अपने माल को मेरी चूत अंदर रोज गिरा दिया करे। ऐसा कुछ दिन चलता रहा और 6 महीने बीत गए लेकिन मैं फिर भी माँ नही बनी।
एक दिन मैंने अपने पति से कहा – मैं दो साल होने वाले है मैं अभी तक माँ नही बन पाई हूँ और सासु माँ एक दिन कह रही थी मुझे एक बच्चा चाहिए तो मैंने उनसे कह दिया है ठीक है। मुझे तो लगता है हमें किसी डॉक्टर के पास चलना चाहिए. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
तो मेरे पति ने कहा – हो जायेगा इतनी भी क्या जल्दी है। अभी कुछ दिन और देख लो अगर नही होगा तो डाक्टर को भी दिखा लेंगे।
धीरे धीरे समय और भी बीता लेकिन माँ नही बनी। एक दिन मेरे ससुर ने भी मुझ से कह दिया मुझे पोता चाहिए कब दे रही हो बहु। मुझे उस दिन किसी बात पर बहुत गुस्सा आया हुआ था। तो मैंने अपने ससुर से कहा – मेरे हाथ में होता हो कब का आप को आपका पोता दे देती लेकिन आप का बेटा मुझे माँ ही नही बना पा रहा है। मैं तो उससे एक साल से कह रही हूँ लेकिन वो पता नही क्यों बाप नही बन पा रहे है

तो मेरे ससुर ने कहा – मैं बात करता हूँ उससे। मेरे ससुर ने बात की मेरे पति से और उनसे कहा किसी डॉक्टर को दिखाओ। डाक्टर को दिखने के बाद पता चला की मेरे पति कभी बाप नही बन पाएंगे लेकिन ये बात केवल मुझे ही पता थी। मैंने ये बात केवल अपने ससुर को बताई। मेरे ससुर बहुत रंगीन थे और उनकी नजरो से लगता है की वो हमेसा किसी न किसी को चोदना चाहते है लेकिन उनको चूत नही मिलती है। तो मेरे ससुर ने मुझसे कहा – ये बात किसी को भी पता नही चलनी चाहिए। तुमको बच्चा चाहिए तो अगर तुम कहो तो मैं तुमको बच्चा दे सकता हूँ और तुम सबसे कहना कि ये बच्चा तुम्हरे पति का है। मैं सोच में पड गई और फिर बहुत देर तक सोचने के बाद मैं अपने ससुर से चुदने के लिए तैयार हो गई और मैंने अपने ससुर से कहा ये बात किसी को पता नही चलनी चाहिए। मेरे ससुर ने मेरे हाथ को पकड़ते हुए मेरी चूची को अपने हाथ में ले लिया और मेरी चूची को दबते हुए मुझसे कहा – रात को सबके सोने के बाद चुपके से घर के पीछे वाले कमरे में आ जाना मैं तुम्हारा वहीँ पर इंतजार करूँगा।
उस रात मैं पहले मेरे पति ने मेरी खूब जम कर चुदाई की और फिर मेरी चुदाई करने के बाद जब वो सो गए तो मैं चुपके से घर के पीछे वाले कमरे में चली गई वहां मेरे ससुर पहले से ही मेरी चूत को चोदने के लिए बैठे हुए थे। जैसे ही मैंने वहां पहुंची। मेरे ससुर ने कहा – अपने कपडे निकालो चुदाई शुरु करते है। तो मैंने उनसे कहा – बस खाली चुदाई उससे पहले भी बहुत कुछ होता है। तो मेरे ससुर ने कहा – मैं अभी तक तुम्हारी सास की केवल चुदाई ही की है और कुछ मुझे पता ही नही है।
तो मैंने उनसे कहा – कोई बात नही मैं हूँ मैं आप को सब सिखा दूंगी।

loading...

मैंने पहले अपने ससुर को अपने बाँहों में बहर लिया और फिर मैंने उनसे किस करने को कहा तो वो मुझे चुम्मा लेने गए। मैंने उनसे कहा – रुको मैं बताती हूँ कैसे किस करते है। मैंने अपने ससुर के हाथ को अपने कमर पर रखा और फिर उनके होठ को चुमते हुए मैंने उनके निचले होठ को चूसने लगी और कुछ देर उनके होठ को चूसने के बाद मैंने उनसे कहा इस तरह से किस करते है। कुछ देर बाद जब मेरे ससुर भी जान गए किस करना तो मेरी कमर को सहलते हुए मेरी चूची को दबाते हुए मेरे होठ को पीने लगे और मेरे निचले होठ को काटते हुए मुझे बहुत ज्यादा उतेजित करने लगे थे जिससे मैंने भी उनको और कास कर पकड लिया और उनके होठ को पीने लगी।
जोश में मेरे ससुर लगभग 5 मिनट तक मेरे होठ को पीते हुए मेरी चूची को जोर जोर से दबा रहे थे। मेरे होठ को पीने के बाद उन्होंने मेरे और अपने कपड़ो को निकाल दिया और मेरे बदन को सहलते हुए मेरी पूरी शरीर को चूमने लगे और मेरी चिकने बदन को चुमते हुए अपने लंड को सहला रहे थे। कुछ देर बाद उन्होंने मुझे लिटा दिया और मेरी कमर को सहलते हुए मेरी चूची को अपने दोनों हाथो से पकड कर जोर जोर से मसलने लगे और और मेरे मम्मो के निप्पल को खीचने लगे। जिससे मैं और भी ज्यादा मदहोश होने लगती। कुछ देर मेरे दूध को दबाने के बाद वो मेरी दूध को पीने लगे और अपने दांतों से मेरी चूची को काटने भी लगते थे। कुछ देर तो मुझे भी मज़ा आ रहा था लेकिन जब वो मेरी चूची के निप्पल को अपने जीभ से गोल गोल करते हुए अपने दांतों से पकड कर खीचने लगे तो मैं मैं तो पागल होने लगी और अपनि चूत को सहलाती हुई उस दर्द को सह रही थी। लेकिन कुछ देर बाद वो दर्द मुझसे सहा नही गया और मैं मदहोश होकर जोर जोर …… आह्ह्ह्ह अहह ..अह उफ़ उफ़… फ्फ्फ ओह्ह ..ओहो होह्ह्ह …. ऊंहू उनहू उहं ….उह्हं उहं उनहू ……करके सिसकने लगी और मेरे ससुर मेरी चूची को पीते रहे।

loading...

बहुत देर तक मेरी चूची का रस पान करने के बाद मेरे ससुर मेरी चुदाई करने वाले थे और उन्होंने अपने लैंड को निकाला और मेरे चूत में लगाने जा रहे थे मैंने उनके लंड को पकड लिया और फिर उनके लंड को सहलते हुए मैने उनसे कहा – पहले मुझे अपना लंड चुसो फिर मेरी चुदाई करना। तो मेरे ससुर ने अपने लंड को मुझे चूसाने के लिए मेरी चूची में लगाते हुए मेरे मुह के पास ले गए और मैंने अपने हाथ से उनके मोटे से लंड को सहलाते हुए अपने मुह में ले लिए। और फिर उनके लंड को चूसते मैं उनके दोनों गोली को भी अपने मुह में ले लेती थी जिससे मेरे ससुर भी मदहोश होने लगते थे और और मुझे अपने लंड को जोर जोर से चुसाने लगते थे। कुछ देर बाद जब मैं बहुत जोश में आ गई तो मैं उनके लंड को चूसते हुए काटने लगी जिससे मेरे ससुर ने कुछ देर बाद अपने लंड को मेरे मुह से निकाल लिया और फिर मेरी चुदाई करने लिए उतावले होने लगे और मेरी चूत को छुते हुए अपने लंड को मेरी चूत में लगाया और फिर अपने मोटे लंड को मेरी चूत के अंदर धीरे से डाल दिया। मेरे पति मुझे इतना चोद चुके थे कि मेरे ससुर का लंड मेरी चूत में जान हो नही पड रहा था। कुछ देर तो मेरे ससुर में चोदा लेकिन मुझे कुछ पता ही नही चला। लेकिन कुछ देर बाद पता नही क्या हुआ की उनका लंड धीरे धीरे और भी बड़ा होने लगा ऐसा लग रहा था जैसे वो अब जोश में आये हो। जब उनका लंड पूरी तरह से बड़ा हो गया तो उनका लंड मेरी ढीली चूत में भी टाईट हो गया था और मेरे ससुर मुझे अपने पुरे जोर से चोदने लगे। वो अपने लंड को झटके से मेरी चूत मे डालते जिससे मैं भी पीछे की ओर खिसिक जाती और उनके झटके से मेरी चूची आगे पीछे हो रही थी।

दोस्तों मेरे ससुर का लंड तेजी से मेरी चूत में जा रहा था और फिर कुछ देर बाद मेरी चूत से बाहर आता। उनके लंड से मेरी चूत फटने लगी थी और उनके लंड और मेरी चूत की चुदाई से मेरी चूत से चट चट चट चट चट …. की आवाज़ आ रही थी और मेरे मुह से जोर जोर ……उंह उंह आह्ह्ह अह्ह्ह अहह….. ओह्ह उफू उफ़ हा हा हा ……ऊँ ऊ ऊ …. उ उ उ उह उह ओह ओह …. माँ माँ….ओह माँ……मम्मी…..मम्मी……सी सी सी सी…….. प्लीसससससस……प्लीसससससस… प्लीसससससस…..प्लीसससससस बस करो आः आह बहुत बहुत दर्द ही रहा है प्लीसससससस…….प्लीसससससस,,……मम्मी आह आआह्ह्ह्ह उन्ह उहं उहं…… करके चीखने लगी थी और मेरे ससुर जानवरों की तरह से मुझे चोद रहे थे और चोदते हुए मेरी चूची को भी जोर जोर से मसल रहे थे। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
कुछ देर बाद वो मुझे और भी तेजी से रगड़ते हुए चोदने लगे और मैं उनके लंड को दर्द से पागल हो रही थी और अपनी चूत को मसलते हुए चीख रही थी। कुछ देर में तो ऐसा लग रहा था की कहीं मेरी चूत फट कर अलग न हो जाये। लेकिन कुछ देर बाद उनका लंड मेरी चूत के अंदर ही ढीला हो गया क्योकि उनके लंड का माल मेरी चूत के अंदर गिर गया।
मेरी चुदाई लगातार करने से मैं कुछ दिन में हो प्रेग्नेंट हो गई और फिर 9 महीने के बाद मुझे एक लड़का हुआ।

कहानी शेयर करें :
loading...