इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम के सभी पाठक पाठिका को दीपावली की ढेर सारी शुभ कामनाये। दीपावली की छुट्टियाँ शुरू हो गयी है, यहाँ कहानियाँ पढ़िए और चुदाई का आनंद लीजिये। ठण्ड और छुट्टियों का असली मजा चूत और लंड के खेल में है, अगर आपकी चुदाई का जुगाड़ नहीं है तो लड़के और लड़कियां अपने प्रेमी प्रेमिका को याद करते हुए लड़के मुट्ठ मारे और लड़किया चूत में ऊँगली करें।

माला आंटी के होठो से जादा गुलाबी है उनकी चूत के होठ

loading...

sex stories मेरा नाम राहुल है। मैं बुलंदशहर का रहने वाला हूँ। मेरे पडोस में माला आंटी रहती थी। वो अल्टर माल थी। पडोस के मर्दों से चुदवा लेती थी। दोस्तों माला आंटी की खूबसूरती का मैं क्या बखान करू। वो बड़ी सेक्सी और लाजवाब औरत थी। उनकी उम्र 34 साल थी पर देखने में बिलकुल 20 साल की कुवारी लड़की लगती थी। हेमा की तरह सदाबाहर यौवन था उनका। जिस्म नीचे से उपर तक सेब का पेड़ था। आंटी के जिस्म में कई तरह से रसीले फल थे। उसके दूध 38” के थे। मीठे और बड़े रसीले। मेरे मोहल्ले में जितने भी मर्दों से माला आंटी को नंगा करके चोदा था सबने बताया था की उसकी रसीली चूचियों को चूसकर उनको बड़ा मजा आया।
ये मस्त मस्त बाते सुनकर मेरा लंड खड़ा हो जाता था। मैं माला आंटी के आस पास चक्कर काटने लगा। उनको पटाने लगा। आंटी का रंग किसी अंग्रेज की तरह गोरा था। चेहरे की छवि काफी खूबसूरत थी। काले काले बालों को खोलकर जब माला आंटी सुबह 8 बजे अपनी बालकनी में खड़े होकर तौलिया से अपने गीले बालों को पोछती थी तो वो बेहद हॉट माल लगती थी। कितने मर्द और लड़के अपने अपने घरो की खिड़कियों से छिप छिपकर माला आंटी को देखते थे। वो साड़ी ब्लाउस ही पहनती थी। पर कभी कभी सुबह शाम आंटी के दर्शन लाल रंग की मैक्सी में हो जाते थे। दिल करता था की अभी जाकर इनको चोद डालूं।     ये कहानी आप इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

loading...

माला आंटी को गाना गाने का बड़ा शौक था। मुझे वो रोज गाना सुनाती थी। नई नई फिल्मो के गाने वो एक बार में ही याद कर लेती थी, आंटी को मैं ब्लाउस पेटीकोट में देख चूका था। दोस्तों इसमें तो वो बहुत हॉट लगती थी। मैं तडप रहा था। बार बार सोच रहा था की आखिर मुझे जब माला आंटी की रसीली चूत चोदने को मिलेगी। आंटी का पति से तलाक हो गया था। वो अपने 3 बच्चों के साथ अब रहती थी। एक दिन शाम को मैं माला आंटी से व्हाट्सअप पर चैटिंग कर रहा था। उस वक़्त रात के 9 बजे हुए थे। अचानक मैंने आंटी को कुछ नंगी तस्वीरे चुदाई वाली भेज दी। वो तस्वीरे देखकर वो बुरा मान गयी।
“ये सब क्या है राहुल??? ये चुदाई वाली फोटो क्यों भेजी है??” उधर से माला आंटी ने लिखकर पूछा
“आंटी! मेरा गर्लफ्रेंड से ब्रेक अप हो गया है। इसलिए अब चूत तो चोदने को मिलती नही। अब इस तस्वीरों को देखकर मुठ मार लेता हूँ। अपने दोस्त को भेज रहा था। गलती से आपको सेंड हो गयी” मैंने कहा
धीरे धीरे आंटी मुझसे सेक्स चैट करने लगी। धीरे धीरे हम लोगो की दोस्ती बढ़ गयी। मैंने अपने लंड की फोटो खीच कर भेज दी। कुछ देर बाद आंटी ने अपनी चूची की फोटो भेजी। इस तरह से हम अपने अपने जिस्म की फोटो भेजने लगे। करीब 1 घंटे बाद माला आंटी गर्म हो गयी।
“आओ मेरे घर में। दरवाजा खोल दिया है” आंटी ने व्हाट्सअप पर लिखा
“क्यों आऊ?? पहले काम बताओ??” मैंने लिखा
“चूत लोगे मेरी??” आंटी ने लिखा
“सच में???” मैंने कहा
“हाँ !! आओ चोद लो। दरवाजा खुला है। कंडोम लेकर आना” आंटी ने लिखा

दोस्तों मैं तुरंत खड़ा हो गया। आज बरसों बाद मेरा सपना पूरा होने वाला था। मैंने जल्दी से अपनी शर्ट पेंट पहनी। पास के मेडिकल स्टोर के पास गया और एक पैकेट कंडोम का ले आया। इसमें 6 कंडोम थे। यानी मैं 6 बार मैं माला आंटी की ठुकाई कर सकता था। जल्दी से तेज कदमो से चलकर मैं आंटी के घर पहुच गया। दरवाजा खुला था। मैं अंदर चला गया। अंदर का नजारा देखकर मेरे होठ उड़ गये। ये कहानी आप इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।
माला आंटी मेरे सामने लाल रंग की सिल्क नाईटी में खड़ी थी। उनके बच्चे दुसरे कमरे में सो रहे थे। वो मुझे हाथ पकड़कर बेडरूम में ले गये। हम बैठकर बात करने लगे। धीरे धीरे आंटी ने खुद ही मेरा हाथ पकड़ लिया।
“राहुल बेटा!!! आज मेरी तड़पती चूत को चोदकर शांत कर दो। बेटा आज चोद दो मुझे” आंटी बोली
मेरे हाथ को उन्होंने पकड़ लिया और किस करने लगी। धीरे धीरे हम दोनों ने बैठे बैठे ही एक दूसरे को बाहों में भर लिया। मैंने अपनी जेब से कंडोम का पैकेट निकाल कर बेड की साइड में रख दिया। आंटी कंडोम देखकर मुस्कुराने लगी। धीरे धीरे आंटी मुझे बाहों में भरकर लेट गयी। वो मैक्सी में थी। लाल रंग की लिपस्टिक उन्होंने लगा रखी थी। आंटी के गाल बड़े गुलाबी गुलाबी थे। मेरा लंड अब खड़ा हो गया था। हम किस करने लगे। आंटी की सासों को मैंने पीना शुरू कर दिया। धीरे धीरे वो भी मुझे अपना मुंह चला चलाकर मेरे होठ चूसने लगी। धीरे धीरे हम दोनों पागल हो गये थे।
आंटी ने मुझे बाहों में भर रखा था। मैंने उसके गले, गाल, मुंह, ओठ, नाक, मत्था सब जगह चुम्मा ले रहा था। धीरे धीरे मैंने आंटी के 38” की बड़ी बड़ी चूचियां मैक्सी के उपर से दबानी शुरू कर दी। माला आंटी “..अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ….अअअअअ….आहा …हा हा हा” की गर्म गर्म सिसकारी निकालने लगी। आज मेरा सपना सच होने वाला था। कुछ देर बाद आंटी पूरी तरह से गरमा गयी। वो बैठ गयी और जल्दी से अपनी मैक्सी उतार दी। मैंने भी अपनी शर्ट और जींस निकाल दी। कच्छा उतारकर मै नंगा हो चुका था। फिर माला आंटी ने अपनी ब्रा के हुक्स खेल दिए। उन्होंने लाल रंग की मैक्सी के रंग से मैच होती पेंटी पहनी हुई थी। उतार दी। फिर किसी रांड की तरह लेट गयी।

दोस्तों मैं आपको बता नही सकता था की आंटी कितनी हॉट और सेक्सी माल थी। सिर से पांव तक मेरे सामने कोहिनूर हीरा चमक रहा था। आंटी अच्छे घर की संस्कारवान औरत थी। अब वो नंगी होकर लेट गयी। उनके गले में सोने के लोकेट वाला मंगल सूत्र था। मैं खुद को रोक ना सका। आंटी के उपर चढ़ गया। उनके गोरे जिस्म पर मैंने हाथ रख दिया। एक बार फिर से आंटी के होठ मैं चूसने लगा। वो भी चूसने लगी। मैं बार किसी आशिक की तरह आंटी के भरे हुए जिस्म को नीचे से उपर देख रहा था। आज मेरे सामने चाँद भी था और उसकी चांदनी भी आज मेरी थी। आज मैं इस चांदनी की खूबसूरती में नहा सकता था।
आंटी के 38” के स्तन बेहद सुंदर थे। 3 बच्चे हो जाने के कारण दूध हल्का सा लटके हुए थे। पर इससे कोई फर्क न पड़ता था। आंटी की बायीं चूची को मैं हाथ से मसलने लगा। बहुत नर्म थी मैं दबाने लगा। माला आंटी “……अई…अई….अई……अई….इसस्स्स्स्स्स्स्स्…….उहह्ह्ह्ह…..ओह्ह्ह्हह्ह….” करने लगी। कुछ देर मींजने के बाद मैं पीना शुरू कर दिया। मुझे मजा आ रहा था। मैं जल्दी जल्दी किसी बालक की तरह चूस रहा था। मैं वासना के वश में आ गया था। आंटी के दूध पर लाल लाल रंग के बड़े बड़े सेक्सी गोले थे जो अत्यधिक आकर्षक लग रहे थे। मैं जल्दी जल्दी चूसने लगा। माला आंटी मुझे प्यार करनी लगी। मेरी नंगी पीठ को बार बार सहला रही थी। ये कहानी आप इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।
“चूसो!! और चूसो राहुल बेटा!! मेरी जवानी सिर्फ तुम्हारे लिए है” आंटी बोली
मैं और जल्दी जल्दी चूसने लगा। आंटी कराह रही थी। सेक्सी और कामुक आवाजे निकाल रही थी। धीरे धीरे मैंने 15 मिनट तक उनकी बायीं चूची चूस ली। अब दाई वाली मुंह में भर ली। आंटी को चुदास चढ़ चुकी थी। अपनी आँखें उन्होंने बंद कर ली और जल्दी जल्दी अपने स्तन मुझे पिलाने लगी। मेरे पुट्ठो पर बार बार उनके हाथ नाच रहे थे। कुछ देर बाद मैं उसकी दाई चूची अच्छी तरह से चूस डाली। माला आंटी ने मेरा लंड पकड़ लिया और जल्दी जल्दी फेंटने लगी।
“ये क्या आंटी!! क्या लंड चूसने का मन है आपका???” मैंने पूछा
“हाँ बेटा!! मैं जिस मर्द से चुदवाती हूँ उसका लौड़ा जरुर चूसती हूँ” आंटी बोली
मैंने उसके पास ही लेट गया। आंटी मेरे उपर झुकी हुई थी। मेरे सीने को कुछ देर वो किस करती रही। अंत में मेरे लंड को हाथ में लेकर जल्दी जल्दी फेटने लगी। मैं अ अ अ अ .अहह्ह्ह्हह उहह्ह्ह्हह….. उ उ उ—की सेक्सी आवाज निकाल रहा था। माला आंटी को लंड फेटने के मामले में जगलर निकली। धीरे धीरे वो मेरी कमर पर झुक गयी और जल्दी जल्दी लंड को मुंह में लेकर निगल गयी। अब वो चूस रही थी। अपना सिर जल्दी जल्दी नीचे उपर दौड़ा रही थी। मुझको अत्यधिक आनंद की प्राप्ति हो रही थी। आंटी की किसी कुवारी लड़की की तरह मेरा चूस रही थी। उनके हाथ बिजली की रफ्तार से मेरे हथियार पर दौड़ रहे थे। मेरा लंड लकड़ी की तरह सख्त हो चूका था।
मुझको बड़ा सेक्सी महसूस हो रहा था। माला आंटी से 20 मिनट तक मेरे लंड को अच्छी तरह से चूसा। अब वो लेट गयी।
“आओ बेटा! अब देर करना सही नही” आंटी बोली

loading...
लड़कियों का whatsapp नंबर यहाँ डाउनलोड करें Free

मैंने जल्दी से कंडोम के पैकेट को खोला और एक कंडोम निकालकर लंड पर चढ़ा लिया। उनकी गुलाबी चूत में लंड डाल दिया। जल्दी जल्दी मैं पेलने लगा। आंटी “अई…..अई….अई… अहह्ह्ह्हह…..सी सी सी सी….हा हा हा…” की कामुक आवाजे निकाल रही थी। वो अपने मोटे मोटे टांग उठाकर चुदवा रही थी। मेरा लंड उसकी चूत की अच्छी तरह से मालिश कर रहा था। आंटी की हालत नाजुक थी। सेक्सी आवाजे वो निकाल रही थी। कुछ देर बाद मेरे लंड की जैसे उनकी चूत से शादी हो गयी थी। अब मेरा लंड बड़ी आराम से आंटी की चूत की गली में फिसल रहा था। आआह्हह्हह!! बड़ा नशीला अहसास था वो। आप लोगो को कैसे बताऊं।
मेरी रफ्तार बढती चली गयी। कुछ देर बाद तो मैं खुद अपने वश में नही था। मेरा 6” लंड जल्दी जल्दी किसी घोड़े की तरह माला आंटी की चूत की गली में दौड़ रहा था। दोस्तों 1 घंटे पलंगतोड़ चुदाई के बाद मैं झड गया। कहानी आपको कैसे लगी,,  ये कहानी आप इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। DMCA.com Protection Status

कहानी शेयर करें :
loading...