चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

मौसेरी बहन की चूत में लंड डालकर आनंद लिया

loading...

New Sex Stories हेलो होस्तो, मेरा नाम विरल हे. में गुजरात में राजकोट की घटना बताने जा रहा हु. जो मेरे साथ घटी थी. ये स्टोरी मेरी मौसी की बेटी चार्मी की है. अगर कोई भी उसको एक बार देख ले, तो उसका मन उसको चोदने को अवश्य करेंगा.

उसका रंग बहोत गोरा है. उसकी ऐज १८ साल है. और चुचियो का साइज़ शायद ३४ है. उसकी चुचिया मस्त गोल और उभरी हुई है. ऐसे लगता है की सुट में से बहार आ जाएगी. उसकी कमर तो इतनी सेक्सी हे की क्या बोलू. मेरी बहन ज्यादातर सलवार सुट और जीन्स टॉप दोनो ही पहनती है.

कहानी उस टाइम की हे जब में मेरी मौसी के वहा मेरी छुटियो में गया था. मेरी मौसी और पूरा परिवार गाव में रहता है. मौसी की बेटी शहर में हॉस्टल में रह कर स्टडी कर रही थी. पहले मेरे मन में चार्मी के बारे में कभी ऐसे ख्याल नहीं आया, पर एक दिन हुआ यु की मेरी बहन कपडे धो रही थी.

loading...

उसने बोला की – भाई, मेरे रूम में से कपडे लाकर दे दो.

loading...

मेने कहा – चल में भी साथ में कपडे धो देता हु.

उसने कहा – ठीक है.

में जब चार्मी के कपडे लेने गया, तो उसके सब कपडे के नीचे उसकी ब्रा और पेंटी थी, मेरा तो उनको देखकर ही खड़ा हो गया.

में चार्मी के कपडे उसको बाथरूम में देने चला गया, जब में कपडे धो रहा था, तो मुझे उसको देख कर अजीब सा लग रहा था.

उस वकत चार्मी ने ब्लैक रंग का टॉप पहन रखा था. और ब्रा भी नही पहनी थी, उसका कुर्ता पानी से भीगा हुआ था. और चुचे साफ दिख रहे थे.

उसदिन चार्मी बहुत थक चुकी थी. उसने अपनी थकान के बारे में मुझे बताया की उसके पेरो में बहुत दर्द है.

तो मेने पूछा – में कोई हेल्प कर सकता हु?

उसने मुझे बोला की प्लीज मेरी हेल्प कर दो…. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

मेने कहा – क्या करू?

उसने कहा – मेरे पेरो में मालिश कर दो.

में तैयार हो गया. उसके नंगे बदन को देखने का यह तो बहुत ही बढ़िया मौका था.

हम दोनों कमरे में गये. में बैठकर उसकी मालिश करने लगा. में जब उसकी मालिश कर रहा था, तो हिलने के कारन उसकी चुचिया बहार निकल ने को मचलती…

मेरा मन कर रहा थी की उसको अभी चोद लू.

में बोला – और मालिश करू?

चार्मी ने कुछ नही कहा, मुझे लगा की उसको मालिश करना अच्छा लग रहा है.

मेने उसकी मालिश करते करते ऊपर तक हाथो को ले जाना चाहा, लेकिन मुझे कुछ डर लग रहा था.

अब ये रोज का काम हो गया, वो मुझसे रोज मालिश करवाने लगी. और में उसकी मालिश करने के बहाने उसके जिस्म को टच करने का सोचने लगा.

अब में मालिश करता तो उसकी चुचिया साफ साफ मेरी नजरो के सामने होती. उसका रंग साफ होने के कारन उसके चुचे पिंक रंग के थे, जो उसके पतले कुर्ते से साफ टाइट होकर दिखने लगते थे, मेरा दिल करता था की अभी उसे चूस लू.

ये सब देखकर तो मेरा लंड खड़ा हो गया. और मेने अंडरवेर नही पहना था. इसलिए चार्मी की नजर मेरे लंड पर पड़ गई, वो उसे देखकर धीरे से हस पड़ी. और बोली अगर तुम थक गये हो तो जा सकते हो.

पर मेरा मन जाने को नही कर रहा था. मेने बोला- नही में यही रहूँगा.

तभी मुझे पता नही क्या हुआ और मेने चार्मी को बोला चार्मी तुम्हे पता हे की तुम बहुत ब्यूटीफुल और सेक्सी हो.

में बहुत डर भी रहा था. पर चार्मी ने बोला- एक लड़की को ब्यूटीफुल और सेक्सी होना बहोत जरुरी है.

ये कह कर वो हस पड़ी.

फिर मुझे लगा की वो मुझसे खेल खेल रही है.

मेने भी बोल दिया – तुम्हारी हर चीज बहुत सेक्सी है.

चार्मी ने मेरी तरफ घुर कर देखा, में डर गया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

वो फिर से हस पड़ी. और बोली क्या ख़ास बात हे मुजमे?

मुझे लगा की उसके मन में भी वासना हे, मेने हिम्मत कर के कुछ करने की सोची.

अब वो बाते करते करते सोने का नाटक करने लगी, तभी में अपने हाथ उसकी पीठ पर ले गया, उसने कुछ नही कहा, वो चुपचाप मजे ले रही थी.

फिर मेने उसकी चुचियो पर हाथ रख दिया.

वो एकदम से जाग गई और हस पड़ी, उसने कहा नही के ये ठीक नही हे, उसने मुझे सोने को कहा.

मेने कहा- तुम मुजसे ऐसी बात क्यों कर रही हो?

तो बोलो- तू मुझसे बात कुछ भी कर ले, पर और कुछ नही.

अब मामला साफ हो गया था.

मेने कहा- प्लीज एक बार कर लो.

उसने कहा- तुम मेरे जिस्म को बिना कपड़ो के भी देख सकते हो, पर वो सब नही.

में चुप रहा, तो उसने अपने कपडे उतर दिए, बिना कपड़ो में वो बहोत सेक्सी लग रही थी.

में अपने आप को नही रोक पाया, और में उस पर चढ़ गया. और लंड को जांघ के बीच में सेट कर के उसे देखता रहा.

उसने थोडा विरोध तो किया पर मेने उसे नही छोड़ा, थोडा विरोध के बाद वो भी मेरा साथ देने लगी.

फिर मेने उसके कोमल होठो पर अपने होठ रख दिए. और उसके होठो का रसपान करने लगा,अब वो भी गरम होने लगी थी और मेरा साथ देने लगी थी.

वो तो पहले से नंगी ही थी. फिर मेने भी मेरे सारे कपडे  उतारे. और उसे बेड पर टपक दिया. अब वो भी कुछ कामुक आवाज निकाल रही थी. पुरे कमरे में उसकी अह्ह्ह्ह हहहहहाहा आआ आआअ हहह हह्हाह आवाज गूंज ने लगी. अब वो बुरी तराह से गरम हो चुकी थी.

फिर मेने देर न करते हुए मेरा ७” बड़ा ३” मोटा लंड उसकी चूत पर रखकर रगड़ने लगा. फिर मेने एक जोर से धका मारा और मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. और वो चीख पड़ी ओय माआआआ आआआअ आआआ हाहाहा मार दिया रे आआआआअ हहहहाहहाहा आआअ उफफफफ़ में कही की आआह्हहा हाहाहा मुझे कही की नही छोड़ी, फिर मेने एक और जटका मारा और मेरा आधा लंड उसकी सील तोड़ते हुए उसकी चूत में चला गया.

मेने देखा की उसको बहोत दर्द हो रहा था, फिर में उसके ऊपर ही लेटा उसे चूमने लगा. और उसके चुचे दबाने लगा, कुछ देर बाद वो नोर्मल हो गई. फिर मेने एक और  जटके के साथ मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुसेड दिया, वो फिर से चिलाने लगी. पर मेने देर ना करते हुए उसके होठ को मेरे होठो से बंद कर दिये.

फिर कुछ देर बाद वो नोर्मल हो गई, और कमर उचक-उचक कर मेरा साथ देने लगी. और उसकी चीखे आहो में बदल गई. आआआआ हहहह्हाहा आआआअ धीरे धीरे कर हरामी.

वो मुझे गली दे रही थी.  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

काफी देर तक मेने अपनी बहन को चोदा, में रुक कर उसको चूमने लगा, और कुछ देर बाद जब वो शांत हुई खेल हो चूका था.

फिर हमें जब भी मोका मिलता हम सेक्स करते.

कहानी शेयर करें :
loading...