चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

मौसी के लकड़े ने मेरी चूत का ताला तोड़ा

loading...

Hindi Sex मैं नाम सोनपरी है। मैं 21 साल की जवान और खूबसूरत लड़की हूँ। stories मेरे परिवार के सब लोग मुझे प्यार से सोना कहकर पुकारते है। मैं एक मस्त और सेक्सी लकड़ी हूँ। मैं 21 साल की हो चुकी हूँ। कई बार चुदा चुकी हूँ। मुझे सेक्स करना बहुत अच्छा लगता है। जब मोटे मोटे लंड मेरी चूत में जाकर कसके मेरी चूत की चुदाई करते है तो मुझे बड़ा आनंद मिलता है। दोस्तों मैं बहुत ही सेक्सी लड़की हूँ। मेरा रंग काफी गोरा है और आलिया की तरह खूबसूरत हूँ मैं। मेरे होठ बड़े सेक्सी और गुलाबी है। मैं अपने रसीले होठो से लकड़ो के मोटे लंड को चूसना पसंद करती हूँ। मुझे चुसना बहुत जादा पसंद है। मुझे लड़को को अपनी चूत पिलाने में बेहद बजा मिलता है। कई लकड़े मेरी चूत में ऊँगली कर करके मेरी चूत चाट लेते है उस समय मुझे बड़ा सेक्सी लगता है और चूत में खलबली मच जाती है। मेरी मौसी के लकड़े ने पहली बार मेरी चूत का ताला तोड़ा था। आज मैं पूरी स्टोरी सूना रही हूँ।

loading...

उस दिन मेरी मौसी का लड़का राजीव मेरे घर आया था। मैं पहली मंजिल वाले कमरे में बैठकर पढ़ रही थी। राजीव चुपके ने मेरे रूम में आ गया और उसने मेरी मुझे कमर से पकड़ लिया और मेरी आँख बंद कर दी। हर बार वो इसी तरह से मुझे सरप्राइज देता था।
“कौन??” राजीव बोला
दोस्तों कहने को राजीव मेरी मौसी का लड़का था। पर मेरा उससे चक्कर चल रहा था। मैं उससे प्यार करती थी।
“जान तुम आ गये!!” मैंने कहा और कुर्सी से खड़ी हो गयी। मैंने उसके हाथो को अपनी आँखों से हटाया
“हाँ सोना, मैंने आ गया” राजीव बोला
उसके बाद मैंने उसे गले लगा लिया। मैंने पीले रंग का सलवार कमीज पहना हुआ था। मेरे दूध पर दुपट्टा नही था। राजीव मुझे खड़े होकर ही किस करने लगा। मेरी कसी कसी छातियाँ उसके सीने से टकरा रही थी। धीरे धीरे मैं भी उसे किस करने लगी। राजीव ने मुझे सीने से लगा लिया। हम दोनों बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड की तरह चिपक गये। राजीव अब मेरे गले और कान पर किस कर रहा था।
“सोना क्या प्रोग्राम है। चूत दोगी??” राजीव बोला
“हाँ दूंगी पर कितने दिन ने मैंने तुम्हारा लंड नही चूसा है। पहले मुझे चूसा दो” मैंने कहा
मेरे मौसी के लड़के राजीव ने अपनी पेंट की बेल्ट खोल दी और अपने अंडरवियर से मोटा 8” का लंड निकाल बाहर निकाल लिया और मेरे हाथ में दे दिया। दोस्तों राजीव का लंड बहुत मोटा और 8” लम्बा था। राजीव बहुत गोरा था इस वजह से उसका लंड भी काफी गोरा था। मेरे चेहरे के जितना लम्बा लौड़ा था उसका। मैं जमीन पर बैठ गयी। अपनी मौसी के लकड़े का लंड मैंने हाथ से फेटने लगी। मैं राजीव के साथ मस्ती करने लगी। धीरे धीरे उसके लंड को फेटने लगी। राजीव ने अपनी पेंट पूरी तरह से नीचे गिरा दी और अंडरवियर भी उतार दिया। अब मैं खुलकर उसका लंड फेटने लगी। वो उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ….” कर रहा था। ये कहानी आप इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।
“भाई!! कितना बड़ा लंड है तुम्हारा!! मैंने आजतक कई लड़कों से चुदाया है पर तुम्हारा तो सबसे बड़ा है” मैंने हैरान होकर कहा
“सोना!! रोज मैं कसरत करता हूँ, जिम जाता हूँ। तरह तरह के फल और हरी सब्जियां खाता हूँ तब जाकर मेरा लंड इतना मोटा है। किसी तरह का हानिकारक नशा जैसे सिगरेट, शराब नही पीता हूँ। इसलिए मेरा लंड इतना मोटा है” राजीव बोला
धीरे धीरे मैंने लंड मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया। मुझे मजा आने लगा। कुछ देर में राजीव का लंड मोटा और जादा मोटा होने लगा। मैं जल्दी जल्दी फेट फेटकर चूस रही थी। धीरे धीरे मुझे आदत हो गयी।
“ओह्ह बहन!! यू आर वेरी सेक्सी!! चूस डालो इस लंड को आज” राजीव बोला
मैं आज उससे कसके चुदना चाहती थी। मैं जल्दी जल्दी राजीव का लंड चूस रही थी। वो मस्त हो रहा था। मेरे सर पर उसने अपना हाथ रखा हुआ था। राजीव अब मेरे साथ सेक्स करना चाहता था। जब 15 मिनट तक मैं जल्दी जल्दी उसका लंड चूसती रही तो लंड बिलकुल लोहे की तरह सख्त हो गया। उसकी एक एक नस तन गयी। मैं उसके टोपे को और मस्ती से चूस रही थी। धीरे धीरे मैं लंड को पूरा 10” अंदर मुंह में लेकर चूसने लगी। 2 मिनट बाद राजीव खुद को रोक ना सका और मेरे मुंह में ही उसने माल छोड़ दिया। मैं उसका सारा माल पी गयी।
“सोना!! चलो बिस्तर में चले!!” राजीव बोला
मैं उसे लेकर बिस्तर पर लेट गयी। राजीव मेरे उपर लेट गया और होठो पर किस करने लगा। हम बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड की तरह किस कर रहे थे। राजीव ने मन भरकर मेरे सेक्सी होठ चूस डाले। मेरी कमीज के उपर से वो मेरे 36” के दूध दबाने लगा। बार बार मसल रहा था। मेरी चूचियां बेहद हॉट और सेक्सी थी। मेरी मौसी का लड़का बार बार दबा रहा था।

मैंने फिर अपनी कमीज उतार दी और ब्रा भी खोल दी। राजीव ने मुझे गले लगा लिया और किस करने लगा। मेरे जिस्म को वो बार बार सहला रहा था।
राजीव अब मेरे दूध हाथ से पकड़कर दबा रहा था। मैं “ओहह्ह्ह…ओह्ह्ह्ह…अह्हह्हह…अई..अई. .अई… उ उ उ उ उ…” की कामुक आवाजे निकाल रही थी। किसी भी जवान लड़की के मम्मे अगर कोई जवान लड़का दबाता है तो उसे मजा जरुर जाता है। ठीक यही हो रहा था मेरे साथ। राजीव भी अब मेरी तरह नंगा हो गया था। मेरी कसी कसी मुसम्मी को वो हाथ से सहला सहलाकर दबा रहा था। उसको भी उतना मजा मिल रहा था जितना मुझे मिल रहा था। फिर राजीव मेरे निपल्स मुंह में लेकर चूसने लगा। मैं पागल हो रही थी। हर चुदासी और जवान लड़की को अपने निपल्स चुसाना बहुत अच्छा लगता है। मेरी मौसी का लड़का राजीव जल्दी जल्दी मेरे निपल्स को चूस रहा था। लग रहा था की आज वो सब रस पी जाएगा। मैं तो बस तडप रही थी। राजीव के गले में मैंने हाथ डाल दिया था। वो ऐसी मेरे स्तन चूस रहा था जैसे मैं उसकी बीवी हूँ।
“राजीव!! क्या सब रस चूस लेगा। मेरे पति के लिए भी कुछ रस छोड़ दे” मैंने कहा
राजीव ने नही सूना। बस जल्दी जल्दी चूसता रहा। मेरी सलवार का नारा उसने खोल दिया। सलवार उतार दी, फिर मेरी चड्डी भी उतार दी। राजीव अब मेरे पैर को किस कर रहा था। वो बार बार मेरी रसीली चूत की तरफ देख रहा था। मेरी बुर के दर्शन कर रहा था। ये कहानी आप इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।
“सोना!! तेरी चूत को माशाअल्लाह है। कैसी इतनी खूबसूरत है??” राजीव ने पूछा
“रोज इसे साबुन से चमकाती हूँ। रोज अपनी झांटे बनाती हूँ। तरह तरह की क्रीम लगाती हूँ तब जाकर मेरी चुद्दी इतनी कोमल, मुलायम और चिकनी है” मैंने कहा
राजीव मेरी चूत पर प्यार भरे अंदाज में ऊँगली घुमाने लगा। मेरी चूत बड़ी गुलाबी गुलाबी थी। राजीव मेरे चूत के दाने को छूने लगा तो मैं सिसक गयी। राजीव अब लेट गया और जीभ लगाकर मेरी चूत पीने लगा। मैं “आआआअह्हह्हह…..ईईईईईईई….ओह्ह्ह्….अई. .अई..अई…..अई..मम्मी….” करने लगी। राजीव चूत पीने में बहुत एक्सपर्ट था। वो जब जब मुझे चोदता था पहले चूत पीकर गर्म कर देता था। मेरी चूत फूली फूली और बहुत गद्देदार थी। सुंदर दिखती थी। राजीव जल्दी जल्दी मुंह लगाकर चूस रहा था। मैं पागल हो रही थी। वो किसी कुत्ते की तरह मेरी चूत चाट रहा था। धीरे धीरे मैं गर्म हो रही थी। राजीव मेरे पेट को बार बार सहला रहा था। उसने 12 मिनट तक मेरी चूत को चाट चाटकर गर्म कर दिया। अब मैं चुदना चाहती थी।

“आओ जान!! अब चोदो आकर मुझे!!” मैंने कहा
राजीव ने मेरे एक पैर को उठाकर दूसरे पर रख दिया। मेरे पैर अब क्रोस थे। राजीव ने चूत में लंड डाल दिया और मुझे चोदने लगा। शुरू शुरू में राजीव का लंड 5” अंदर घुसा। धीरे धीरे राजीव ने और धक्के मारे। अब उसका लंड 8” अंदर मेरी चूत में घुस गया था। मैं “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..”की कामुक आवाजे निकाल रही थी। मेरा शरीर अब गर्म हो रहा था। मैं गर्म गर्म सिसकियाँ भर रही थी। आज मेरी मौसी के लकड़े से मेरी चूत की बंद सील तोड़ दी थी। मेरी चूत से लाल खून बह रहा था। राजीव नेधक्के दे देकर मुझे चोद रहा था। मैं कराह रही थी। दर्द भी बहुत हो रहा था। राजीव करता ही जा रहा था। मेरा बदन ऐठ रहा था। धीरे धीरे राजीव के धक्के बढ़ने लगे। अब वो मुझे तेज तेज कमर उठाकर चोद रहा था। घोड़े की तरह किसी मेरी चूत की सवारी कर रहा था।
मैं बार बार “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ—ऊँ…ऊँ….” की आवाजे निकाल रही थी। मैं अपने बदन को ढीला छोड़ दिया था। मेरी मौसी का लड़का मुझे दबाके चोद रहा था। मैंने खुद को आज उसके हवाले कर रहा था। राजीव तो जैसे मेरी चूत में पैडल मार मारकर साइकिल चला रहा था। दोस्तों धीरे धीरे मेरी चूत रवा हो गयी और छेद पूरी तरह से खुल गया। मेरी मौसी का लड़का राजीव कुछ देर के लिए रुक गया और मेरे रसीले होठ चूसने लगा। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। आज उसने मुझे अपनी औरत बनाकर चोदा था। जैसे मैं उसकी बीवी हूँ।

“राजीव!! आई लव यू!!” मैंने कहा
“सोना! मैं भी तुमसे प्यार करता हूँ” राजीव बोला
वो मेरे उपर लेट गया और दूध को सहलाने लगा। मेरे होठ वो फिर से चूसने लगा। कुछ देर बाद राजीव फिर से चार्ज हो गया और मुझे जल्दी जल्दी ठोंकने लगा। मेरी सेक्सी चूत में उसका लंड जल्दी जल्दी अंदर बाहर हो रहा था। मेरी चूत का लाल खून अब भी राजीव के लंड पर लगा हुआ था। धीरे धीरे उसने 200 की रफ्तार पकड़ ली और इतनी जल्दी जल्दी मुझे ठोंकने लगा की हमारा बेड की चूं चूं करने लगा। डर था की कहीं बेड टूट जा जाए। तेज धक्को के बीच राजीव ने अंत में अपना माल मेरी चूत की गुफा में छोड़ दिया। राजीव मेरे उपर गिर गया। वो पसीने से भीग चुका था। मुझे चोदने में उसे बड़ी मेहनत लगी थी। आधे घंटे तक राजीव मेरे साथ सोता रहा।
“सोना!! अब अपनी गांड दो पीछे से” राजीव बोला
उसका इशारा मैं समझ गयी। मैं तुरंत बिस्तर पर कुतिया बन गयी। राजीव मेरी कुवारी गांड को किस करने लगा। आज ये मेरा पहला चांस था। राजीव ने चाट चाटकर मेरी गांड को साफ़ कर दिया। धीरे धीरे उसने पूरा 8” का लंड तेल लगाकर अंदर गांड में डाल दिया और 20 मिनट मेरी गांड चोदी। इस बार गांड में उसने माल गिरा दिया।DMCA.com Protection Status

कहानी शेयर करें :
loading...