चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

मौसी की लड़की ने लंड पकड़कर चोदना सिखाया

loading...

New Sex Stories मेरा नाम बंटी है मैं बिहार का रहने वाला 29 साल का मर्द हूँ मेरी कहानी 10 साल पुरानी है।
मैं एक बहुत गरीब परिवार से था मेरे घर में मम्मी पापा और दादा है हम लोग बड़ी मुश्किल से अपनी जरूरतें पूरा करते थे। जब मैं 19 साल का हुआ मुझे कॉलेज की पढाई करनी थी और पैसो की समस्या चल रही थी, मौसी हमको अपने घर बुला ली और उसने मेरे पढाई का पूरा खर्च उठा लेने का वादा मेरी मम्मी पापा से किया, मेरी मौसी के पति सरकारी टीचर है इसलिए उनको कभी पैसो की कमी नहीं हुई।

loading...

मौसी की एक लड़की है जिनकी शादी होने के बाद उसके पति को छोड़ कर वो वापस अपने मायका आ गयी थी, कुछ महीने पहले उन्होंने तलाक लिया था। मेरी मौसी की लड़की का नाम मीना है खूससूरत और भारी सरीर की मालकिन है, मीना उस समय 23 साल की थी और हमेशा सलवार कमीज पहनती थी। मोहल्ले के लड़के उस पर लाइन मारते फिरते थे।

हमारा घर छोटा होने की वजह से ज्यादा कमरे नहीं थे इसलिए मम्मी पापा की चुदाई देखने का मौका मुझे बहुत बार मिला था, मैं अपने लंड को दोनों हाथों से मसल कर झड़ जाता था लेकिन कभी किसी लड़की से सेक्स नहीं किया था। कभी सेक्स मूवी भी दखने का मौका नहीं मिला था उस समय मोबाइल फ़ोन नहीं था इसलिए सेक्सी मूवी देखना हमारे नसीब हुआ नहीं।

मौसा 9 बजे स्कूल के लिए घर के निकल जाते थे घर पर मीना दीदी और मौसी रहती थी, मैं 10 बजे की बस से कॉलेज चला जाता था उस दिन कॉलेज जाने से पहले मैं नाहा रहा था, मुझे नहाते समय लंड पर साबुन लगा कर लंड से खेलने की आदत पड़ गयी थी। मौसी के घर में बाथरूम का दरवाजा लोहे का है जिसमे जंक लगने से छेद हो गए है, मुझे ऐसा लगा कोई मुझे देख रहा है और अभी सामने से निकल गया। मेरी समझ में कुछ नहीं आया मैं सोचा मौसी सामने से निकली होगी। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
एक दिन मेरी तबियत ठीक नहीं थी मैं घर पर रुक गया, मौसी पड़ोस में पूजा के लिए गयी हुई थी, मैं सो रहा था तभी मीना चिल्ला कर मुझे बुलाई मैं भाग कर मीना के पास गया।

मीना चिल्ला कर बोली बंटी यहाँ एक बड़ा चूहा था, किसी छेद में घुस गया है। मैं देखने लगा लेकिन मुझे छेद और चूहा दिखाई नहीं दिए। मीना पीछे से बोली बंटी ये रही छेद चूहा यही घुसा है, मैं छेद देखने पलटा और दंग रह गया। मीना अपनी सलवार उतार कर चड्डी निचे सरका दोनों टाँगे फैलाये चूत की छेद दिखा रही थी। मैं कांपती आवाज में बोला मीना दीदी चूहा कहा है ? मीना मेरे लंड की और इशारा करती हुई बोली वो है ना चूहा कल तू बड़े मजे से इसी चूहे को नहला और खेल रहा था इसके साथ.. मैं कापने लगा क्यों की मैंने पहली बार किसी लड़की की चूत देखि थी और मेरे लिए इस तरह से होना बिल्कुल नया था।

मीना अपनी सलवार और चड्डी को पैर से बाहर निकल कर मेरे पास आयी और मेरी लुंगी को उतारने लगी, मैं सिर्फ बनियान और चड्डी में था और मेरा लंड खड़ा हो कर चड्डी फाड़ने वाला था।
मीना मेरे सामने घुटनो पर बैठ कर मेरी चड्डी उतार मेरा लंड हाथ से हिलाने लगी मेरे लंड से चिपचिपा पानी निकलने लगा मीना मेरा लंड पकड़ कर आगे पीछे कर रही थी थोड़ी देर बाद मुँह में लेकर चूसने और दाँतों से काटने लगी। मुझे मजा आने लगा मैं उसके मुँह में झाड़ गया, मीना पूरा वीर्य गटक गयी और मुझे अपने कमरे में आने को बोल कर चली गयी, मैं मीना के कमरे में गया वहाँ मीना पुरे कपडे उतार का नंगी लेटी हुई थी।

मेरा 6 इंच का लंड पूरी तरह ठंडा पड़ गया था और लटक रहा था, मीना मुझे चुत चाटने को बोली मैं मीना की छोटे छोटे बालों से ढकी चूत चाटने लगा मीना गोरी है और उसकी चूत काली, मैं चूत चाट रहा था और मीना अपने चूतर उछाल उछाल कर मस्ती कर रही थी। मीना की चुत का पानी नमकीन और चूत की खुसबू बड़ी नशीली थी ऐसा सुगंध मुझे पहली बार सूंघने को मिला था मेरा लंड खड़ा हो गया मैं मीना की गांड चाटने लगा और पूरी गांड को जीभ से चाट डाला।

मीना अपनी चूचिया खुद से मसल रही थी मीना की उम्र ज्यादा नहीं थी लेकिन उसकी चूचिया किसी औरत की तरह बड़े बड़े थे, मैं मीना की चूचिया अपने हाथ में लेकर दबाने और पीने लगा।
मीना मुझे बोली साला चूतिया अब चोदेगा या ऐसे ही बकलोली करेगा ? अम्मा आ जाएगी जल्दी कर। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
मैं मीना से बोला दीदी मैं आज तक कभी चुदाई नहीं किया हूँ जितना समझ आया आप के साथ कर रहा हूँ। मीना ने कहा ठीक है बंटी मैं तुझे सीखा दूंगी आ लेट यहाँ पर , मैं लेट गया मीना मेरे लंड के ऊपर थूक कर उसको थूक से गीला कर दी और लंड के ऊपर बैठ कर चूत में घुसाने लगी मेरा लंड मोटा और लम्बा है मीना की चूत में धीरे धीरे अंदर जा रहा था। मीना मोटी है जिसकी वजह से ज्यादा वजन मेरे लंड पर पड़ रहा था लंड चूत के अंदर पूरा चला गया बहुत कसा हुआ था छूट के भीतर।

मीना धीरे धीरे उछल रही थी और थप थप थप की आवाज आने लगी मैं नीचे से मीना की गांड पकड़ कर ऊपर नीचे कर रहा था और मीना उछल उछल कर चुदने लगी मीना की चूचियाँ आड़े तिरछे हो कर हवा में उछल रहे थे मीना मेरे कंधे पर हाथ रख कर जोर जोर से उछलने लगी और आ ह अह्ह्ह अहह अह्ह्ह अह्ह्ह अहह उम्म्म्म उउउउइइ करके मेरे ऊपर शांत हो कर लेट गयी मैं मीना की वजन से दबा हुआ था। मीना को पलटाकर मीना के ऊपर हो गया और मीना की मोटी टांगे फैला कर मीना की चूत में फंसे लंड को आगे पीछे कर के चोदने लगा चुदाई करते करते मेरा लंड वीर्य छोड़ दिया मैं मीना के चूत अंदर ही झड़ चूका था.. मीना मुझे माधारचोद कुत्ता हरामी गली देने लगी और कही साले गांडू अंदर पानी काहे निकाल दिए ? मैं माफ़ी मांगते हुए बोला पहली बार किया हू इसलिए कुछ समझ नहीं पाया। मीना बोली ठीक है मैं गोली खा लुंगी। मीना अपनी चूत को मेरे लुंगी से पोंछ कर साफ़ की और मेरा लंड चूस कर वही जमीं पर थूक दी मैं चड्डी बनियान पहन कर सो गया। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम  मीना मेरे पास आयी और बोली तुमको पता है मैं पडोसी टिल्लू से चुदवाती हूँ,, तू आज घर पर ही रुक गया और टिल्लू आ नहीं सका इसलिए तेर मोटे लंड का स्वाद लेना पड़ा मुझे और अब हमको दर दिन चोदेगा समझा ? मैं खुस हो गया ऐसे हर दिन चुदाई से।
DMCA.com Protection Status

कहानी शेयर करें :
loading...