चेतावनी : इस वेब साइट पर सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है। कहानियां सिर्फ आप के मनोरंजन के लिए है, कहानियां काल्पनिक हो सकती है। कहानियां पढ़ कर इसे वास्तविक जीवन में आजमाने की कोशिस ना करें। सेक्स हमेशा आपसी सहमति से करें।

मैंने छुप कर देखा मम्मी की चूत में अंकल अपना लन्ड डाल रहे थे

loading...

मैं हूं नयन आज मैं आपको अपनी असली कहानी सुनाने जा रहा हूं. यह स्टोरी बिल्कुल रियल है, आशा करता हूं कि आपको पसंद आएगी. मेरी मम्मी का नाम अनीता सिंह है. दिखने में मम्मी बहुत क्यूट है और बिल्कुल दूध जैसी गोरी, गुलाबी होंठ. होंठों के बिलकुल नीचे एक काला तिल जो मम्मी की सुंदरता को और बढ़ाता है, कमर तक घने बाल, गोरा पेट उस पर गहरी नाभि जो किसी को भी पागल कर दे. मम्मी एक हाउसवाइफ है जो अपने परिवार का ख्याल रखती है. मम्मी का फिगर ३४-२८-३४ है. जिसकी बदौलत मम्मी जब भी बाहर जाती सब मम्मी को देखते रहते थे.

मेरे पापा का एक बिजनेस मैन है. जो आज तक अपने बिजनेस को इंपोर्टस देते आए हे, उन्होंने कभी घर की जिम्मेदारियों पर ध्यान नहीं दिया यहां तक वह मम्मी को भी इंपॉर्टेंस नहीं देते थे. एक दिन कुछ ऐसा हुआ कि सब कुछ बदल गया, मम्मी का बर्थ-डे था और पापा मीटिंग के लिए मुंबई गए हुए थे. मम्मी दिनभर पापा की एक विश के लिए इंतजार कर रही थी लेकिन आपका कोई कोल भी नहीं आया. जब मम्मी को रहा नहीं गया तब मम्मी ने खुद कॉल किया. उधर से पापा मम्मी को बोलने लगे कि तुम्हें कुछ अक्कल है या नहीं? यहां मैं मीटिंग में हूं क्यों डिस्टर्ब किया? ऐसा क्या काम था जो अब कॉल किया.

पापा के ऐसा बोलने पर मम्मी को बहुत हर्ट हुआ. मम्मी उस रात बहुत रोई. मम्मी के दिल में पापा के लिए इज्जत थी वह भी कम हो गई. इस वजह से उन दोनों में बहुत झगडे भी होने लगे थे. एक रात पापा ने मम्मी को थप्पड़ भी मारा. उसके अगले दिन पापा आउट ऑफ टाउन चले गए. दूसरे दिन मेरी बुआ और उनके पति हमारे घर आए. तब मम्मी काफी उदास थी. उन्होंने रात को खाना खाया और चले गए. जाते जाते बुआ के पति  सुरेश अंकल ने नोटिस किया कि मम्मी कोई प्रॉब्लम में है.

loading...

दूसरी दिन अंकल ने मम्मी को कॉल किया कि अनीता जी कैसी हैं आप? कल आप बहुत उदास लग रही थी, क्या हुआ? मुझे अच्छा नहीं लगा इसलिए आपको कॉल किया. इतना सुनते ही मम्मी रोने लगी और बोली कि कुछ नहीं भाई साहब बस ऐसे ही. अंकल ने मम्मी के रोने की आवाज सुनकर बोला कि रुकिए मैं आ रहा हूं अभी तब मम्मी बोली जी. जब अंकल घर पर आ गये तब मम्मी ने ब्लैक कलर की साड़ी और येलो कलर की ब्लाउज पहनी थी, जिसमें वह गजब की लग रही थी. अंकल जब आए तब मम्मी ने उनके लिए चाय बनाई लेकिन अंकल ने चाय टेबल पर रख दी और बोले.

loading...

अंकल – अनीता जी चाय छोडीये, पहले बताइए आप ने कुछ खाया या नहीं?

तब मम्मी कुछ नहीं बोली, तब अंकल उठे और बोले कि रुकीये अनीता जी मैं अभी आया.

अंकल ने होटल से खाना पैक करवाया और घर आ गए. खुद अंकल ने खाना सर्व किया और मम्मी को बोले कि पहले कुछ खा लीजिए. लेकिन मम्मी इनकार करने लगी. तब अंकल बोले कि अनीता जी आपको नयन की कसम, खा लीजिए. तब खुद अंकल ने एक निवाला उठाया और मम्मी को खिलाने लगे. तब मम्मी की आंख से आंसू आने लगे. अंकल फिर बोले प्लीज आप रोइए मत खाना खा लीजिए. तब अंकल ने मम्मी को खाना खिलाया खुद अपने हाथों से और मम्मी ने जो कुछ हुआ था सब कुछ अंकल को बता दिया. अंकल ने मम्मी को प्यार से समझाया और चले गए.

उस दिन से मम्मी के दिल में उनके लिए रिस्पेक्ट पैदा हुआ और अंकल के दिल में भी मेरी मोम के लिए एक सॉफ्ट कॉर्नर बन गया, अंकल रोजाना कॉल करके मम्मी को पूछने लगी कि आपने खाना खा लिया की नहीं? नयन कहां है? अपना ख्याल रखिए, इन सब बातों से मम्मी उनसे प्यार करने लगी.

एक दूसरे के साथ चैटिंग करने लगे.

एक दिन अंकल ने मम्मी को मैसेज किया.

अनीता जी, प्लीज नाराज मत होइए. पता नहीं ऐसा क्यों लग रहा है कि मुझे आपसे प्यार हो गया है. प्लीज मुझे गलत मत समझना, लेकिन मैं आपसे प्यार करता हूं. मैं जी नहीं सकता आपके बिना, आई लव यू अनीता जी. मम्मी ने भी रिप्लाई किया कि सुरेश जी मैं भी आपसे बहुत प्यार करती हूं जिस तरह से आपने मेरा ख्याल रखा. मेरी केयर की उतनी तो नयन के पापा ने भी नहीं की. लेकिन क्या करूं सुरेश जी अभी इस उम्र में यह सब किसी को पता चल गया तो हम दोनों की बदनामी होगी. मुझे माफ कीजिए.

आई लव यू टू सुरेश जी..

अगले ही दिन अंकल ने मम्मी के लिए एक पिंक कलर की साड़ी ली और घर आ गए. मैं बेडरूम में स्टडी कर रहा था अंकल सीधे किचन में चले गए मम्मी रोटीया बना रही थी. अंकल चुपके से गए और मम्मी को पीछे से हग कर लिया. अंकल के दोनों हाथ मम्मी के गोरे पेट पर थे, मम्मी डर गई और बोली.

मम्मी – आह्ह औऊ सुरेश जी यह क्या? नयन देख लेगा. प्लीज छोड़िए आप भी ना.

और मम्मी शर्मा के नीचे देखने लगी.

अंकल को मम्मी का शर्माना बहुत अच्छा लगा और बोले अनीता क्या मैं तुम्हें पसंद हूं? और गिफ्ट मम्मी के हाथ में दीया.

जब मम्मी ने कहा मेरा मैसेज नहीं पढ़ा क्या? आपने अगर आपका प्यार स्वीकार  नहीं करती तो यह गिफ्ट नहीं लेती आप से.

अंकल – थैंक्यू अनीता जी आज मुझे बहुत खुशी हुई. आई लव यू मेरी अनीता रानी.

और इतना कहते ही अंकल ने मम्मी हाथ पकड़ लिया और अपनी ओर खींच लिया, और मम्मी की कमर को पकड़ लिया.

तब मम्मी बोली – सुरेश जी, प्लीज़ अभी नहीं नयन घर पर है. आप जाइए अब.

लेकिन फिर भी अंकल ने मम्मी के गाल पर किस किया और बोले की जब नयन कोलेज जाएगा तब मुझे कॉल कर देना. और वह साड़ी पहन लेना, और वो चले गए.

मैंने वह सब सीन देख लिया था लेकिन मुझे और भी कुछ देखना था. मैं जल्दी से कॉलेज के लिए निकल पड़ा और थोड़ी देर में वापस घर के पीछे पर जाकर खड़ा हुआ मम्मी ने जल्दी से वह साडी पहन ली और अंकल को कॉल किया.

२० मिनट में अंकल घर पर आ गए.

आते ही अंकल ने मम्मी को अपनी बाहों में जकड़ लिया और मम्मी की गर्दन पर किस करने लगे. मम्मी जोर जोर से सिसकियां भरने लगी.

मम्मी – आह्ह्ह औऊ अहह इई हां ईई ओह्ह्ह सुरेश आई लव यू, आह्ह उऔउ बना लीजिए मुझे आज अपनी पत्नी आह्ह औऊ ओह्ह अहह अम्म्म मेरे राजा आह्ह ऐऊऊ.

अंकल – हां मेरी जान, आज से मैं तुम्हारा पति हूं. मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं.

अंकल की बात सुनते ही मम्मी शरमा गई.

अंकल ने मम्मी के होठों को अपने होठों से मिला लीया और चूसने लगे. मम्मी के हाथ अंकल की पीठ रगड रहे थे और अंकल मम्मी की कमर सहला रहे थे, बीच बीच में मम्मी के हीप्स जोर से दबा देते तो मम्मी सिहर उठती.

थोड़ी देर में अंकल ने मम्मी की साड़ी का पल्लू हटा दिया और मम्मी की क्लिवेज नजर आने लगी. जिसे देख अंकल पागल हो गए और बोले वह मेरी अनीता रानी, गजब की सेक्सी हो तुम. ऊपर वाले ने काफी फुर्सत से बनाया है.

मम्मी – आपकी भी ना कुछ भी, अब जल्दी कीजिए मेरे पतिदेव, कोई आ जाएगा.

अंकल ने फौरन मम्मी की ब्लाउज निकाल दी और ब्रा के ऊपर से की मम्मी के बूब्स दबाने लगे और क्लीवेज को किस करने लगे. मम्मी ने अपने हाथ से अंकल के पैंट की ज़िप खोल दी और अंदर हाथ डाल कर उनका लंड पकड़ लिया और मचलने लगी. अंकल बाद मम्मी की गोरी पीठ को सहलाने लगे. अंकल ने मम्मी की ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा निकाल कर फेंक दी. वो अब मम्मी के दोनों बूब्स दबाने लगे. मम्मी जोर जोर से सिसकियां भरने लगी. अंकल ने मम्मी का निपल अपने मुंह में लिया और चूसने लगी. मम्मी की आंखें बंद हो गई अंकल ईतने उतावले हो गए की मम्मी की निप्पल को काट लिया.

तब मम्मी बोली आह औऊ माआआ औउ ईई ओओऊ सुरेश जी प्लीज, काटिए मत दर्द होता है.

अंकल ने जल्दी ही मम्मी की साड़ी निकाल दी अब वो पैंटी में थी और काफी सेक्सी लग रही थी. अंकल नीचे बैठ गए और मम्मी की गोरी नाभि के अंदर जीभ डाल कर चूसने लगे. अंकल ने मम्मी का पूरा पेट चाट कर गिला कर लिया तब मम्मी को रहा नहीं गया.

मम्मी ने कहा – मेरे पतिदेव अब रहा नहीं जाता, प्लीज कुछ करो. मैं मर जाऊंगी… मत तड़पाओ अब मुझे.

अंकल नीचे की तरफ आए और मम्मी की पेंटी निकाल दी और मम्मी की चूत को अपने मुंह में भरी जो पहले से ही पूरी गीली थी. मम्मी को यह अनुभव बिल्कुल नया था. अंकल लगातार मम्मी की चूत के अंदर चीभ घुमा रहे थे. मम्मी को जैसे स्वर्ग सुख की अनुभूति हो रही थी.

मम्मी – आह्ह औऊ जान ओऊ ईई उसस यस्सस अब डाल भी दो अंदर प्लीज.

अब तो अंकल को अनकंट्रोल होने लगा था. उन्होंने जल्दी ही मम्मी को बेड पर लेटा दिया और अपना लंड मम्मी की चूत पर रगड़ने लगे. मम्मी भी प्यासी नजरों से देखने लगी. फिर अंकल ने जोर से झटका देकर आधा लंड मम्मी की चूत में डाल दिया.

मम्मी – ओह्ह अहह औऊ हहह अम्म्म ओह्ह्ह मेरे राजा, धीरे करो ना आह्ह इई ओह्ह हहह प्लीज.

अंकल – अनीता मेरी जान, आज मुझे तुमने जिंदगी की सबसे बड़ी खुशी दे दी हे.

और अंकल जोर जोर से कमर हिलाने लगे और जोर जोर से मम्मी को चोदने लगे.

मम्मी – सुरेश जी और जोर से कीजिए हह यस अय्य्य हस ययय यस्स यस्यस ईईस यस्य्स्य और जोर से चोदिए अपनी पत्नी को, बना दीजिए मुझे गर्भवती..

अंकल – हां मेरी जान, मुझे भी अपना बच्चा चाहिए तेरे पेट में.

१५ मिनट लगातार चोदने के बाद अंकल ने  बहुत सारा वीर्य मम्मी की चूत में डाल दिया. दोनों पसीने से भीगे हुए थे. मम्मी ने अंकल को कस के अपने सीने से लगा लिया और दोनों किस करने लगे. १० मिनट के बाद वह उठे अपने कपड़े पहन लिए. जाते जाते अंकल ने मम्मी को फिर से किस किया और वो चले गए. उस दिन से मम्मी बहुत खुश रहने लगी.

loading...